acute-sinusitis-treatment-777x437

यदि सिर में दर्द,कफ का गाढ़ा होना, पूरे चेहरे में दर्द होना, नाक का बहना, ठंड लगना, बेचैनी होना, गले में दर्द बने रहना, आंखों में लालिमा आना, जबड़ों में दर्द होना, सीने में कफ जमना, बंद नाक रहना, सांस से बदबू आना, बुखार रहना और बहुत जल्दी किसी भी काम के बाद थकान लगना आदि साइनसाइटिस के शुरूआती लक्षण हो सकते हैं।

   छाती और गले में जमे कफ से 1 दिन में राहत दिलाते हैं ये 3 चमत्कारी घरेलु उपाय , एक बार इस्तेमाल किया तो फिर नहीं होगी खांसी

साइनसाइटिस की बीमारी में नाक की हड्डी बढ़ जाती है और सांस लेने में इंसान को दिक्कत आने लगती है। ऐसे में जब धुंआ और हवा नाक में जाती है तब इंसान को बहुत पेरशानी होने लगती है।

साइनसाइटिस रोग के कारगर घरेलू नुस्खे

साइनसाइटिस का रोग आयुवेर्दिक घरेलू नुस्खों के जिरए ठीक हो सकता है। आइये जानते हैं इस रोग का उपचार-

योग को अपनाएं

योग में हर बीमारी का इलाज होता है। साइनसाइटिस एक सांस से संबंधित बीमारी है। इसलिए इस रोग को ठीक करने के लिए कपालभाती प्राणायाम करना चाहिए। जो साइनसाइटिस की समस्या को को जड़ से ठीक कर देता है।

Kapalbhati-Pranayam

■   यूरिक एसिड बढ़ने का कारण, लक्षण और इसको सिर्फ 2 सप्ताह में कंट्रोल करने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय

अजवाइन का प्रयोग

साइनसाइटिस की बीमारी में अजवाइन एक कारगर घरेलू औषधि है।

कैसे करें अजवाइन का प्रयोग

सबसे पहले आप अजवाइन की तीन बड़ी चम्मच लें और उसे एक तवे पर भूने।

अब किसी सूती कपड़े में इन भुने हुए अजवाइन के दानों को डालकर इसे बांध लें। और इसे थोड़ा सा ठंडा होने दें।

साइनसाइटिस की वजह से आपको चेहरे व जबड़े में जिस भी हिस्से में दर्द हो रहा हो उस जगह पर हल्का.हल्का इसे रखें। इस उपाय से साइनसाइटिस के दर्द से बहुत ज्यादा आराम मिलता है।

Ajwain

मेथी की चाय

मेथी की चाय में मौजूद गुण साइनसाइटिस की बीमारी की रोकथाम करते हैं। चाय आप जैसे बनाते हैं वैसे ही बनाएं बस उसमें मेथी के कुछ दानों को भी डाल लें। और इस चाय का नियमित सेवन करें। मेथी के दानों की चाय साइनसाइटिस के दर्द में भी राहत देती है।

methi ke fayde fenugreek seeds benefits in hindi

■   दूध में सिर्फ 1 तुलसी का पत्ता इन 5 असाध्य रोगो का काल है, चाहे कैंसर हो या हार्ट अटैक की समस्या

तुलसी का उपयोग

काली मिर्च के चूर्ण को तुलसी के पत्तों में डालकर इसे दिन में दो से तीन बार सेवन करें। इस उपाय से साइनसाइटिस रोग मे राहत मिलती है।

साइनस की बीमारी से परेशान लोगों को शहद को तुलसी के रस में डालकर इसका सेवन करना चाहिए। इससे सांस लेने में आ रही परेशानी दूर हो जाती है।

तुलसी का अन्य घरेलू नुस्खा

काली मिर्च के दस दाने
एक गिलास पानी
15 तुलसी के पत्ते
और अदरक

इन तीनों को अच्छी तरह से मिक्सर या सिलबट्टे पर पीस कर चूर्ण बना लें और इसको एक गिलास पानी में डालकर तब तक उबालें जब तक यह आधा न रह जाए। इसके बाद इसे छानें और हर एक घंटे के बाद इसे पीते रहें। यह उपाय साइनसाइटिस के रोग को ठीक करता है।

tulsi ke fayde basil benefits in hindi

■   ये है संजीवनी काढ़ा – अगर किडनी फेल हो चुकी है? तो आपकी किडनी को नया जीवन दे सकता है

जीरे का काढ़ा

हर घर में जीरा मौजूद रहता है। जीरे में प्राकृतिक गुण होते हैं और यह भी साइनसाइटिस का इलाज करता है।

कैसे बनाएं जीरे का काढ़ा

बहुत ही आसान तरीके से बना सकते हैं जीरे का काढ़ा। इसके लिए आपको थोड़ा अदरक
जीरे की एक छोटी चम्मच
तुलसी के पत्ते
और एक बड़ा गिलास पानी

सबसे पहले आप एक गिलास पानी काे उबालें और इसमें अदरक, तुलसी के पत्ते और जीरे को डाल दें। और फिर इसे छानकर गुनगुना करके इसका सेवन करें। यह उपाय आपको साइनसाइटिस के दर्द में राहत देगा।

jeera ke fayde cumin seeds benefits

गरम पानी

साइनसाइटिस के रोगियों को चाहिए कि वे हमेशा गरम या गुनगुना पानी पीएं।

garam pani ke fayde warm water benefits in hindi

■   सिर्फ़ 7 रातों तक सोते वक़्त अजवायन को चबाकर ऊपर से गरम पानी पीने के फ़ायदे जान हैरान रह जाओगे

नीलगीरी का तेल भाप

आसानी से बाजार में मिल जाता है नीलगीरी का तेल। ये तेल एंन्टीसेप्टिक और बैक्टिरिया रोधी गुण होते हैं। जो साइनसाइटिस के उपचार में काम आते हैं।

कैसे इस्तेमाल करें नीलगीरी तेल का

आप सबसे पहले किसी बर्तन में नीलगीरी तेल के दो से तीन बूंदे डालें और फिर इसको सूघें। या भप लें। इस उपाय से साइनसाइटिस से होने वाला कफ और दर्द ठीक हो जाएगा।

nilgiri-tel

भाप लें

साइनसाइटिस का एक और घरेलू नुस्खा है भाप

किसी बर्तन में पानी को गर्म करें और उसमें काली तुलसी के पत्तों को डालकर उसका भाप लें। इस घरेलू उपाय से साइनसाइटिस के दर्द और कफ से राहत मिलती है।

Steam-Inhale

इन आसान घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप साइनसाइटिस रोग से राहत पा सकते हो। लेकिन इसके लिए इस बात का ध्यान जरूर रखें कि जो भी उपाय आप कर रहे हो वे नियमित रूप में हो। जिससे जल्दी से यह बीमारी ठीक हो सके।

■   कमर दर्द दूर करने के 5 आसान घरेलू उपाय – Back pain treatment in hindi
Loading...

Leave a Reply