हल्‍दी का सेवन किसे नहीं करना चाहिए

दोस्तों आप सब जानते हो की हल्दी का सेवन करना बहुत आवश्यक है और ये हमारे शरीर को बहुत फायदा पहुंचाती है |हल्दी को आयुर्वेद में एक चमत्कारी औषधि के रूप में माना जाता है | हल्दी हमारे kitchen में मसालो में प्रयोग किये जाना वाला एक प्रमुख मसाला माना जाता है | और इसे शुभ कार्यो में भी हल्दी का प्रयोग किया जाता है

■  चेहरे पर दाने और फुंसी हटाने के 10 आसान उपाय और इलाज

शादी विवाह में तो हल्दी से एक रस्म भी पूरी की जाती है | हल्दी कई गुणों का खजाना है हल्दी में प्रोटीन ,कार्बोहैड्रेड ,खनिज द्रव ,विटामिन A व कुकुर्मिन पिट रंजक नामक द्रव भी पाया जाता है |

दोस्तों क्या आप जानते है आयुर्वेद में अगर हल्दी घर में हो तो इसे घर का वैद्य कहा जाता है | क्योकि इसे चोट लगने और कफ खांसी में प्रयोग किया जाता है | और इससे कई सौन्दर्य पदार्थ भी बनाये जाते है | जिसके प्रयोग से हमारी सुंदरता में चार चाँद लग जाते है |

हल्दी स्वाद में थोडा कड़वी व गर्म प्रवृत्ति की होती है | लेकिन आजकल के समय में भी हल्दी को घर का वैद्य कहा जाता है | इस तरह से हल्दी हमारे सेहत व सुंदरता में चार चाँद लगाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है पर कुछ परिस्तिथ्यो में इसका प्रयोग नहीं करना चाहिए नहीं तो इसका प्रयोग खतरनाक हो सकता है तो आइये दोस्तों हम आपको बताते की किन स्थितियों में हल्दी के प्रयोग में सावधानी बरतनी चाहिए :

हल्दी का प्रयोग कब नहीं करना चाहिए

When to Avoid Turmeric in Hindi

Haldi Ka Prayog Kab Nahi Karna Chahiye In Hindi

•  यदि किसी व्यक्ति को आयरन की कमी हो तो उसे हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए | क्योकि हल्दी शरीर में से आयरन को धीरे धीरे कम करता रहता है जिससे व्यक्ति एनिमिक बन जाता है |

•  मासिक धर्म के समय में महिलाओ को हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योकि इसके सेवन से रक्त स्राव अर्थार्त ब्लीडिंग ज्यादा होती है | हल्दी के सेवन से खून पतला होता है |

■  ऑयली और ड्राई स्किन के लिए 5 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

•  यदि किसी व्यक्ति के पेट में पत्थरी हो या फिर पेट की नली में रुकावट हो तो हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए |क्योकि हल्दी के सेवन से पथरी का दर्द बढ जाता है और हल्दी को हमें अपने भोजन में भी कम ही प्रयोग करना चाहिए |

•  अगर कोई महिला प्रग्नेंट हो तो जब तक शिशु न हो जाए तब तक हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योकि हल्दी की प्रवृति गर्म होती है | और हल्दी के सेवन से गर्भ गिरने का खतरा बढ जाता है |

•  अगर किसी व्यक्ति का पेट खराब हो तो उसे भी हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए | नहीं तो ये पेट को और ज्यादा खराब कर देगा |

•  हल्दी का प्रयोग अगर पुरुष करते है उनमे ये शुक्राणू को कम कर देता है जोकि पिता बनने में सहायक होते है | पुरषो में टेस्टइस्टेरोन का स्तर कम कर देता है |इसलिए हल्दी का प्रयोग नहीं करना चाहिए |

•  हल्दी के सेवन से शरीर में रक्त शर्करा अर्थार्त गुल्कोज की मात्रा को कम कर देता है | डायबिटीज  मधुमेह रोगियों के लिए तो हल्दी फायदा करती है परन्तु ऐसे संतुलित मात्रा में ही प्रयोग करना चाहिए | एक स्वस्थ व्यक्ति को हल्दी का प्रयोग कम कर देना चाहिए नहीं तो काफी कमजोरी आ जाएगी | क्योकि हल्दी में मौजूद करक्यूमिन नामक रसायन होता है जो शरीर में रक्त शकरा का स्तर कम कर देता है | अगर मधुमेह रोगी इसका सेवन करते है तो इससे शरीर में बहुत ज्यादा शर्करा  को कम कर देगा जिससे काफी प्रॉब्लम हो जाएगी

•  अगर किसी व्यक्ति की सर्जरी होने वाली हो तो भी हल्दी का सेवन सर्जरी से आठ या दस दिन पहले सेवन बंद कर दे वरना सर्जरी के दौरान काफी ब्लीडिंग होगी सर्जरी के बाद भी हल्दी का सेवन नहीं करना चाहिए | क्योकि हल्दी बॉडी में रक्त के थक्के जमने की प्रक्रिया को कम कर देता है |

दोस्तों वैसे तो हल्दी बेहद गुणकारी है | इसके सेवन से हमारे शरीर में दर्द कम होता है सूजन कम होती है अगर किसी को चोट लग जाए तो तो घाव पर हल्दी डालने से काफी फर्क पड़ता है | हल्दी के सेवन से हमारी त्वचा में चमक लाने में भी बहुत कारगर सिद्ध होती है |  लेकिन इन बातो का धयान रखें चाहिए नहीं तो हल्दी फायदा पहुँचाने की बजाये काफी नुक्सान पहुंच सकती है |

■  सोने से पहले कमरे में जलाएँ कपूर की 1 गोली, सिर्फ़ 10 मिनट में आपको जो फ़ायदा होगा जिसकी आपने कभी कल्पना नही की होगी

हल्दी को एक चमत्कारी रामबाण औषधि माना जाता है |अगर हम हल्दी के गुणों को बताना शुरू करे तो इसकी गिनती भी नहीं की जा सकती |अगर इसका प्रयोग करते समय हम इन सावधानियों का ध्यान रखे |

Leave a Reply