मूंगफली और गुड़ की चिक्की खाने के फायदे इन हिंदी

लोग मूंगफली और गुड़ की चिक्की को ठंड के मौसम में खाना ज्यादा पसंद करते है। स्वादिष्ट होने के अलावा मूंगफली और गुड़ की चिक्की हमारे स्वस्थ के लिए भी अच्छी होती है क्योंकि मूंगफली और गुड़ की चिक्की विटामिन, आयरन और खनिज का एक अच्छा स्रोत है। मूंगफली और गुड़ की चिक्की बनाने में गुड़ का भी इस्तेमाल होता है और गुड़ के सेवन से हमारा शरीर गर्म रहता है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप मूंगफली और गुड़ की चिक्की को बड़ी आसानी से अपने घर में भी बना सकते हैं। आइये जानते है मूंगफली और गुड़ की चिक्की के सेवन से होने वाले फायदो के बारे में…

मूंगफली से होने वाले फायदे

Health Benefits Of Peanuts In Hindi

मूंगफली हमारे पेट के विकारों को समाप्त करता है, इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या समाप्त हो जाती है। इसके अलावा मूंगफली के सेवन से गैस और अम्लता की समस्या में भी राहत मिलती है।

मूंगफली गीली खाँसी में उपयोगी होती है, साथ ही इसके सेवन से पाचन शक्ति भी बढ़ जाती है।

सर्दियों में आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होता है गुड़ का सेवन मूंगफली में तेल का अंश होने से यह पेट की बीमारियों को खत्म करती है। इसके नियमित सेवन से कब्ज की समस्या नहीं होती है। साथ ही, गैस व एसिडिटी की समस्या से भी राहत मिलती है।

👉 इसे भी पढ़ें : गैस और कब्ज की बिमारी से पाएं जड़ से छुटकारा, पुराने से पुराने रोग में भी है लाभदायक

मूंगफली गीली खांसी में भी उपयोगी है। इसके नियमित सेवन से आमाशय और फेफड़ों को मजबूती मिलती है। पाचन शक्ति को बढ़ाती है और भूख न लगने की समस्या भी दूर होती है।

मूंगफली का नियमित सेवन गर्भवती स्त्री के लिए भी बहुत अच्छा होता है। यह गर्भावस्था में शिशु के विकास में मदद करती है।

मूंगफली में ओमेगा-6 फैट भी भरपूर मात्रा में मिलता है, जो स्वस्थ कोशिकाओं और अच्छी त्वचा के लिए जिम्मेदार है। इसलिए मूंगफली स्किन के लिए बेहद फायदेमंद होती है।

मूंगफली कोलेस्ट्रॉल की मात्रा को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाती है। एक शोध से यह भी पता चला है कि सप्ताह में पांच दिन मूंगफली के कुछ दाने खाने से दिल की बीमारियां होने का खतरा कम रहता है।

खाने के बाद यदि 50 या 100 ग्राम मूंगफली रोजाना खाई जाए तो सेहत बनती है, भोजन पचता है, शरीर में खून की कमी नहीं होती है।

इसे खाने से कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल में रहता है। कोलेस्ट्रॉल की मात्रा में 5.1 फीसदी की कमी आती है। इसके अलावा कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल (एलडीएलसी) की मात्रा भी 7.4 फीसदी घटती है।

👉 इसे भी पढ़ें : 15 दिन में बढ़ी हुई धड़कन, बीपी या कोलेस्ट्रॉल हो सकता है सही इस प्रयोग से!!

प्रोटीन, लाभदायक वसा, फाइबर, खनिज, विटामिन और एंटीआक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसलिए इसके सेवन से स्किन उम्र भर जवां दिखाई देती है।

इसमें कैल्शियम और विटामिन डी अधिक मात्रा में होता है, इसलिए इसे खाने से हड्डिया मजबूत हो जाती है।माना जाता है कि रोजाना थोड़ी मात्रा में मूंगफली खाने से महिलाओं और पुरुषों में हार्मोन्स का संतुलन बना रहता है।

गुड़ से होने वाले फायदे

Health Benefits Of Jaggery In Hindi

ठंड से बचाएं 

र्दियों में गुड़ का उपयोग आपके लिए फायदेमंद होगा, सर्दिओ में गुड़ के सेवन से हमें गर्मी प्रदान होती है।

👉 इसे भी पढ़ें : लगातार 7 दिनो तक रात को सोने से पहले थोड़ा सा गुड़ खाएं और देखें इसका कमाल

विषाक्त पदार्थों से बचाएं

र्दियों के दिनों में रोज 10 ग्राम गुड़ के सेवन से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। साथ ही गुड़ आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी मदद करता है।

रक्त साफ़, पाचन क्रिया, गैस की समस्या, पेट को ठंडक, मेटाबोलिज्म

गुड़ पाचन क्रिया को सही रखता है। गुड़ शरीर का रक्त साफ़ करता है और मेटाबोलिज्म ठीक करता है। रोज़ एक गिलास पानी या दूध के साथ गुड़ का सेवन पेट को ठंडक देता है। इससे गैस की समस्या नहीं होती। जिन लोगों को गैस की परेशानी है वो रोज़ लंच या डिनर के बाद थोड़ा गुड़ ज़रूर खाएं।

एनीमिया 

गुड़ आयरन का मुख्य स्त्रोत है. इसलिए यह एनीमिया के मरीजों के लिए बहुत फ़ायदेमंद है. खासतौर पर महिलाओं के लिए इसका सेवन बहुत अधिक ज़रूरी है।

त्वचा, टॉक्सिन दूर, मुंहासे 

त्वचा के लिए गुड़ बहुत लाभकारी होता है. गुड़ ब्लड से ख़राब टॉक्सिन दूर करता है, जिससे त्वचा दमकती है और मुंहासे की समस्या नहीं होती है।

जुकाम और कफ़ 

इसका सेवन जुकाम और कफ़ से आराम दिलाता है। जुकाम के दौरान अगर आप कच्चा गुड़ नहीं खाना चाहते हैं तो चाय या लड्डू में भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

👉 इसे भी पढ़ें : कैसी भी हो खासी या फिर छाती पर कफ जम गया हो अपनाएं ये रामबाण उपाय, पूरी तरह सुरक्षित

थकान और कमज़ोरी 

बहुत ज़्यादा थकान और कमज़ोरी महसूस करने पर गुड़ का सेवन करने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है। गुड़ जल्दी पच जाता है और इससे शुगर का स्तर भी नहीं बढ़ता।

टेम्परेचर को नियंत्रित, दमा

गुड़ शरीर के टेम्परेचर को नियंत्रित रखता है. इसमें एंटी एलर्जिक तत्व मौजूद होते हैं इसलिए दमा के मरीजों के लिए इसका सेवन काफी फ़ायदेमंद साबित होता है।

जोड़ों के दर्द 

गुड़ जोड़ों के दर्द से भी आराम दिलाता है। रोज़ गुड़ के एक टुकड़े के साथ अदरक का सेवन करने पर जोड़ों के दर्द से छुटकारा मिल जाएगा।

ब्लड प्रेशर

गुड़ में अधिक मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है जो ब्लड प्रेशर को कंट्रोल रखने में सहायता करता है।

👉 इसे भी पढ़ें : प्राकृतिक चमत्कार है ये नुस्खा उच्च रक्तचाप को जीवन भर के लिए खत्म करने में
Loading...

Leave a Reply