eating food

स्‍वस्‍थ और सेहतमंद रखने के लिए व्‍यायाम के साथ-साथ स्‍वस्‍थ आहार भी बहुत जरूरी होता है। सेहतमंद रहने के लिए जरूरी है कि आप जो खायें वह भोजन भी सेहतमंद हो। सेहतमंद आहार का तात्‍पर्य ऐसे आहार से है जिसमें शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए जरूरी सभी तत्‍व शामिल हों। शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए आयरन, विटामिन, प्रोटीन, मिनरल, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट आदि की आवश्‍यकता होती है। तो चलिये हम आपको बताते हैं ऐसे आहार के बारे में जो आपको रखेंगे स्‍वस्‍थ और फिट।

ऐसे करें दिन की शुरुआत

गर्मी के मौसम में अपने दिन की शुरुआत एक ग्लास पानी पीने के साथ करें। सुबह हेल्दी नास्ता करें, जिससे आपके शरीर में लंबे वक्त तक एनर्जी बनी रहे। नास्ते में कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन से भरपूर चीजें मसलन स्प्राउट, फ्रूट्स, छाछ, दूध, दही, अंडा, सैलेड को शामिल करें। खाने में उन चीजों को शामिल करें जिससे आपके शरीर में पानी की कमी ना हो। दिन की शुरुआत कभी भूखे पेट नहीं करनी चाहिए।

गर्मियों में क्या खाएं?

■  मौसमी फल और हरी सब्जियां ज्यादा से ज्यादा खाएं। इस मौसम में मिलने वाले फल और सब्जियां गूदेदार, मुलायम और वाटर से भरपूर होते हैं।

■  डाइट में तरबूज और खरबूजा, खीरा, ककरी, पुदीना को शामिल करें। इसमें 90% पानी होता है साथ ही ये विटामिन-A, एंटी-ऑक्सीडेंट और कैल्शियम से भी भरपूर होता है।

■  खाने में दूध की जगह दही को शामिल करें।

■  डाइट में प्याज को भी शामिल करें, प्याज में क्वेरिस्टिंग होता है जो गर्मी में आपकी स्कीन पर पड़ने वाली रैशेज में आपको आराम पहुंचाती है।

■  इस मौसम में अंगूर भी खूब आते हैं। अंगूर में लायकोपीन होता है, जो त्वचा को अल्ट्रावॉयलेट किरणों के हानिकारक असर से बचाता है।

■  इस मौसम में घर का बना और आसानी से पचने वाला खाना ही खाना चाहिए।

■  अमेरिकन डाइटिक एसोसिएशन का मानना है कि सब्जियों से बने सैलेडे विटमिन सी और ई के साथ फॉलिक एसिड और कैरोनटॉयड्स से भरपूर होते हैं। यह सैलेड गाजर, टमाटर, बंदगोभी, शिमला मिर्च, लैटयुस और खीरा जैसी सब्जियों से बना हो तो कैलरी तो कम होती ही है, साथ ही ये आपको पूरी ऊर्जा भी देते हैं। हर मील में एक बोल या एक बड़ी सर्विग सैलेड की जरूर लें। स्वाद के लिए ड्रेसिंग में नीबू या दही का इस्तेमाल कर सकती हैं।

लिक्विड ज्यादा लें

इस मौसम में लिक्विट डाइट बढ़ा देना चाहिए। छाछ, लस्सी, नीबू पानी, नारियल पानी को डाइट में शामिल करें। गर्मी के मौसम में शरीर में पानी की कमी (डी-हाइड्रेशन) हो जाती है, इसलिए भरपूर मात्रा में पानी पीएं। आपको रोजाना 3 से 4 लीटर पानी जरूर पीना चाहिए। ताजे फलों का रस खूब पीएं, लेकिन डिब्बाबंद जूस का पीने से बचें। ग्रीन टी भी पी सकते हैं लेकिन अल्कोहल और कैफीन का सेवन कम कर दें।

क्या नहीं खाएं?

■  ज्यादा तले, मलासेदार खाना ना खाएं।

■  अधिक वसा वाले खाने से दूर रहें।

■  कैफीन से दूर रहें, डी-हाइड्रेशन बढ़ता है।

■  गर्मी में मिठाईयां कम से कम खाएं।

■  बासी खाना ना खाएं, फूड प्वाइजनिंग का डर।

■  रेस्टोरेंट, ढाबे में खाने को भी कहें ना।

■  प्रोसेस्ड और पैकेज्ड फूड खाने से बचे।

■  नॉनवेज फूड लेना कम कर दें।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleदांतों को सफेद और चमकदार बनाने के असरदार तरीके
Next articleसेब खाने का सही समय क्या है?
Loading...

Leave a Reply