watermelon तरबूज और खरबूज खाने के बाद पानी

तरबूज एक ऐसा फल है जिसे गर्मियों में धरती का अमृत कहा जाता है। पानी की भरपूर होने के साथ ही यह फल स्वाद और सेहत दोनों के लिए बहुत अच्छा होता है। यह ऐसा फल है जो गर्मियों में सबसे ज्यादा बिकता है। क्योंकि तरबूज में पानी की काफी मात्रा होती है इसलिए लोग इसे बड़ों के साथ ही साथ बच्चे भी खूब पसंद करते हैं। डिहाइड्रेशन से बचाने के साथ ही यह हमें कई अन्य बीमारियों से भी बचाता है। लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे लोग बता रहे हैं जिन्हें भूलकर भी तरबूज का सेवन नहीं करना चाहिए। यानि कि कुछ ऐसी बीमारियां बता रहे हैं जिनसे घिर लोगों को तरबूज के सेवन से परहेज करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : सिर्फ 15 दिन गर्म पानी को इस चीज के साथ मिलाकर पीलो, मोटापा क्या शरीर का हर रोग खत्म हो जायेगा

मधुमेह

खाने वाली किसी भी चीज में मौजूद चीनी आपके शरीर में मौजूद खून में कितनी जल्दी घुल सकती है इसका मापदंड ग्लाइसेमिक इंडेक्स द्वारा किया जाता है। 100 के स्केल पर तरबूज का ग्लाइसेमिक इंडेक्स 70 होता है। इसमें नैचुरल शुगर भी भारी मात्रा में पाया जाता है। लिहाजा, मधुमेह के रोगियों को तरबूज का किसी भी रूप में सेवन नहीं करना चाहिए। अगर वह इस फल को खाते हैं तो इससे होने वाले नुकसान को कम करने के लिए उन्हें बादाम या अखरोट जैसे नट्स खाने चाहिए।

किडनी

जिन लोगों को किडनी संबंधी कोई बीमारी होती है, उन्हें भूलकर भी तरबूज नहीं खाना चाहिए। इसमें मौजूद मिनरल्स से किडनी को नुकसान पहुंचने का खतरा बढ़ जाता है। विशेषज्ञों के अनुसार तरबूज में पानी भारी मात्रा में पाया जाता है। जिन लोगों की किडनी इस हद तक खराब हो चुकी है कि उनके शरीर में यूरीन बन भी नहीं पा रहा, उन्हें यह फल खाने से बचना चाहिए। अगर उन्होंने तरबूज खाया तो उनका शरीर फल में मौजूद पानी को यूरीन में तब्दील नहीं कर पाएगा। इससे हार्ट फेल होने की संभावना बढ़ सकती है।

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

इसे भी पढ़ें : पत्ता गोभी के पत्तो को छाती और टांगों पर लगाकर सोने से होने वाले फायदे

अस्थमा

अस्थमा के रोगियों को ठंडी चीजों के सेवन से दूर रहने की सलाह दी जाती है। तरबूज में पानी की मात्रा बहुत होती है, लिहाजा अस्थमा के रोगियों को इसे खाने की मनाही होती है। इसके अलावा इस फल में अमीनो एसिड पाया जाता है जो अस्थमा रोगियों की तकलीफ बढ़ा सकती है।

इस वक्त भूलकर भी ना करें तरबूज का सेवन

अगर आपको इनमें से कोई बीमारी नहीं है तो भी तरबूज के सेवन को लेकर कुछ बातों का ख्याल रखना चाहिए। इस फल को शाम ढलने के बाद भूलकर भी ना खाएं। दरअसल, शाम 5 बजे के बाद हमारी पाचन शक्ति धीमी हो जाती है। अगर ऐसे में हम तरबूज खाएंगे तो उसमें मौजूद शुगर और अन्य पोषक तत्वों को पचाना मुश्किल हो जाएगा। इससे कब्ज की समस्या हो सकती है।

अगर सुबह के नाश्ते के घंटे भर बाद इसका सेवन करेंगे तो सबसे ज्यादा फायदा होगा। विशेषज्ञों के अनुसार सुबह 11 से दोपहर 2 बजे तक हमारी पाचन शक्ति सबसे तेज होती है। यह किसी भी फल को खाने का सही समय होता है।

इसे भी पढ़ें : खाने के स्वाद के साथ साथ आपकी सेहत का हाल भी बताती है आपकी जीभ
Loading...

Leave a Reply