बवासीर का देसी इलाज और घरेलू नुस्खे इन हिंदी

बवासीर एक बहुत ही कष्टकारी बीमारी है | बवासीर में गुद्दा में मस्से हो जाता है जो कई तरह के होते है | ये मस्से गुद्दा के बाहर ,मध्य व भीतरी होते है | अगर किसी व्यक्ति को बवासीर हो जाये तो इन मस्सो के कारण उठने ,बैठने व चलने में बहुत ही दिक्कत होती है | जब इंसान की ऐसी स्थिति हो तो वो बहुत ही कष्टकारी होती है |

आइये जानें Piles Treatment By Baba Ramdev Remedies in Hindi, बवासीर का इलाज बाबा रामदेव खुनी व बादी, बवासीर के दर्द का घरेलू इलाज, बवासीर का उपचार के घरेलू उपाय और देसी तरीके, piles treatment in hindi |

बवासीर के मस्से अगर बाहरी हो तो इसे ऑपरेशन के द्वारा निकल सकते है | अगर मस्से गुद्दा के मध्य में हो तो भी इन मस्सो को किसी स्पेशलिस्ट डॉक्टर के द्वारा ऑपरेशन से ठीक हो सकते है | मगर जब मस्से अंदर हो तो इन मस्सो को ठीक करना मुश्किल होता है |

बवासीर की समस्या हमें तब होती है जब हमारा खानपान सही न हो और हम ज्यादा तेज मिर्च मसालो के शौकीन हो |और इन तेज मिर्च मसालो की वजह से हमारा पेट गदणड हो जाता है और कई बार हमें कब्ज भी रहने लगती है जो बवासीर होने का मुख्य कारण है | जिसकी वजह से मल के साथ खून आने लगता है | और दानो जैसे मस्से हो जाते है |जो हमें बहुत ही कष्ट देते है |

■  पेट की गर्मी का इलाज के 10 रामबाण घरेलू उपाय और नुस्खे

                            बवासीर का इलाज

           Bawaseer Ka Ilaj Aur Ayurvedic Gharelu Nuskhe In Hindi

1. आक व सहजन के पत्तो के द्वारा

आपने आक व सहजन के पत्तो की बराबर मात्रा लेनी है जैसे पांच पत्ते आक के और पांच ही सहजन के लेने है और इन पत्तो को अच्छे से धोकर इनको पीस लेना है और इसे मस्सो वाली जगह पर लेप करना है | इससे मस्से बहुत ही जल्दी ठीक हो जायेंगे और ये बवासीर के बाहरी मस्सो को ठीक करने का रामबाण व अचूक उपाय है |

2. नीम व कनेर के पत्ते

इसी तरह से आप नीम व कनेर के पत्तो की बराबर मात्रा में ले और इन दोनों को पीसकर पेस्ट बना ले और इस पेस्ट को बवासीर के बाहरी मस्सो पर लेप करे इससे बाहरी मस्से ठीक हो जायेगे |और धीरे धीरे मस्से ख़तम हो जायेंगे |

3. कड़वी घीया व गुड़

आपने कड़वी घीया व गुड़ को पीस लेना है और इसे बवासीर के मस्सो पर लगाना है जिससे बवासीर के मस्से ठीक हो जायेंगे |

4. नीम का तेल (Neem Se Bawaseer Ka Ilaj In Hindi)

अगर बवासीर के मस्सो पर नीम का तेल भी लगाया जाये तब भी बवासीर के मस्से ठीक हो जायेंगे |

5. हल्दी व कड़वी तोरई (Haldi Se Bawaseer Ka Ilaj In Hindi)

आपने कड़वी तोरई को पीसकर पेस्ट बना लेनी है और इसे मस्सो पर लगाना है इससे भी बवासीर के मस्से ठीक हो जाते है |

6. मूली का सेवन (Mooli Se Bawaseer Ka Ilaj In Hindi)

आप बवासीर के इलाज के लिए मूली का प्रयोग एक रामबाण सिद्ध होता है | आप चाहे तो मूली का सेवन किसी न किसी रूप में कर सकते है | या फिर मूली के रस का सेवन भी कर सकते है | मूली के रस को दोपहर को खाना खाने के बाद या फिर इसे सुबह नाश्ता करने के बाद पीना है | लेकिन आपने मूली का रस शाम को नहीं पीना है | और इससे बवासीर का रोग धीरे धीरे जड़ से ख़तम हो जायेगा |

■  कमर दर्द दूर करने के 5 आसान घरेलू उपाय

देखा दोस्तों कैसे इन उपायों में से कोई भी एक उपाय अपनाकर आप बवासीर से मुक्त हो सकते है |

दोस्तों बवासीर के मस्से का इलाज के आयुर्वेदिक नुस्खे, Piles treatment in hindi, Bawaseer Treatment at Home in Hindi का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास बवासीर का घरेलु उपाय, बवासीर का अचूक इलाज, हल्दी से बवासीर का इलाज, बवासीर का आयुर्वेदिक दवा, हल्दी से बवासीर का इलाज इन हिंदी के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Leave a Reply