ज्यादा नमक भले ही ज्यादा टेस्ट देता हो, लेकिन इससे हो सकती है कई बीमारियां।

कम नमक खाने से भले ही टेस्ट थोड़ा कम आए लेकिन ये आपके दिल, फेफड़ों, किडनी और दूसरे अंगों के लिए अच्छा है। थोड़ा-सा ज्यादा नमक तुरंत आपको कोई नुकसान तो नहीं पहुंचाएगा, लेकिन ज्यादा नमक खाना अगर आपकी आदत में शुमार है तो एक वक्त बाद ये आपको कई तरह के नुकसान पहुंचा सकता है। आइये जानें कैसे:

ब्लड प्रेशर बढ़ना

शरीर में जितना ज्यादा नमक होगा उसे घुलने के लिए उतना फ्लूड चाहिये होगा, ऐसे में कोशिकाएं पानी सोख लेती हैं और खून का क्षेत्रफल बढ़ जाता है। इससे धमनियों और दिल को ज्यादा ब्लड पंप करना पड़ता है। थोड़े वक्त के बाद धमनियां अकड़ने लग जाती हैं जिससे कि ब्लड प्रेशर बढ़ जाता है।

blood pressure

हड्डियां कमज़ोर करे

ज्यादा नमक आपकी हड्डियों से कैल्शियम छीन सकता है जो यूरीन के रास्ते शरीर से बाहर निकल जाता है। इससे हड्डियां कमज़ोर हो जाती हैं और आसानी से टूट जाती हैं। अगर आपको ज्यादा नमक खाने से हाइपरटेंशन हो चुका है तो आपको ऑस्टियोपोरोसिस होने के चांस और बढ़ जाते हैं।

स्ट्रोक का जोखिम बढ़ता है

हाई ब्लड प्रेशर स्ट्रोक और दूसरी कार्डियोवस्क्यूलर बीमारियों का जोखिम बढ़ाता है। नमक ही ब्लड प्रेशर को ऊपरी लेवल तक ले जाता है। इसलिए आपको अपने सोडियम की खुराक पर नजर रखनी चाहिए।

किडनी को नुकसान

नमक आपके लिए सफेद ज़हर भी साबित हो सकता है, इससे आपकी किडनी डैमेज हो सकती है खासतौर पर तब जब आपको हाई बीपी या डायबिटीज हो। ज्यादा नमक लेने से शरीर में पानी बढ़ने के साथ-साथ टॉक्सिन भी बढ़ते हैं, उन्हें शरीर से बाहर निकालने के लिए किडनी को ज्यादा काम करना पड़ता है। एक वक्त के बाद किडनी कमज़ोर पड़ जाती है।

पेट के कैंसर का कारण

अगर आपके नमक में नाइट्रेट ज्यादा है तो ये आपके पेट के लिए अच्छा नहीं है। बहुत ज्यादा नाइट्रेट से पेट के अल्सर का खतरा पैदा होता है। इसके अलावा नाइट्रेट पेट के अंदरूनी हिस्से को डैमेज करता है, आगे चलकर यही पेट के कैंसर की वजह बनता है।

cancer

डायबिटीज़ और बिगाड़े

डायबिटीज़ और हाइपरटेंशन एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। ज्यादा नमक के कारण हाइपरटेंशन होता है, और इससे आपका ब्लड शुगर लेवल भी प्रभावित होता है।

एडीमा का जोखिम

बहुत ज्यादा नमक लेने से एडीमा हो सकता है जिसमें पैरों, हाथों और शरीर के दूसरे हिस्सों में सूजन आ जाती है। एडीमा अपने आप में घातक बीमारी नहीं है लेकिन ये आने वाली बीमारियों का संकेत हो सकती है।

आपको मोटा बनाए

नमक सीधे-सीधे मोटापा नहीं बढ़ाता लेकिन मोटे लोगों को नमकीन चीज़ खानी बहुत पसंद होती है। इससे प्यास लगती है, शरीर में पानी बढ़ता है तो वॉटर रिटेंशन होता है, जिससे शरीर सूज जाता है।

मस्तिष्क को नुकसान पहुंचाए

आपने ये कभी सोचा ही नहीं होगा लेकिन ज्यादा नमक से डीमेंशिया हो सकता है। कुछ अध्ययनों में ये बात सामने आई है कि तीन साल तक हाई सोडियम डायट लेने से संज्ञानात्मक क्षमता (cognitive functions) में कमी आती है।

Loading...

Leave a Reply