deafness

सुनने की शक्ति कम हो जाना इस बीमारी को बहरापन कहते है। लोगो में बहरापन अलग अलग कारणों से होता है। जैसे बढ़ती उम्र के साथ बहरापन हो जाता है, कान की हड्डी का बढ़ जाना, ज्यादा शोर वाली जगह पर काम करना, अधिक मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल और तेज आवाज में गाने सुनना और केंसर के कारण भी बहरापन हो सकता है। आज हम आपको ऐसी औषधि के बारे में बताने जा रहे है जिससे आपका बहरापन दूर किया जा सकता है।

■   बदहजमी और फूड पाइज़निंग का इलाज 10 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

ध्यान रखे

ये औषधि जानकारी देने से पहले हम आपको बता दे ये औषधि सब के लिए नहीं है ये औषधि बहरापन दूर करने के लिए तो सही है पर इसका इस्तेमाल करने से पहले मेडिकल प्रोफेसनल की सलाह जरुर लें।

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

जानते है इस चमत्कारी औषधि के बारे में

लहसुन और प्याज के रस से आप आपने बहरेपन का इलाज कर सकते है। बहरेपन को दूर करने के लिए प्याज को गुणकारी और असरदार औषधि माना गया। प्याज में पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट(anti oxidants) तेज आवाज जैसे की हवा के दबाव से या धमाके से हुए बहरेपन को ठीक करता।

ear problems

एक शोध में माना गया है जिन लोगो की सुनने की शक्ति धमाके के कारण चली गई हो प्याज और पानी के मिश्रण से सुनने की शक्ति में सुधार हुआ है।

जो लोग सुनने की शक्ति खो चुके थे उन्होंने लहसुन को अपने खाने में लेना शुरू किया और उनको बहुत ही अच्छे फायदे मिले। ऐसा माना जाता है के लहसुन सर्दी जुकाम में गुणकारी है, रक्तचाप को नियंत्रित करता है, कोलेष्ट्रोल को कम करता है, और लम्बी आयु प्रदान करता है।

लहसुन कान में खून के बहाव को बढ़ा कर और कान के उस हिस्से को जो आवाज़ को सन्देश में बदलने का काम करता है उसमे केमिकल गतिविधि पैदा करता है उसे दोबारा ठीक कर के कान के सुनने की शक्ति को वापस लाने में मदद करता है।

हमारे यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करने के लिए लाल रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/30t2sCS

हमारे यूट्यूब चैनल को SUBSCRIBE करने के लिए लाल रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/30t2sCS

■   माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के 10 रामबाण घरेलू नुस्खे और उपाय

मिश्रण तैयार करने के लिए सामग्री

लहसुन की 3-4 कलियाँ
एक बड़ा चम्मच जैतून का तेल
15 ml प्याज का रस

lasun-pyaaj

मिश्रण को बनाने की विधि

एक कप में जैतून के तेल को डालकर उसमे लहसुन की कलियों का रस मिला लें। अब दोनों प्याज के रस में मिलकर अच्छी तरह मिक्स कर लें। एक ड्रापर की मदद से कानो ने 3-4 बूंद डालें। दोनों कानो को रुई से ढक लें।

   गर्दन में दर्द का इलाज के 10 आसान घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

Leave a Reply