व्रत के दौरान फलाहारी भोजन का एक अच्छा विकल्प होने के साथ साबूदाना आपके शरीर के पोषण की जरूरतों को भी पूरा करने में भी मदद करता है। पाचन समस्‍याओं को रोकने से लेकर स्‍वस्‍थ गर्भावस्‍था तक, अपनी सभी स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को आप इस स्‍टार्च पर छोड़ दें।

■   सूर्य मुद्रा : 5 मिनट में करें कोलेस्ट्रॉल कम और पाएं पाचन संबंधी सभी समस्याओं से छुटकारा

कई लोग, विशेष रूप से भारतीय परिवार, साबूदाने के रूप में जाना जाने वाले टैपिओका को अपनी रसोई में रखना पसंद करते हैं। साबूदाना एक खाद्य पदार्थ है। यह छोटे-छोटे मोती की तरह सफेद और गोल होते हैं। इसका प्रयोग पापड़, खीर और खिचड़ी बनाने में होता है। साथ ही सूप और अन्य चीजों को गाढ़ा करने के लिये भी इसका उपयोग किया जाता है। व्रत के दौरान साबूदाना फलाहारी भोजन का एक अच्छा विकल्प है। साबूदाना में कार्बोहाइड्रेट की प्रमुखता होती है और इसमें कुछ मात्रा में कैल्शियम व विटामिन सी भी होती है। दक्षिण अमेरिका और ब्राजील जैसे देशों में साबूदाना दुनिया भर में सबसे अधिक बिकने वाले पौधों में से एक है। यह यहीं खत्म नहीं होता! इस स्टार्च जड़ के कई स्वास्थ्य लाभ है। उनमें से कुछ की जानकारी यहां दी गई है।

साबूदाने के लाभ –

मांसपेशियों की वृद्धि

अगर आप शाकाहारी हैं और प्रोटीन के अच्‍छे स्रोत की तलाश में है, तो साबूदाना आपकी इस समस्‍या का हल हो सकता है। इसमें प्रोटीन की भरपूर मात्रा मांसपेशियों में वृद्धि और उन्हें मजबूत बनाने में मदद करती है। इसके अलावा, इसमें मौजूद प्रोटीन घाव भरने की प्रक्रिया और अन्‍य कोशिकीय कामकाज को बढ़ावा देने में मदद करता है।

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

पाचन में आसान

साबूदाना आपके पाचन तंत्र के लिए भी बेहद फायदेमंद होता है। यह कब्ज, अपच, सूजन और पेट फूलना जैसी पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में मदद करता हैं। इसके अलावा यह आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी नियं‍त्रण में रखता हैं।

■   ख़राब पाचन शक्ति ठीक करने के 5 आसान घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

जन्मजात दोष से लड़ें

साबूदाने में मौजूद फोलिक एसिड और विटामिन बी कॉम्‍प्‍लेक्‍स भ्रूण के समुचित विकास में मदद करता है। इसके नियमित सेवन से जन्मजात दोष, न्यूरल ट्यूब दोष रोका जा सकता है।

रक्तचाप को नियंत्रित

साबूदाने का इस्‍तेमाल, रक्‍तचाप को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। इसमें मौजूद पोटेशियम रक्‍त के स्‍वस्‍थ प्रवाह को बढ़ाकर हृदय के तनाव को कम करता है।

एनर्जी का स्‍तर

ज्‍यादातर लोगों का मानना है कि दिन भर काम करने के बाद एनर्जी के स्‍तर में कमी हो जाती है। लेकिन अपने आहार में साबूदाने को शमिल कर आप इस भावना से लड़ सकते हैं। साबूदाना में कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में होता है और फैट्स कम होता है इसलिए इसके सेवन से शरीर के तुरंत ऊर्जा मिलती है।

■   एनर्जी और स्टैमिना कैसे बढ़ाये 10 उपाय – Body energy tips in hindi

हड्डी स्वास्थ्य

साबूदाने में मौजूद कैल्शियम, आयरन और विटा‍मिन ‘के’ हड्डी स्वास्थ्य को बनाए रखने और लचीलेपन में सुधार के लिए बेहद फायदेमंद होता है। कठोर गतिविधियों से भरे दिन के बाद थकान से लड़ने में भी मदद करता है।

हमारे यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करने के लिए लाल रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/30t2sCS

वजन बढ़ाने में मददगार

अगर आपका वजन बहुत कम हैं और आप वजन को बढ़ाना चाहते हैं तो साबूदाना आपकी इस जरूरत को पूरा कर सकता है। कार्बोहाइड्रेट से भरपूर, साबूदाना के सेवन से आप जल्‍द ही वजन बढ़ा सकते हैं। ईटिंग डिसऑर्डर से पीड़ि‍त लोगों के लिए साबूदाना एक अच्‍छा विकल्‍प हो सकता है।

■   सिर्फ 2-3 खजूर आपके शरीर को फौलाद बना देगी, कब्ज, वजन बढ़ाना, सुखी खाँसी आदि 200 रोगों का रामबाण

6 COMMENTS

  1. […] के सभीं अंगों में भेज देता है। इससे पाचन क्रिया में शामिल अंग भी तेज़ काम करने लगते […]

  2. […] दूसरे  को संकेत देने से हमारे शरीर की पाचन क्रिया में सुधार आता हैं और हमारा ध्यान खाने […]

  3. […] फाइबर के कारण इसके नियमित सेवन से पाचन क्रिया भी सुचारु रहती है। अत: जिन लोगों को […]

Leave a Reply