गन्ने का रस किन के लिए है वरदान और किनके लिए है नुकसानदायक,Benefits of sugarcane juice in Hindi

0
3018
ganne ka ras ke fayde

अगर हम इसे दुनिया का सबसे ताकतवर जूस कहें तो गलत नहीं होगा क्योंकि इस जूस में सभी आवश्यक तत्त्व पाए जाते हैं। गर्मी के मौसम में इसका सेवन सर्वोत्तम है। आइये जानते हैं –

थकान से भरे दिन में एक गिलास गन्ने का रस मिल जाए तो आपको स्वाद भरी ताजगी मिल जाती है. लेकिन शायद आप में से कम ही लोगों को पता होगा कि इस रस में सेहत को फायदा पहुंचाने वाले कई रहस्य छुपे हैं.

गन्ने का रस बहुत ही सेहतमंद और गुणकारी पेय है. इसमें कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन, मैग्नेशियम और फॉस्फोरस जैसे आवश्यक पोषक तत्व पाए जाते हैं. इनसे हड्डि‍यां मजबूत बनती हैं और दांतों की समस्या भी कम होती है. गन्ने के रस के ये पोषक तत्व शरीर में खून के बहाव को भी सही रखते हैं.

वहीं इस रस में कैंसर व मधुमेह जैसी जानलेवा बीमारियों से लड़ने की ताकत भी होती है.

गन्ने का रस पीने से होंगे ये फायदे

कैंसर से बचाव

गन्ने के रस में कैल्शियम, पोटैशियम, आयरन और मैग्नेशियम की मात्रा इसके स्वाद को क्षारीय (खारा) करती है, इस रस में मौजूद यह तत्व हमें कैंसर से बचाते हैं. गन्ने का रस कई तरह के कैंसर से लड़ने में सहायक है. प्रोस्टेट और स्तन (ब्रेस्ट) कैंसर से लड़ने में भी इसे कारगर माना जाता है.

पाचन को ठीक रखता है

गन्ने के रस में पोटैशियम की अधिक मात्रा होने की वजह से यह शरीर के पाचनतंत्र के लिए बहुत फायदेमंद है. यह रस पाचन सही रखने के साथ-साथ पेट में संक्रमण होने से भी बचाता है. गन्ने का रस कब्ज की समस्या को भी दूर करता है.

ह्रदय रोगों से बचाव

यह रस दिल की बीमारियों जैसे दिल के दौरे के लिए भी बचावकारी है. गन्ने का रस से शरीर में कॉलेस्ट्रोल और ट्राईग्लिसराइड का स्तर गिरता है. इस तरह धमनि‍यों में फैट नहीं जमता और दिल व शरीर के अंगों के बीच खूब का बहाव अच्छा रहता है.

वजन कम करने में सहायक

गन्ने का रस शरीर में प्राकृतिक शक्कर पहुंचाकर और खराब कॉलेस्ट्रोल को कम करके आपका वजन कम करने में सहायक होता है. इस रस में घुलनशील फाइबर होने के कारण वजन संतुलित रहता है.

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

डायबिटीज का इलाज

गन्ना स्वाद में मीठा और प्राकृतिक शुगर से भरपूर होता है. इसमें कम ग्लाइसीमिक इंडेक्स की वजह से यह मधुमेह के रोगियों के लिए अच्छा होता है.

त्वचा में निखार लाता है

गन्ने के रस में अल्फा हाइड्रॉक्सी एसिड (AHAs) पदार्थ होता है, जो त्वचा संबंधित परेशानियों को दूर करता है और इसमें कसाव लेकर आता है. AHA मुहांसों से भी राहत पहुंचाता है, त्वचा के दाग कम करता है, त्वचा को नमी देकर झुर्रियां कम करता है. गन्ने के रस को त्वचा पर लगाएं और सूखने के बाद पानी से धो लें. बस इतना प्रयास करने पर ही आपकी त्वचा खिली-खि‍ली और साफ नजर आएगी.

गन्ने का जूस ज्यादा पीने के क्या नुकसान

गर्मियों के मौसम में गन्ने का जूस किसे नहीं भाता. पुदीना के साथ गन्ना रस पीना सेहत के लिए अच्छा तो है लेकिन एक सीमा तक. गन्ना रस ज्यादा पीना कई तरह की पेट की बीमारियां दे सकता है. हम आपको बता रहे हैं कि गन्ने का जूस ज्यादा पीने के क्या नुकसान हैं.

* गन्ने का रस आमतौर पर लोग ठेले पर पीते हैं. ठेले पर पीने में कोई बुराई नहीं, बशर्तें साफ-सफाई का ध्यान रखा जाए जो कि अमूमन होता नहीं है. पहले से छिले गन्ने रखे जाते हैं, इनपर मक्खियां बैठती हैं और इसे पीने से कई तरह के बैक्टीरिया पेट के भीतर पहुंच जाते हैं.

* गर्मी में बर्फ मिला गन्ना रस पेट को तरावट देता है लेकिन इसे पीकर पेट में कोई न कोई दिक्कत होनी तय है. बर्फ अक्सर जिस पानी से जमाई जाती है, वो साफ नहीं होता है. ऐसे में बीमारी लाजिमी है.

* गन्ने के जूस में काफी मात्रा में कैलोरी पाई जाती है. जूस कहलाने के कारण लोग बेझिझक ये ज्यादा पी लेते हैं. इससे मोटापा बढ़ने का डर रहता है. जो लोग फिटनेस के लिए कोशिशें कर रहे हैं, ये पीना उनके लिए अच्छा नहीं.

* गन्ना रस लाकर लोग फ्रिज में रख लेते हैं ताकि तसल्ली से इसे पी सकें. लेकिन गन्ना रस प्याज या दूसरे कटे फल-सब्जियों की तरह ही ऑक्सिडाइज होने लगता है. इसे देर तक रखने के बाद पीना पेट की बीमारियों को न्यौतना है. फूड पॉइजनिंग का खतरा इससे काफी बढ़ जाता है.

* इसमें पाए जाने वाले तत्व अल्कोहल जैसा असर पैदा करते हैं. इसलिए अगर आपका काम आपसे अलर्टनेस मांगता है, या जिसमें शरीर और दिमाग का संतुलन जरूरी हो तो गन्ने के रस का ज्यादा मात्रा में सेवन टालें. ज्यादा मात्रा में इसे पीना सिरदर्द, सिर घूमना जैसी परेशानियां देता है.

Leave a Reply