health

गर्मियों में हमें अक्सर पेट से जुड़ी परेशानियां होती हैं, जिसके पीछे एक बड़ी वजह अपच (indigestion)है। अपच सिर्फ गैस और एसिडिटी नहीं बल्कि, मतली और कब्ज का कारण भी बनता है। ऐसे में जरूरी है कि गर्मियों में आप अपने दिन की शुरुआत ऐसी चीजों को खा कर करें, जो कि आसानी से पच जाए और आप दिन भर हल्का महसूस करें। प्रोबायोटिक्स से भरपूर फूड्स (Probiotics foods)इसमें आपकी मदद कर सकते हैं। जी हां, प्रोबायोटिक फूड्स वो फूड्स हैं जो कि फर्मेंडेट होते हैं। ये उन हेल्दी बैक्टीरिया और फंगस से भरपूर होते हैं, जो कि आपके पाचन तंत्र को हेल्दी रखते और खाना पचाने की क्षमता को बढ़ाते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे ही प्रोबायोटिक फूड्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जो कि आपके नाश्ते का हिस्सा बन सकते हैं।

प्रोबायोटिक्स से भरपूर हेल्दी नाश्ता

Probiotic foods for breakfast

1. ढोकला 

ढोकला नाश्ते के रूप में एक टेस्टी प्रोबायोटिक फूड है। ये प्रोटीन से भरपूर होता है, जो कि दिन भर के लिए आपको भरपूर एनर्जी देता है। ये राइबोफ्लेविन, नियासिन, फोलिक एसिड, थायमिन, विटामिन के और बायोटिन जैसे पोषक तत्वों से भी भरपूर है, जो कि शरीर के लिए कई तरह से फायदेमंद है। सबसे ज्यादा ये पेट के लिए अच्छा होता है क्योंकि इसे बैटर को फर्मेंटेट किया जाता है और फिर इसे बनाया जाता है। वजन घटाने वाले लोग भी इसे खुशी से खा सकते हैं। ऐसा इसलिए कि ढोकला आपकी आंत में बैक्टीरिया को संतुलित करने में भी मदद करता है और आपके मोशन को बेहतर बनाता है और वेट लॉस के प्रोसेस को तेज करता है। ढोकला के बारे में एक खास बात ये भी है कि ढोकला हाई बीपी के मरीजों के लिए भी फायदेमंद है। क्योंकि बेसन में मैग्नीशियम होता है, जो कि ब्लड वेसेल्स को हेल्दी बनाए रखने में मदद करते हैं। साथ ही ढोकला जटिल कार्बोहाइड्रेट और लो ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाला भी है, जो कि डायबिटीज के मरीजों के लिए बहुत फायदेमंद है।

2. इडली 

इडली नाश्ते के लिहाज से बहुत हेल्दी (Healthy breakfast) है। ये पेट के लिए बहुत फायदेमंद है और खाने के आसानी से पच जाता है। दरअसल प्रत्येक इडली में सिर्फ 39 कैलोरी होती है, जो कि स्वस्थ 2,000 कैलोरी दैनिक आहार की तुलना में न्यूनतम मात्रा है। इडली में कोई कोलेस्ट्रॉल, फैट और संतृप्त वसा नहीं होता है। ये हाई कोलेस्ट्रॉल से पीड़ित लोगों के लिए भी अच्छा है और हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा भी कम करता है। प्रत्येक इडली में लगभग 65 मिलीग्राम सोडियम, 2 ग्राम प्रोटीन, 2 ग्राम डाइटरी फाइबर और 8 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है, जो कि शरीर के लिए अच्छा है।

3. दही 

आपका शरीर दूध की तुलना में दही को तेजी से पचा पाता है इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि दही में कुछ गुड बैक्टीरिया होते हैं जो आसानी से पच जाते हैं। इसलिए दूध की तुलना में नाश्ते में दही का सेवन करना ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि यह जल्दी पच जाता है। साथ ही सुबह के समय दही खाना हमारी आंत के लिए ज्यादा फायदेमंद होता है क्योंकि ये हमारे मेटाबोलिज्म को हेल्दी रख कर हमारी इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करता है साथ ही सुबह-सुबह इसे खाना पूरे दिन पेट को ठंडा और शांत रखता है।

4. अचार 

अचार सबसे अधिक फर्मेंडेट चीजों में से एक है। अचार को नमकीन पानी में फर्मेंटेट किया जाता है, जो कि गुड बैक्टीरिया से भरपूर है। कभी-कभी नाश्ते में छोड़ा सा अचार खाना पूरे दिन पेट को हेल्दी रखने में मदद कर सकते है। ये विटामिन के और विटामिन ए जैसे विटामिन से भरपूर होते हैं, जो कि शरीर के लिए अन्य तरीके से भी फायदेमंद है। पर ध्यान रहे कि ज्यादा अचार न खाएं क्योंकि इसमें बहुत अधिक सोडियम होता है, जो कि किडनी और लीवर को अधिक मेहनत करवा सकता है। इसके अलावा, ये हाई बीपी के मरीजों के लिए भी उतना फायदेमंद नहीं है।तो, अचार खाएं पर थोड़ा सा और हर दिन अचार खाने से भी बचें।

5. छाछ 

छाछ प्रोटीन, विटामिन और कई खनिजों में समृद्ध है लेकिन कैलोरी और वसा में कम है। छाछ पीने से हम हाइड्रेटेड और ऊर्जावान रहते हैं। यह हमें भरा हुआ भी महसूस कराता है, इस तरह हमें दिन भर जंक फूड खाने की भूख नहीं लगती। यह उन लोगों के लिए भी अच्छा है जो अपना वजन कम करना चाहते हैं।सुबह खाली पेट एक गिलास छाछ पीने से पेट की सारी परेशानियां दूर हो जाती हैं। जिन लोगों को अपच, गैस और पाचन संबंधी अन्य समस्याएं हैं, उन्हें सुबह खाली पेट छाछ का सेवन करना चाहिए।

तो, इन चीजों को अपने नाश्ते का हिस्सा बनाएं और अपने पेट व पाचन तंत्र को हेल्दी रखें। पर ध्यान रहे कि इन चीजों को ज्यादा मात्रा में लें और हर रोज लेने से भी बचें क्योंकि ऐसा करने पर ये आपके लिए नुकसानदेह भी हो सकते हैं।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleमलाई खाना सेहतमंद है या नुकसानदायक?
Next articleनींबू के साथ भूलकर भी न करें इन चीजों का सेवन

Leave a Reply