चाय के बिना हम अपनी सुबह की कल्पना भी नहीं कर सकते। दूध वाली चाय ज्यादातर घरों की पहली चाय होती है। पर इसके कुछ नुकसानों के कारण आज कल लोग इससे परहेज कर रहे हैं। पर आज हम आपको एक ऐसा उपाय बनाएंगे कि आपको अपनी सुबह की चाय छोड़नी भी नहीं होगी और आपकी ये चाय आपके शरीर के लिए भी हेल्दी होगी। जी हां, हम बात बिना चीनी की चाय (tea without sugar calories) की कर रहे हैं। बिना चीनी की चाय पीने से आप वजन बढ़ने, गैस और ब्लॉटिंग आदि की परेशानियों से भी बच सकते हैं। इसके अलावा बिना चीनी की चाय पीने के कई फायदे और भी हैं, जिनके बारे में आपको जानना चाहिए। तो, आइए जानते हैं बिना चीनी की चाय पीने के फायदे (Milk tea without sugar benefits) और फिर जानेंगे बिना चीनी की चाय कैसे बनाएं।

बिना चीनी की चाय पीने के फायदे

Milk tea without sugar benefits

1. गैस की समस्या से निजात

बिना चीनी की चाय पीने का सबसे बड़ा फायदा ये है कि जिन लोगों को चाय पीते ही गैस की समस्या होती है उनकी ये समस्या इससे दूर हो सकती है। दरअसल, दूध वाली चाय में जब आप चीनी मिलाते हैं, तो ये एसिड रिफ्लक्स (GERD) का कारण बन सकता है। पर जब आप बिना चीनी की चाय पीते हैं, तो ये आसानी से पच जाता है। हालांकि, बिना चीनी की चाय में अगर आप दूध थोड़ा सा ज्यादा डालें या शुद्ध शहद मिला लें तो ये पेट के लिए भी फायदेमंद होगा।

2. वजन नहीं बढ़ता

चीनी वाली चाय को लेकर ज्यादातर लोगों की शिकायत यही होती है कि इसमें कैलोरी की मात्रा ज्यादा होती है, जिससे ये वजन बढ़ा सकता है। पर जब आप बिना चीनी वाली चाय पीते हैं तो इसमें एक बड़ी मात्रा में कैलोरी की मात्रा कम हो जाती है जिससे वजन नहीं बढ़ता। एक कप चाय भूख को दूर कर सकती है, और आप चाय के लिए अपने दैनिक शक्कर की मात्रा को कम करें, तो आप 250 से 450 कैलोरी बचा सकते हैं। इसके अलावा, कुछ अध्ययनों से पता चला है कि आहार और व्यायाम के साथ भी आप नियमित रूप से ये वाली चाय पी सकते हैं।

3. सूजन कम करता है

चीनी लिवर में फैटी एसिड के उत्पादन को उत्तेजित करती है। जब शरीर इन मुक्त फैटी एसिड को पचाता है, तो परिणाम में इंफ्लेमेशन यानी कि शुगर को ट्रिगर कर सकता है। विभिन्न प्रकार की चीनी सूजन में कम या ज्यादा करने में योगदान कर सकती हैं। इसलिए कोशिश करें कि रोजाना बिना चीनी की चाय पिएं। इसके अलावा अगर आपके शरीर में सूजन की परेशानी हो जाती है तो, सूजन कम करने के लिए चाय में हल्की हल्दी, दानचीनी और लौंग डालें। इनका एंटी इंफ्लेमेटरी गुण शरीर में सूजन को कम करेगा।

4. डायबिटीज से बचाएगा

डायबिटीज के मरीजों के लिए शुगर एक काल की तरह है। ऐसे में अगर आपको डायबिटीज से बचना है तो रोजाना बिना शुगर वाली चाय पिएं। दरअसल, अगर आप रोज सुबह शुगर वाली चाय पीते हैं तो, शुगर आपके खून में मिल जाएगा और ब्लड शुगर को बढ़ाएगा। धीमे-धीमे ये आदत आपको डायबिटीज टाइप-2 की शिकार बना लेगी जिसे समय रहते कंट्रोल नहीं किया गया तो आपको पूरी तरह से डायबिटीज के मरीज बन जाएंगे।

5. पीएच लेवल सही रहेगा

हमारे पेट का अपना एक माइक्रोबायोम है। इसका एक अपना पीएच है जो कि असंतुलित होने पर शरीर में कई परेशानियों का कारण बनता है। ऐसे में चीनी वाली चाय आपके पेट के माइक्रोबायोम को प्रभावित कर इसके पीएच को असंतुलित कर सकता है। पीएच असंतुलित होने से पेट के अस्तर में एसिड प्रोडक्शन ज्यादा हो सकता है जिससे पेप्टिक अलसर की बीमारी, एसिडिटी, बदहजमी, ब्लॉटिंग औ कब्ज आदि की समस्या भी हो सकती है।

बिना चीनी की चाय कैसे बनाएं

बिना चीनी की चाय बनाने का हेल्दी तरीका ये है कि चाय में दूध की थोड़ी ज्यादा डालें। फिर इसमें दालचीनी, लौंग और अदरक आदि डाल लें। अगर कुछ ना हो तो बस अदरक या फिर इलायची डाल कर चाय बना लें। इसे पीने शरीर की इम्यूनिटी बूस्ट होगी और साथ ही आपको एसिडिटी की समस्या नहीं होगी। साथ ही इसे पीना सर्दी-जुकाम में भी फायदेमंद होगा।

बिना चीनी की चाय अगर आपको स्वाद में ना पसंद आए तो, आप इसमें गुड़ या फिर शहद भी मिला सकते हैं। इससे आपको पेट से जुड़ी कोई भी परेशानी नहीं होगी और आप ऐसी चाय कभी भी पी सकते हैं। पर कोशिश करें कि चाय दिन में 2 बार से ज्यादा ना पिएं।

Leave a Reply