इन दिनों एक ट्रेंड सा बन गया है कि खाने की चीज़ें ज्यादा देर तक गरम रखने के लिए लोग एल्युमिनियम फॉयल का इस्तेमाल बड़े ही जोरो से कर रहे हैं। सुबह सुबह अपने बच्चों के लिए या पति के लिए लंच बॉक्स तैयार करती मां व बीवी अपने हाथों से बनाए स्वादिष्ठ गरमा गरम पराठे एल्युमिनियम फॉयल में ही तो पैक करती हैं ताकि उनके जान से प्यारे बच्चे और पति देव देर से ही सही पर गरमा गरम खाना जरूर खाए। ऐसे में किसी की मां तो किसी की पत्नी यह भूल जाती हैं कि अपने जान से प्यारे बच्चों और पति को वह खाना के साथ जहर भी पैक कर के दे रही हैं। क्यों सोच में पड़ गए ना कैसे? आगे पढ़ें तब पता चलेगा क्यों और कैसे का जवाब…

अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो रोटी या पराठे को गर्म रखने के लिए एल्युमिनियम फॉयल का इस्तेमाल करते हैं, तो सावधान हो जाइए। बीते कुछ सालों में एल्युमिनियम फॉयल का प्रयोग काफी तेज़ी से बढ़ा है। रोटी या पराठे को इसमें लपेटते समय हमें यही लगता है कि इसमें रखी चीजें सेफ और फ्रेश बनी रहेंगी लेकिन सच्चाई इससे हट कर है…

शायद यह बात जानकर आपके होश उड़ जाएंगे लेकिन सच यही है कि एल्युमिनियम फॉयल में रखा खाना सेहत के लिए खतरनाक हो सकता है। जी हां, जब हम किसी गर्म चीज को इसमें लपेटते हैं तो एल्युमिनियम गर्म हो जाता है और इसमें प्रतिक्रिया शुरू हो जाती है, जिसके चलते एल्युमिनियम के कुछ अंश खाने में भी मिल जाते हैं और खाने को जहर बना देते हैं।

aluminium foil

यूं तो हम सभी के घर में किसी न किसी रूप में तो एल्युमिनियम फॉयल का इस्तेमाल होता ही है लेकिन एल्युमिनियम का बहुत अधि‍क इस्तेमाल आपके हड्डिॉयों को कमजोर बना सकता है।

ऐसे में बहुत जरूरी है कि एल्युमिनियम फॉयल का इस्तेमाल करते वक्त नीचे दिए जा रहे इन बातों का ध्यान सबसे ज्यादा रखें :

एल्युमिनियम फॉयल पेपर में बहुत गर्म खाना रैप नहीं करें क्योंकि ऐसे में एल्युमिनियम पिघलकर खाने में मिल जा सकता है। ऐसा होने से अल्जाइमर और डिमेंशिया होने का खतरा भी बढ़ सकता है। इसके साथ ही यह भी जरूरी है कि आप अच्छी क्वालिटी के फॉयल पेपर का इस्तेमाल करें।

ध्यान रखें : एसिटिक चीजों को फॉयल पेपर में रखने से बचें क्योंकि इससे चीजें जल्दी खराब हो सकती हैं या फिर उनका केमिकल बैलेंस भी बिगड़ सकता है।

 
Loading...

NO COMMENTS

Leave a Reply