आज हम आपको एक ऐसी सब्जी के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके सेवन से आप 3 दिनों में अपने शरीर की आतंरिक सफाई कर सकते हैं। आइये जानते हैं कौन सी सब्जी है वो –

■   ये पौधा गठिया, यूरिक एसिड और लिवर के लिए किसी वरदान से कम नही

लौकी(घिया) यह नाम इसके आकार की वजह से आता है। इसमें 92% पानी होता हैं। कई लोग लौकी की सब्जी और व्यंजन खाना पसंद नहीं करते | यह सब्जी भारतीय खाने में नजरअंदाज की गयी सब्जी है।

लौकी का स्वाद अद्भुत है। अपने स्वाद के साथ साथ, इसके विविध स्वास्थ्य लाभ भी हैं । बाजार में इसकी कई किस्म जैसे हुक़्क़ुम लौकी, घिया, लौकी, दूधी उपलब्ध हैं । यह बाहर से हरा होता है और इसकी परत मोम की तरह होती है | काटने पर अन्दर यह सफेद और नरम होता है । कुछ लोग इसका सूप पीते  हैं।

■   सोते समय कान में प्याज़ रखने से होते ये अद्भुत फ़ायदे, आप भी जानिए

लौकी जिसे घीया भी कहा जाता है, हमारी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। इसमें कई एैसे गुण होते हैं जो हमें कई गंभीर रोगों से बचाते है। आप में से बहुत लोग स्वाद के कारण लौकी खाने से परहेज करते हैं लेकिन जब आपको लौकी के गुणों के बारे में पता लगेगा तो आप इसका सेवन सब्जी या जूस के रूप में करने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

आपका स्वास्थ्य को बढ़ाने में लौकी

लौकी आपकी त्वचा, बाल और अपने पूरे सिस्टम के लिए अद्भुत काम करती हैं। हम लौकी के औषधीय लाभ में से कुछ पर नजर डालते हैं-

वर्कआउट के बाद पीना फायदेमंद

आप वर्कआउट के बाद जिस प्रोटीन शेक को पीते हैं, उसकी जगह लौकी के जूस को पीकर देखिये। लौकी के जूस में मौजूद नैचुरल शुगर न सिर्फ ग्लाइकोजीन (glycogen) स्तर को बनाए रखती है बल्कि वर्कआउट के दौरान शरीर में कार्बोहाइड्रेट की जो कमी पैदा होती है उसे भी पूरा करती है। इसमें प्रोटीन काफी मात्रा में होता है इसलिए ये मांसपेशियों की क्षमता भी बढ़ाता है।

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

■   बाल काले करने का सबसे सस्ता घरेलु उपाय, सैकड़ों साल पुराना है यह तरीका

त्वचा संक्रमण के लिए अलविदा

लौकी का तेल स्राव को कम करने, मुँहासे और त्वचा संक्रमण में लाभदायक रहता है। इस प्रकार, यह न केवल आपके दांत, बाल और शरीर के लिए बल्कि आपकी त्वचा मुसीबतों के इलाज के लिए भी अच्छा है।

यूटीआई से निपटने में मदद करे

अगर आपको यूरीन के दौरान जलन या दर्द महसूस होता है तो आपको ज़रूरत है हर सुबह लौकी का जूस पीने की। क्योंकि ऐसा यूरीन में एसिड की मात्रा बढ़ने पर होता है और लौकी के जूस से मिलने वाली ठंडक एसिड के असर को कम कर देती है।

सनटैन से छुटकारा दिलाए

अगर आप चाहते हैं कि आप सनटैन से बचे रहें, तो भी लौकी का जूस आपके काम आ सकता है। इसके नेचुरल ब्लीचिंग तत्व टैन त्वचा को लाइट करते हैं। साथ ही ये अच्छा मॉश्चराइज़र भी है। दिन में 3-4 बार टैनिंग वाले स्थान पर लौकी का जूस लगाने से लाभ मिलता है।

■   पेट रोग, त्वचा रोग और आंखों के रोगों का रामबाण और अचूक इलाज

यकृत रोग

लौकी जिगर की सूजन को रोकता है और रक्त शर्करा को कम करने और विषाक्त पदार्थों को दूर रख कर जिगर को समुचित रूप से कार्य करने में मदद करता है।

शरीर को डीटॉक्स करे

खाली पेट एक ग्लास लौका का जूस पीने से आपको ताज़गी और एनर्जी दोनों महसूस होती है। इस जूस में 98% पानी और एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं जो शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकाल देते हैं। इसे पीने से शरीर को ठंडक भी मिलती है।

ब्रोंकाइटिस और अस्थमा के लिए

हृदय रोगों का मुकाबला करने के अलावा, लौकी ब्रोंकाइटिस और अस्थमा को समाप्त करने के लिए एक इलाज के रूप में कार्य करता है।

वज़न घटाने में मददगार

क्या आपको मालूम है कि लौकी के जूस में कैलोरी और फैट बहुत कम होता है? इसलिए जो लोग वज़न घटाना चाहते हैं उनके लिए ये बहुत फायदेमंद साबित होता बै। इसमें मौजूद फाइबर देर तक आपको भूख नहीं लगने देती।

■   खाने में डालिए ये 5 चीज़े और बिना एक्सरसाइज़ के कीजिए पेट की चर्बी को कम

पीलिया और मधुमेह के इलाज

लौकी के पत्तों का रस पीलिया के इलाज में मदद करता है। लौकी भी मधुमेह के रोगियों और दस्त से पीड़ित लोगों के लिए बहुत अच्छा है।

अनिद्रा के इलाज

लौकी का रस और तिल का तेल मिलाकर हर रात सिर पर मालिश करने से अनिद्रा की समस्या दूर हो जाती है। अगर आप अनियमित नींद पैटर्न से पीड़ित हैं तो आप यह नुस्खा अपना सकते है ।

कब्ज़ से दिलाए राहत

अगर आपको कब्ज़ की शिकायत रहती है तो रोज़ सुबह लौकी का जूस पीने की आदत डाल लें। इसमें मौजूद हाई फाइबर आपके पाचन तंत्र को दुरुस्त रखते हैं। इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स भी होते हैं जो शरीर में इलेक्ट्रोलाइट बैलेंस बनाकर रखते हैं जिससे कि दस्त नहीं होते।

   सुबह पेट साफ करने और कब्ज़ को जड़ से ख़त्म करने के सबसे असरदार उपाय 

सहज पाचन

लौकी के प्रमुख लाभ में से एक लाभ पाचन सहजता है। लौकी पेट के लिए बहुत हल्का है और पाचन समस्याओं के विषय में लोगों के लिए आदर्श है। अघुलनशील फाइबर बवासीर में मदद करता है, जबकि लौकी में घुलनशील फाइबर इन समस्याओं से दूर करता है।

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

दांत और बालों के लिए

लौकी में कैल्शियम अत्यधिक मात्रा में होता है। दंत क्षय और बालों का समय से पहले सफ़ेद होने की समस्या के लिए अद्भुत रूप से काम करता है। आयुर्वेद कहता है कि लौकी का रस हर दिन लेने से यह त्वचा की खोयी हुई चमक को लौटाने में आपकी मदद करता है।

बाल झड़ने से रोके

अगर आप बाल झड़ने की समस्या से निपटने के लिए सब कुछ ट्राई कर चुके हैं, और तब भी फायदा नहीं हो रहा तो लौकी का जूस ट्राई करें। इसे तिल के तेल के साथ मिलाकर स्कैल्प पर लगाने से बाल झड़ना और गंजापन जैसी समस्याओं से राहत मिल सकती है। आयुर्वेद में ये बाल सफेद होने से बचाने के लिए भी एक अच्छा नुस्खा माना जाता है।

तनाव व अवसाद में राहत

लौकी के जूस में एक न्यूरोट्रांसमिटर कोलाइन (choline) बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है। ये मस्तिष्क की कोशिकाओं को ठीक से काम करने में मदद करता है जिससे कि मस्तिष्क पर दबाव नहीं पड़ता और अवसाद व तनाव जैसी स्थिति में लाभ होता है।

■   तनाव दूर करने के 10 आसान तरीके – Best Tips for Tension Free Life in Hindi

थकान कम कर देता

एक गर्मी बस्टर होने के नाते लौकी भी विशेष रूप से गर्मियों के दौरान थकान और तनाव को दूर करने में लाभदायक है।

रक्तचाप और हृदय की समस्याओं में

कई स्वास्थ्य विशेषज्ञों और नेचुरोपैथ का सुझाव है कि लौकी का रस पीने से से उच्च रक्तचाप और दिल के रोग धीरे धीरे दूर हो जाते है। सुबह सुबह खाली पेट एक गिलास पानी के साथ लौकी के एक कप रस के नियमित सेवन से उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम किया जा सकता है और दिल को स्वस्थ रखा जा सकता है।

लौकी का रस बनाने की विधि –

  • एक छोटी लौकी लीजिए जो कि वजन में लगभग 250 या 300 ग्राम हो।
  • अशुद्धता दूर करने के लिए लौकी की सतह को अच्छी तरह से धो ले ।
  • लौकी का छिलका उतार ले और इसे छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • एक छोटा सा टुकड़ा स्वाद पता लगाने के लिए चखे , यदि कड़वा स्वाद हो तो इसे न खाये ।
  • पांच या छह टकसाल के पत्तों जोड़ें।
  • पानी का एक कप और लौकी को जूसर में डाल दे ।
  • जूस में एक चम्मच जीरा पाउडर, काली मिर्च पाउडर और नमक की दो चम्मच स्वाद के लिए डालकर अच्छी तरह से हिलाओ।
  • स्वादानुसार बर्फ भी डाल सकते है।
  • लौकी का जूस पीने के लिए तैयार है।
■   3 दिन में पाएं शरीर और जोड़ो के दर्द से छुटकारा, पुरानी से पुरानी गठिया में भी है लाभकारी

लौकी जूस के सेवन के समय की सावधानियां-

  • लौकी का जूस पीते समय इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि इसके साथ किसी और चीज को मिक्स न करें।
  • लौकी का जूस बनाने के बाद उसे एक बार टेस्ट कर के देखें। यदि जूस कड़वा हुआ तो उसका सेवन न करें।
■   ये चमत्कारी उपाय गठिया, जोडों और घुटनों के दर्द को दूर कर बुढ़ापे में भी जोड़ो में चिकनाई बनाये रखता

Leave a Reply