Drinking-Water

जल जीवनरक्षक है। यह हमारे शरीर में प्रत्येक सेल का निर्माता है। मानव शरीर करीब 60 फीसदी पानी से ही बना है और मानव के अस्तित्व के लिए इसका मौजूद रहना भी बेहद जरूरी है। पानी हमारे जोड़ों को चिकनाहट देता है, शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति करता है, शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है, पाचन में मदद करता है, शरीर के विषैले पदार्थ को बाहर निकालता और कई अन्य तरीकों से मदद करता है।

स्वस्थ रहने के लिए दिन में कम से कम दो लीटर पानी पीना बेहद जरूरी है। इसके साथ ही ये भी जरूरी है कि हम इसका अधिक फायदा लेने के लिए दिन में सही समय पर पानी पीना भी बेहद जरूरी है। अगर आप भी स्वस्थ रहने के लिए सही समय पर पानी पीना शुरू कर दें तो आपकी सेहत भी दुरुस्त रहेगी। हम आपको बताने जा रहे हैं कि दिन में किस वक्त पानी पीना आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

सुबह उठने पर पीएं पानी

अपने दिन की शुरुआत एक ग्लिास पानी के साथ करिए। यह आपके शरीर से विषैले पदार्थ को बाहर निकालने में मदद करेगा और आपको पूरे दिन के लिए ऊर्जा देगा। सादा या फिर गर्म पानी पीएं लेकिन सुबह ठंडा पानी पीने से बचें।

खाना खाने से पहले

खाना खाने से पहले पानी पीने पर आपका पेट हल्का भरा रहेगा और इसके कारण आप जरूरत से ज्यादा पानी नहीं पीएंगे। खाने के वक्त से 30 मिनट पहले एक गिलास पानी आपके पेट की नलियों को नरम कर देगा। इसके साथ ही ये पहले खाए या पीएं गए फूड के स्वाद को भी साफ कर देगा। इसके साथ ही हमेशा खाना खाने के साथ पानी, कोल्ड ड्रिंक या शराब पीने से बचें।

जब आपको भूख लगे

जब हमें वास्तव में प्यास लग रही होती है तब हमें भूख लगती है। इसलिए जब आपको खाने के वक्त के बीच भूख लगे तो एक बडा गिलास पानी पीजिए। इससे आपका पेट तो भरेगा ही साथ ही डिहाईड्रेशन भी नहीं होगी।

वर्कआउट से पहले और बाद

डिहाईड्रेशन से बचने के लिए जरूरी है कि आप वर्कआउट से पहले और बाद में दो से तीन गिलास पानी पीएं। यह आपकी बॉडी में तरल पदार्थ के संतुलन को बनाए रखने में भी मदद करता है लेकिन कम समय में जरूरत से ज्यादा पानी पीने से बचें क्योंकि इससे आपके में पेट में क्रेंप आ सकता है।

जब आप बीमार हों

जब आप बीमार हों तब आपको पानी की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए। ये न केवल आपको हाईड्रेट करेगा बल्कि आपके शरीर से विषैले पदार्थ भी बाहर निकालेगा। ऐसा करने से आपको तेजी से उबरने में मदद मिलेगी।

जब आप थके हुए हों

अगर आप वास्तव में थके हुए हों और आपके पास आराम करने का समय नहीं है तो एक गिलास पानी पी लीजिए। आपको शायद पता नहीं होगा कि बेहोश होना डिहाईड्रेशन का एक संकेत होता है। पानी पीने से न केवल आपके दिमाग को गति मिलेगी बल्कि आपकी आंखे भी बंद होंगी।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleसुबह उठने पर भूलकर भी न करें ये 5 गलतियां वरना दिनभर रहेंगे सुस्त और आलसी

Leave a Reply