yogurt dahi

गर्मियों के दिन हैं और खाने में दही न शामिल हो तो कुछ अधूरा सा लगता है। अब पसीना छुड़ाने वाले इन दिनों में शरीर को एकस्‍ट्रा एनर्जी जो देनी है। ऐसे में डॉक्‍टर्स भी दिन के खाने में दही को शामिल करने की सलाह देते हैं। इसके पीछे कारण है कि दही में गुड बैक्‍टीरिया, कैल्‍शियम, विटामिन्‍स और मिनरल्‍स भरपूर मात्रा में होते हैं। ये सब वह जरूरी तत्‍व हैं जिनकी जरूरत हमारे शरीर को सबसे ज्‍यादा होती है। इसके साथ ही दही हमारे शरीर के कई विकारों को भी दूर करता है। हां, इसके लिए जरूरी है कि दही के साथ कुछ खास चीजों को मिलाकर खाएं। आइए बताएं आपको कि दही में क्‍या मिलाकर खाएं, जो वह दूर कर दे आपके शरीर का हर विकार।

1 . मिला दें भुना हुआ जीरा

डॉक्‍टर्स की राय है कि दही में अगर भुना हुआ जीरा डालकर खाएंगे तो इससे आपके खाने की भूख और भी ज्‍यादा बढ़ जाएगी। इसी के साथ आपका डाइजेशन भी अच्‍छा रहेगा।

2 . दही में मिलाएं शहद

कभी खाया है आपने दही में शहद मिलाकर। कभी खाकर देखिएगा। डॉक्‍टर्स बताते हैं कि ऐसा दही पूरी तरह से एंटीबायोटिक का काम करता है। इसके साथ ही ऐसा दही खाने से मुंह के अल्‍सर से भी राहत मिलती है।

3 . मिला लें जरा सी काली मिर्च

आप अगर मोटापे से परेशान हैं तो डॉक्‍टर्स के अनुसार दही में काली मिर्च डालकर खाने से इससे काफी हद तक राहत मिलती है। ऐसा करने से आपके शरीर का एकस्‍ट्रा फैट बर्न हो जाता है।

4 . दही में मिलाइए ड्राई फ्रूट्स

डॉक्‍टरों की राय है कि दही में ड्राई फ्रूट्स और शक्‍कर मिलाकर खाने से आपके शरीर की कमजोरी दूर होती है। काफी हद तक दुबलेपन से राहत मिलती है।

5 . मिला लें थोड़ी सी अजवाइन

दही में अजवाइन मिलाकर खाएं तो इससे पाइल्‍स की दिक्‍कत दूर होती है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleअगर ये लक्षण है तो फौरन शुगर की जांच कराएं
Next article“सदा पानी गिलास में नहीं बल्कि लोटे से पीना स्वास्थप्रद है , क्यों ! जानिए “
Loading...

Leave a Reply