बीमारियों के इस मौसम में परेशानी तब और भी ज्यादा बढ़ने लगती है जब फेफड़ों और श्वसन तंत्र में बलगम यानि की कफ (Excess Mucus) पहुंच जाता है। अगर इस ओर ध्यान नहीं दिया गया तो समस्या काफी गहरा सकती है। कहते हैं कि अगर फेफड़ों तक कफ या बलगम सूख जाता है, बैक्टीरिया और वायरस जैसी समस्या जान का खतरा बन जाती है। ये समस्या समान्य सर्दी, फ्लू, नाक या गले में जलन, एलर्जी, गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग, स्मोकिंग, निमोनिया जैसी बिमारियों से पनपती है। जो बाद में फेफड़ों में कैंसर की समस्या तक बन सकती हैं। कफ (Excess Mucus) को जमने ना देने के ऐसे कई तरीके हैं, जिसकी राय हमारे बड़े बुजुर्ग भी देते हैं। जैसे खूब पानी पीना, खांसी को दबाना नहीं, कफ (Excess Mucus) आने पर तुरंत थूकना, नमक के पानी से गरारा करना आदि। कफ से छुटकारा पाने के कई घरेलू उपाय हैं, जिनकी मदद से आप इससे तुरंत राहत पा सकते हैं।

1. अदरक

अदरक को डिकॉन्गेस्टेंट और एंटीहिस्टामाइन के रूप में भी जाना जाता है। अदरक में एंटीवायरल गुण भरपूर मात्रा में होते हैं। इसके सेवन से छाती में जमा बलगम (Excess Mucus) आसानी से बाहर निकाला जा सकता है। आप इसके लिए अदरक की चाय पिएं।

2. लाल मिर्च

बात लाल मिर्च की करें तो, भारतीय रसोई में ये आपको हर हाल में मिल ही जाएगी। इसके बिना खाना मानों अधूरा सा लगता है। लेकिन लाल मिर्च ज्यादा खांसी और बलगम (Excess Mucus) को खत्म करने के लिए भी जानी जाती हैं। इसमें ऐसे यौगिक गुण होते हैं, जो बलगम को पतला करने में मदद करते हैं।

3. लहसुन

लहसुन को गुणों को खजाना माना जाता है। इसमें नेचुरल एक्सपेक्टोरेंट होते हैं, जो बलगम (Excess Mucus) बनने से रोकते हैं। इसमें फंगल और बैक्टीरिया से लड़ने में भी मदद मिलती है। आप अपने आहार में ज्यादा से ज्यादा लहसुन को शामिल करें। इससे शरीर से कफ बाहर निकालने में मदद मिलती है।

4. अनानास

ये एक ऐसा फल होता जिससे बलगम (Excess Mucus) या कफ को खत्म करने में मदद निकलती है। अनानास के जूस में एक ऐसा एंजाइम होता है। जो सांस से जुड़ी समस्या और एलर्जी की समस्या से बचाने में मदद करता है। अनानास के जूस में म्यूकोलाईटिक भी होता है को कफ को बाहर निकाल फेंकता है।

5. प्याज

अगर आप सर्दी, जुकाम, खांसी, गले में खराश, या कम इम्युनिटी से जूझ रहे हैं तो प्याज इससे आपका बचाव करता है। आप कद्दूकस किया हुआ प्याज पानी में कुछ घंटों में भिगोकर रखें और हर रोज दो से तीन चम्मच इसका पानी पिएं। अगर आप इसमें कुछ बूंद नींबू के रस की मिला लें तो इसका फायदा आपको ज्यादा होगा। इससे आपकी खांसी दूर होगी और बलगम (Excess Mucus) भी नहीं जमेगा।

6. इलायची

इलायची हमारे किचन का सबसे अहम हिस्सा मानी जाती है। अपनी खुशबू से लोगों को आकर्षित करने वाली छोटी सी इलायची काफी काम ही होती है। इलायची की मदद से आप छाती में जमा बलगम को बाहर निकालने में मदद करती है। इलायची को खाने के बाद डाइजेशन में दिक्कत नहीं होती। इसके सेवन से बलगम (Excess Mucus) पतला होता है जिससे उसे बाहर निकालने में आसानी होती है।

7. काली मिर्च

काली मिर्च का इस्तेमाल हम खाने के स्वाद को बढ़ाने के लिए करते हैं। इसमें कई आयुर्वेदिक गुण होते हैं। आप अगर इसका इस्तेमाल करते हैं, तो कफ की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। आपको इसके सही इस्तेमाल की जानकारी भी होनी जरूरी है। इसके लिए काली मिर्च के कुछ दानों को अच्छे से पीस लें। फिर इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं और इसके पेस्ट को लगभग 15 से 20 सेकंड तक गर्म करके पी लें। इसे पीने के बाद कफ पतला हो जाएगा और उसे निकालने में भी आसानी होगी। आप खुद को हल्का महसूस भी करेंगे।

तो ये कुछ ऐसे विकल्प हैं, जो हर किसी की रसोई में आसानी से मिल जाएंगे। अगर आप भी बार बार बलगम या कफ की समस्या से जूझ रहे हैं तो आप इन चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं। क्योंकि मौसम में बदलाव और पर्यावरण में प्रदूषण बलगम बनने का कारण बन रहा है। इससे समय पर छुटकारा पाना बेहद जरूरी है, वरना मुश्किल बढ़ सकती है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleज्यादा पके हुए फलों को फेंकने की जगह इन 5 तरीकों से करें इस्तेमाल
Next articleमलाई खाना सेहतमंद है या नुकसानदायक?

Leave a Reply