turmeric milk

आमतौर पर हल्दी वाला दूध हेल्दी माना जाता है। दर्द होने पर, सर्दी-खांसी होने पर घरों में लोग सबसे पहले हल्दी वाला दूध पीने की सलाह देते हैं, जिसे लोग खुशी-खुशी पी भी लेते हैं। लेकिन ये हल्दी वाला दूध फायदे की जगह नुकसान पहुंचा सकता है। हल्दी की तासीर गर्म होती है और इसमें खून काे पतला करने का गुण होता है। इसलिए हर किसी को इसे नहीं लेना चाहिए। खासकर उन लोगों को जिनकी बॉडी गर्म रहती है या जिन्हें नाक से खून आना या पाइल्स जैसी प्रॉब्लम्स रहती हैं। यह ब्लीडिंग को बढ़ा देता है।

कई सारे पेट की मरीजों को भी हल्दी वाला दूध नुकसान पहुंचा सकता है। यहां हम आपको बता रहे हैं किन लोगों को हल्दी वाला दूध नहीं पीना चाहिए। अगर वे इसे पीना भी चाहते हैं तो उन्हें डॉक्टर से कंसल्ट करने के बाद ही इसे लेना चाहिए।

इस बारे में जब हमने आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉ अबरार मुल्तानी से बात की तो उन्होंने बताया कि हल्दी को हेल्दी हर्ब के रूप में देखा जा सकता है लेकिन ये सबके लिए हेल्दी नहीं होती। वैसे तो मसालों को छोड़कर कोई हल्दी खाता नहीं है लेकिन हल्दी वाला दूध सभी कॉमनली यूज करते हैं। गालब्लेडर स्टोन, प्रेग्नेंसी और ब्लीडिंग की प्रॉब्लम वाले लोगों को हल्दी खाना अवॉइड करना चाहिए।

जिन्हें गोलब्लेडर की प्रॉब्लम है

हल्दी वाला दूध ज्यादा पीने से गोलब्लेडर की प्रॉब्लम बढ़ सकती है

these-people-should-avoid-turmeric-milk

जो खून पतला करने वाली दवा ले रहे है

हल्दी में खून पतला करने वाले गुण होते है. पहले से दवा ले रहे हों तो खून ज्यादा पतला हो सकता है.

these-people-should-avoid-turmeric-milk

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें । हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

ग*र्भवस्था या पी*रियड के दौरान

हल्दी वाला दूध गर्म होता है और ब्लड को पतला करता है. इससे ज्यादा ब्लीडिंग हो सकती है

these-people-should-avoid-turmeric-milk

जिन्हें गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम है 

हल्दी वाला दूध गैस और एसिडिटी की प्रॉब्लम बढ़ा सकता है. एसिडिटी की दवा का असर कम कर सकता है.

these-people-should-avoid-turmeric-milk

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleजानिए सब औजार होने के बावजूद भी हमारे बुजुर्ग प्याज को फोड़ कर ही क्यों खाते थे
Next article14 से 60 वर्ष की आयु वाले कभी ना करे ये काम, अपनाएं ये दिनचर्या, हमेसा रहेंगे रोगमुक्त

1 COMMENT

Leave a Reply