किडनी ख़राब होने का कारण इन हिंदी

किडनी खून को साफ़ करने का काम करता हैं और मूत्र के माध्यम से अपशिष्ट पदार्थो को छानने में शरीर की सहायता करते हैं। किडनी का एक अन्य प्राथमिक कार्य शरीर से अतिरिक्त पानी निकालना है। लेकिन इन 3 मुख्य गलतियों के कारण हम अपनी किडनी को ख़राब कर रहे है, जिसे हमें जानना चाहिए।

आइये जानें किडनी को ठीक करने के उपाय, क्रोनिक किडनी डिजीज के लक्षण, किडनी में दर्द, किडनी में सूजन, गुर्दे की बीमारी का इलाज, गुर्दे की विफलता के लक्षण, एक किडनी खराब, पुरुषों में गुर्दे की समस्याओं के लक्षण, किडनी के खराब होने का प्रमुख कारण, किडनी खराब।

1. कम पानी का सेवन

किडनी का मुख्य कार्य शरीर से अपशिष्ट पदार्थो को निकालना और एरिथ्रोसाइट उत्पादन को नियंत्रित करना है। जब शरीर में पर्याप्त पानी नहीं होता है, तो किडनी में कम रक्त प्रवाह होता है क्योंकि रक्त केंद्रित हो जाता है, इससे शरीर की विषाक्त पदार्थों को खत्म करने की किडनी की क्षमता पर रोक लगती है, और शरीर में अधिक विषों का मतलब है कि अधिक स्वास्थ्य समस्याएं हैं। एक स्वस्थ वयस्क को कम से कम 10 से 12 गिलास पानी रोजाना पीना चाहिए।

2. ज्यादा नमक का सेवन

नियमित रूप से बहुत अधिक नमक खाने से आपकी किडनी को बहुत नुकसान हो सकता है। जब नमक का सेवन अधिक होता है, तो अतिरिक्त नमक को हटाने के लिए किडनी को कठिन काम करना पड़ता है। इसके बदले में किडनी की कार्यप्रणाली कम हो सकती है, जिससे शरीर में अपशिष्ट पदार्थो की वृद्धि हो सकती है।

3. नींद की कमी

व्यस्त जीवन शैली के कारण, कई लोग नींद के महत्व की अनदेखी करते हैं, आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए दैनिक 6 से 8 घंटे की नींद महत्वपूर्ण है। अध्ययनों से यह भी पता चलता है कि कम नींद लेने से किडनी की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है।

■  दस्त रोकने और पेट की मरोड़ का इलाज के 10 आसान उपाय

दोस्तों किडनी खराब होने के संकेत, Kidney disease symptoms in hindi, गुर्दे की विफलता के लक्षण का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास kidney rog ke lakshan, kidney bimari ka karan in hindi के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

1 COMMENT

Leave a Reply