health

दालचीनी के फायदे

दालचीनी का पौधा जितना छोटा है इसके गुण उतने ही बड़े हैं। दालचीनी की सूखी पत्तियां तथा छाल को मसालों के रूप में प्रयोग किया जाता है। इसकी छाल थोड़ी मोटी, चिकनी तथा हल्के भूरे रंग की होती है। दालचीनी मोटापा कम करने के साथ-साथ कई बीमारियों को भी दूर करता है। यह रक्तशोधक भी है। शहद तथा दालचीनी को मिलाकर दिल की बीमारियों, कोलेस्ट्रॉल, त्वचा रोग, सर्दी जुकाम, पेट की बीमारियों के लिए फायदेमंद है।

इसे भी पढ़ें : दूध कब बन जाता है हानिकारक 

सर्दी जुकाम के लिए

सर्दी-जुकाम होने पर दालचीनी का प्रयोग करना चाहिए। एक चम्मच शहद में थोड़ा सा दालचीनी पाउडर मिलाकर सुबह-शाम लेने से खांसी-जुकाम में आराम मिलता है। हल्के गर्म पानी में एक चुटकी दालचीनी पाउडर तथा एक चुटकी पिसी काली मिर्च शहद में मिलाकर पीने से जुकाम तथा गले की खराश दूर होती है। इसके पाउडर को पानी के साथ मिलाकर पेस्ट बनाकर माथे पर लगाने से ठंडी हवा से होने वाले सिर दर्द में आराम मिलता है।

जोड़ों के दर्द के लिए

जोड़ो के दर्द को कम करने के लिए दालचीनी का प्रयोग कीजिए। हल्के गर्म पानी में दालचीनी पाउडर और थोड़े से शहद को मिलाकर शरीर में दर्द वाले अंग पर लगाकर हल्‍के हाथों से मालिश करने से फायदा होता है। एक कप हल्के गर्म पानी में एक चम्मच शहद और आधा चम्मच दालचीनी पाउडर मिलाकर पीने से भी जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है।

इसे भी पढ़ें : पैरों में इस तेल की 7 दिन मालिश करें 65 की उम्र में 25 के दिखने लगोगे, स्फूर्ति तेजी और चमक बढ़ेगी

त्वचा के रोगों में फायदेमंद

त्‍वचा की समस्‍या होने पर भी दालचीनी बहुत फायदेमंद है। त्वचा में खाज और खुजली होने पर दालचीनी पाउडर तथा शहद बराबर मात्रा में लेकर पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट को लगाने से त्‍वचा की यह समस्‍या दूर होती है। दालचीनी के पाउडर में थोड़ा सा नीबूं का रस मिलाकर चेहरे पर लगाने से कील मुंहासे दूर होते हैं।

पेट की समस्‍या

अपच जैसी पेट की समस्‍या होने पर दालचीनी का प्रयोग करने से आराम मिलता है। इसके अलावा दालचीनी के प्रयोग से उलटी तथा दस्त में आराम मिलता है। एक चम्मच शहद के साथ थोड़ा सा दालचीनी पाउडर मिलाकर लेने से पेट दर्द और एसिडिटी में आराम मिलता है तथा भोजन भी आसानी से पच जाता है और पेट की समस्‍या नहीं होती।

इसे भी पढ़ें : शरीर का कायाकल्प करने वाला चूर्ण

मोटापे के लिए

मोटे लोगों को भी दालचीनी का प्रयोग करना चाहिए। चाय में एक चम्मच दाल चीनी पाउडर मिलाकर एक गिलास जल में उबालें, फिर इसे उतारकर इसमें दो बड़े चम्मच शहद मिलाकर सुबह नाश्ते से लगभग आधा घंटा पहले पियें। ऐसा रात को सोने के पहले करें। नियमित ऐसा करने से शरीर की अनावश्यक चर्बी समाप्त होती है और अधिक केलोरी वाला भोजन लेने पर भी शरीर में चर्बी नहीं बढ़ती और वजन कम होता है।

दिल के मरीजों के लिए

शहद और दालचीनी के पाउडर का पेस्ट बनाकर रोटी के साथ खाने से धमनियों में कोलेस्‍टॉल जमा नहीं होगा और दिल के दौरे की संभावना को कम किया जा सकता है। जिन लोगों को पहले भी हार्ट अटैक दौरा पड़ चुका है वे अगर इस उपचार को करेंगे तो भविष्‍य में हार्ट अटैक की संभावना को कम कर सकेंगे।

इसे भी पढ़ें : चेहरा जवाँ बनाएं

बढ़ा हुआ कोलेस्‍ट्रॉल

बढ़े हुए कोलेस्‍ट्रॉल को कम करने के लिए दालचीनी का प्रयोग कीजिए। दालचीनी के दो बड़े चम्मच शहद और तीन चम्मच दालचीनी पावडर को हल्‍के गरम आधा लीटर पानी में मिलाकर लें। इससे सिर्फ 2 घंटे में खून का कोलेस्‍ट्रॉल का स्‍तर 10 प्रतिशत तक नीचे आ जाता है, और दिन में इसे तीन बार लेते रहने से बढ़ा हुआ कोलेस्‍ट्रॉल कम हो जाता है।

कैंसर में भी फायदेमंद

कैंसर जैसे घातक रोग के लिए भी दालचीनी फायदेमंद है। जापान और आस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने आमाषय और बोन कैंसर की बढ़़ी हुई स्थिति को दालचीनी और शहद का उपयोग करके इसे पूरी तरह काबू किया जा सकता है। कैंसर के रोगियों को एक बड़ा चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी के पावडर को गरम पानी के साथ एक महीने तक लेने से आराम मिलता है।

इसे भी पढ़ें : मेथी दाना भिगोकर खाने के फायदे

अन्‍य बीमारियों के लिए

एक चम्मच शहद में थोड़ा सा दालचीनी पाउडर मिलाकर दांतों पर नियमित दो-तीन बार मलने से दांत दर्द में आराम मिलता है। तनाव होने पर शहद के साथ जरा सा पाउडर मिलाकर लेते रहने से आरा‍म मिलता है और स्मरण शक्ति भी तेज होती है। यह अस्थमा तथा लकवा में भी बहुत फायदेमंद है।

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

बहरापन दूर करें

शहद और दालचीनी पाउडर को बराबर मात्रा में मिलाकर एक-एक चम्‍मच सुबह और रात को लेने से सुनने की शक्ति बढ़ती है। कान से कम सुनाई देने की समस्‍या होने पर कान में दालचीनी के तेल की कुछ बूंदें डालने से आराम मिलता है।

इसे भी पढ़ें : सुबह गरम पानी पीने के फायदे

चूना के फायदे

चूना खाने खाने की बात आते ही कई लोगों को अजीब लग सकता है. लेकिन जब ध्यान से सोचेंगे तो समझ आ जाएगा कि चूना हम कई रूपों में खाते हैं और खाते ही रहते हैं. सफ़ेद रंग से युक्त चूना को अक्सर पान के साथ या तंबाकू के साथ भी कई लोग खाते हैं. आपको बता दें कि यह शारीरिक और मानसिक विकारों को दूर करने सहित विभिन्न स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है. चूना पाउडर हड्डियों, मेमोरी, गर्भधारण, नपुंसकता से संबंधित सभी समस्याओं में लाभदायक है. चुना को कैल्शियम का एक बड़ा और समृद्ध स्रोत माना जाता है. आइए इस लेख के माध्यम से हमलोग चूना खाने के कुछ फायादों पर एक नजर डालें.

1. ग*र्भवती महिलाओं के लिए

प्रे*गनेंट महिलाओं को अनार के जूस के साथ चूने के पाउडर का इस्तेमाल करना चाहिए. यह प्रे*गनेंट महिला और उनके होने वाले बच्चे दोनों के लिए सेहतमंद माना जाता है. इसके सेवन से गर्भ में पल रहे बच्चे का दिमाग तेज होता है और वो स्वस्थ रहता है. इसके सेवन से डिलिवरी बहुत आरामदायक होती है और ग*र्भावस्था के दौरान और ग*र्भावस्था के बाद मां और बच्चा दोनों रोग मुक्त रहते हैं.

इसे भी पढ़ें : लिवर का इलाज

2. बचाए एनीमिया से

एनीमिया से पीड़ित व्यक्ति के लिए भी चुना फायदेमंद है. इसे सुबह खाली पेट अनार के जूस के साथ सेवन करना चाहिए. यदि अनार का जूस मौजूद नहीं है तो आप किसी भी रस या पानी के साथ चुना पाउडर का सेवन कर सकते हैं.

3. मस्तिष्क के लिए

चुना पढ़ने वाले बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इसे दही, पानी या दाल के साथ सेवन कर सकते हैं. यदि आप पढने वाले बच्चों के लिए चुने के पाउडर को अनार के जूस के साथ देते हैं तो यह उनके लिए बहुत फायदेमंद है. इसके अलावा, मानसिक रूप से कमजोर लोग भी खाने के साथ चूने के पाउडर का सेवन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : कैल्शियम की कमी के मुख्य 5 लक्षण & बचाव |

4. घुटने के दर्द में

घुटने के दर्द से पीड़ित व्यक्ति भी चूने के इस्तेमाल से राहत पा सकते हैं. घुटने के दर्द से ग्रस्त व्यक्ति गन्ना, संतरा या अनार के रस के साथ चूना पाउडर का सेवन कर सकते हैं. इसके सेवन से घुटने के दर्द से आराम मिलेगा.

5. दांतों के रोग

चुना दांतो के लिए भी फायदेमंद माना जाता है. यह सभी प्रकार के बिमारियों से दांतों को बचाता है और दांतों को स्वस्थ रखता है. दांत दर्द से परेशान होने पर किसी भी भोजन या पानी में चूने के पाउडर को मिलाकर सेवन कर सकते है. रोगी पान के पत्ते या पानी के साथ भी चूने का सेवन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : ड्राईफ्रूट्स सेवन करने का सही तरीका

6. त्वचा के लिए

त्वचा को चमकदार बनाने के लिए शहद और चूने का पाउडर को मिलाकरचहरे पर लगाने से बहुत प्रभावी परिणाम देते है. इस फेस पैक को बनाने के लिए एक चम्मच चूना पाउडर और एक चम्मच शहद में मिलाकर चेहरे पर लगाए और 10 मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें. इसके बाद अपनी त्वचा को ताजे पानी से धो लें. यह आपको गोरा, स्वच्छ और चमकदार त्वचा प्रदान करता है. अपने चेहरे पर किल मुहांसे को ठीक करने के लिए थोड़े से चुने के साथ शहद में मिलाकर प्रभावित हिस्से पर लगाए.

7. बढ़ाए बच्चों की लम्बाई

यह बच्चों की लम्बाई बढ़ाने में भी सहायक होता है. इसे आप दही या दाल में चावल के आकार के बराबर चूना को मिलाकर इस्तेमाल करें. ऐसा करने से आपके बच्चों कि लंबाई बढ़ सकती है.

इसे भी पढ़ें : बालों को तेजी से लंबा,मोटा व घना बनाने का असरदार उपाय|

8. दूर रखे हड्डियों की समस्या

हड्डी तथा मेरुदण्ड से संबंधित विकारों को दूर करने के इलाज के लिए रोगी को गन्ना के रस, दाल, दही और अन्य खाने योग्य व्यंजनों के साथ चूना पाउडर का उपयोग करना चाहिए. रीढ़ की हड्डी से संबंधित सभी समस्याओं को चूने के पाउडर से ठीक किया जा सकता है. इसके लिए दाल या फल के फलों के रस के साथ चूने के पाउडर का सेवन करें. हड्डियों की कमजोरी और दर्द से ग्रस्त व्यक्ति गन्ना, संतरा या अनार का रस के साथ चूना पाउडर ले सकते हैं. हड्डियों के टूटने के दौरान शरीर को अधिक कैल्शियम की आवश्यकता होती है.

9. पीलिया से छुटकारा

पीलिया एक लिवर की बीमारी है. जिसमें त्वचा, आँखें और नाखून पीले हो जाते हैं. चूनों का उपयोग करके आप इस रोग से छुटकारा पा सकते हैं. पीलिया के इलाज के लिए एक गिलास गन्ने के रस में चना पाउडर मिलाकर पीने से बहुत जल्दी रोगी ठीक हो जाता है. यह रोगी को नियमित रूप से दिया जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें : पेट का मोटापा, बाबा रामदेव का घरेलू उपाय

10. फोड़े की समस्या

फोड़े की समस्या से निजात पाने के लिए हल्दी पाउडर में चम्मच चुना मिलाकर उसे गर्म कर ले. अब हल्का ठंडा होने के बाद इसे फोड़े पर लगा कर ऊपर से एक पान का पत्ता रख कर बांध लें. आपको फोड़े की समस्या से जल्दी छुटकारा मिल जाएगा.

11. मा*सिक धर्म के लिए

महिलाओं की मा*सिक धर्म से संबंधित कई प्रकार की समस्याओं के इलाज के लिए चूना पाउडर अच्छा होता है. यह महिलाओं की रजो*निवृत्ति, ग*र्भावस्था और मा*सिक धर्म विकार से संबंधित सभी समस्याओं को ठीक करने में मदद करता है. 50 साल की उम्र के बाद महिलाओं में रजो*निवृत्ति की कठिनाई होने लगती है और उन्हें कैल्शियम कार्बोनेट की अधिक मात्रा की आवश्यकता होती है. चूना पाउडर रजो*निवृत्ति की सभी कठिनाइयों का इलाज करने के लिए अच्छा माना जाता है.

इसे भी पढ़ें : नीम की पत्तियों के फायदे
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleहड्डियों में दर्द कब्ज लिवर ख़राब, आँखों की रौशनी,खून की कमी को दूर करती है ये 1 चीज
Next articleपैर के तलवों की मालिश के फायदे
Loading...

1 COMMENT

Leave a Reply