गठिया का सरल घरेलु इलाज और आयुर्वेदिक उपचार इन हिंदी

गठिया (Gout) या वातरक्त एक सामान्य रोग है जिसमें रोगी के एक या कई जोड़ों में दर्द, अकड़न या सूजन आ जाती है। इस रोग में जोड़ों में गांठें बन जाती हैं और चुभन जैसी तेज पीड़ा होती है। यह रोग रक्त में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने से होता है,जिसका प्रमुख कारण यूरिक एसिड अपचयन (Metabolism) से है।

जोड़ हड्डियों से बने होते हैं जो एक कैप्सूल यानि संपुट में होते हैं। इस कैप्सूल के ऊतक (Tissue) एक प्रकार का चिकना द्रव्य बनाते हैं जिसे सायनोवियल फ्लूड (Sinovial Fluid) कहा जाता है।

इसी फ्लूड की सहायता से उंगलियों के जोड़ आसानी से काम करते हैं। इसी द्रव्य पर कैप्सूल के अंदर के ऊतक भी निर्भर करते हैं। गठिया (Gathiya) की समस्या उस समय पैदा होती है जब शरीर बहुत ज्यादा यूरिक एसिड बनाने लगता है और उसके कण कैप्सूल के अंदर पहुंचने लगते हैं।

आइये जानें गठिया रोग में, जोड़ों में दर्द होने, गठिया को कैसे पहचानें, गठिया के लक्षण, गठिया का इलाज, गठिया का घरेलु उपचार, गठिया को कैसे सही करें।

गठिया के लक्षण – Gathiya Ke Lakshan In Hindi

जोड़ों में रात को अचानक बहुत तेज दर्द होता है और सूजन आ जाती है। जोड़ लाल और गर्म महसूस होता है। साथ में बुखार और थकावट भी हो सकती है।

गठिया का दौरा अमूमन 5-7 दिनों में ठीक हो जाता है। गठिया 75 प्रतिशत वंशानुगत होता है और यह ज्यादातर पुरूषों में पाया जाता है।

👉 इसे भी पढ़ें : यदि सुबह खाली पेट पीते है चाय, तो एक बार इस को आप जरूर देंखे!!

सामग्री

नमक- २ ग्राम
जीरा- २ ग्राम
हींग- २ ग्राम
पीपल- २ ग्राम
काली मिर्च- २ ग्राम
सौंठ- २ ग्राम

दवाई बनाने की विधि

गठिया के रोग में लहसुन बेहद लाभकारी होता है। इसके सेवन से गठिया के रोग में आराम मिलता है। वैसे अगर इसे खाना पसंद न हो तो इसमें सेंधा नमक, जीरा, हींग, पीपल, काली मिर्च और सौंठ की सभी की 2 – 2 ग्राम मात्रा लेकर अच्‍छे से पीस लें।

इस पेस्‍ट को अरंडी के तेल में भून लें और बॉटल में भ लें। दर्द होने पर लगा लें। आराम मिलेगा।

👉 इसे भी पढ़ें : मात्रा 21 दिनो तक अगर केला खा लिया, तो कुछ ऐसा हो जायेगा कि आपके होश उड़ जायेंगे

दोस्तों आज हमने आपको Gathiya Ka Gharelu Nuskha in Hindi , gathiya ka ilaj aur ayurvedic nuskhe in hindi, gathiya ki dawa aur tel in hindi, gathiya se chutkara kaise paye, gathiya ka permanent ilaj  इस विषय पर पूरी जानकारी दी| मुझे उम्मीद हैं, कि ये जानकारी आपके काम की होगी| हमारी पोस्ट आपको कैसी लगी और आपने हमारी पोस्ट से किस प्रकार लाभ उठाया, इसके बारे में आप हमें कमेंट करके जरूर बताये| हमें कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स में जाये|

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleहर रोज 10 सेकंड तक घुमाये अपनी जीभ, फिर जो होगा वो आप देखकर हैरान हो जायेंगे
Next articleकिड़नी की सफाई सिर्फ 5 रुपये में, जानिए और शेयर करे

2 COMMENTS

Leave a Reply