हार्ट अटैक के लक्षण इन हिंदी

हार्ट अटैक एकदम से नहीं आ जाता है. अटैक के कई महीने पहले से ही लक्षण दिखाई देने लगते है मगर यह इतने मामूली से लगते है की लोग इन्हे नज़रअंदाज़ कर देते है. ऐसा ना करे. सजग रहे. लक्षण को आज परखे और कल बचे हार्ट अटैक से.

आइये जाने दिल का दौरा के लक्षण, हार्ट अटैक क्या है, महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण, दिल का दौरा के उपचार, दिल के रोग, दिल का दौरा के कारण, हार्ट अटैक से बचने के देसी उपाय, हार्ट अटैक होने के कारण, दिल के रोग, हार्ट अटैक के बाद, हार्ट अटैक का आयुर्वेदिक इलाज।

यह है वो 10 लक्षण जो प्रारंभिक है और आगे जा के हार्ट अटैक का कारण हो सकती है.

दिल का दौरा (हार्ट अटैक) के लक्षण

Symptoms Of Heart Attack In Hindi

ज़्यादा थकान लगना

थकान ज़्यादा लगना एक लक्षण है की फ्यूचर मे हार्ट अटैक हो सकता है. कोलेस्टरॉल चेक करे ( लिपिड प्रोफाइल ) अगर रिपोर्ट में दिखे की लड्ल (LDL) और ट्राइग्लिसराइड काउंट हाई है. सावधान हो जाए और ट्रीटमेंट शुरू करे और वैदिक उपचार भी करे जो दिल को मजबूत बनाए.

सीने मे दबाव

सीने मे दबाव यानि कभी भी भविष्य मे हार्ट अटैक हो सकता है. अगर टाइट फीलिंग हो, साँस लेने मे तकलीफ़ हो और दर्द भी हो तो फ़ौरन डॉक्टर के पास पहुँच जाए.

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें और अपडेट करें अपना हेल्थ है। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

#  कभी कभी वायरल फ़्लू जैसे लक्षण होते है और बुखार भी होता है मगर यह वायरल फ़्लू नहीं, हार्ट अटैक का अर्ली वॉर्निंग साइन है. इसे नजरअंदाज ना करे डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें.

गहरी साँस लेने मे तकलीफ़ हो

गहरी साँस लेने मे तकलीफ़ हो तो यह भी एक लक्षण है. ब्लड सर्क्युलेशन फेफड़े में कम हो जाता है जिससे फेफड़े और मरीज़ गहरी सांस नहीं ले पाता.

ज़्यादा पसीना छूटे

ठंडा पसीना छूटे तो बिल्कुल सजग हो जाए क्योंकि यह एक संकेत है दिल के दौरे का. बिना कोई श्रम किए कोई इंसान पसीना पसीना हो जाए तो तुरंत डॉक्टर के पास ले जाए.

👉 इसे भी पढ़ें : थायरॉइड है तो इन 4 चीजों से परहेज करे, वरना बहुत भारी परिणाम भुगतना पड़ेगा!!

बिना वजह चक्कर आना और बेहोश हो जाना 

चक्कर आना और बेहोश हो जाना बिना वजह के यह भी संकेत है हार्ट अटैक का. दिल कमजोर हो जाने से दिमाग़ तक खून का नहीं पहुच पाना यानि हार्ट सही तरीके से ब्लड को पंप नहीं कर पाता जिस के कारण आँखों के सामने अंधेरा छा जाता है और बेहोशी भी हो सकती है. डॉक्टर से तुरंत चेकअप करवाए.

ज़्यादा बदन दर्द

बदन दर्द करने लगे अलग अलग हिस्से में जैसे की पीठ, गर्दन, जबड़ा में तो यह हार्ट ट्रबल के निशान है. हाथो के अंदर के भाग, गर्दन और कंधे मे अगर दर्द हो तो हार्ट स्पेशलिस्ट से फ़ौरन चेकअप करवाए, यह लक्षण को नज़र अंदाज़ ना करे.

अनियमित दिल की धड़कन

दिल की धड़कन कभी तेज और अनियमित हो जाता है और फड़फड़ाहट होने लगे तो यह भी संकेत है हार्ट ट्रबल का.
दिल का दौरा आने वाला हो तो पहले उल्टी हो जाता है और बेचैनी महसूस होती है. अगर ऐसा हुआ तो फ़ौरन डॉक्टर से चेकअप करवाए ताकि दिल का दौरा पड़ने से पहले ही ट्रीटमेंट हो सके.

घबराया दिल 

दिल घबराया घबराया सा लगता है बिना किसी के कारण के तो यह भी एक निशानी है की दौरा बहुत दूर नहीं है. ख़ास कर के रात मे ऐसा हो तो सावधान हो जाए.

*नोट : ऊपर दिए गए लक्षण सामान्य बीमारी के भी हो सकते हैं इसलिए घबराएं नहीं, धैर्य से काम लें और अपने नजदीकी चिकित्सक से अवश्य परामर्श कर लें।

👉 इसे भी पढ़ें : ये चमत्कारी उपाय गठिया, जोडों और घुटनों के दर्द को दूर कर बुढ़ापे में भी जोड़ो में चिकनाई बनाये रखता

दोस्तों आज हमने आपको Heart Attack Ke Lakshan in Hindi, heart attack kya hai, heart se kaise bache in hindi, heart attack ko kaise pahchane in hindi, dil ka daura इस विषय पर पूरी जानकारी दी| मुझे उम्मीद हैं, कि ये जानकारी आपके काम की होगी| हमारी पोस्ट आपको कैसी लगी और आपने हमारी पोस्ट से किस प्रकार लाभ उठाया, इसके बारे में आप हमें कमेंट करके जरूर बताये| हमें कमेंट करने के लिए पोस्ट के निचे बने कमेंट बॉक्स में जाये|

Leave a Reply