diabetes ka ilaj

अगर आपके शरीर में शुगर की बीमारी है मतलब डाइबिटिज की बीमारी है तो भगवान ने उसको ठीक करने की दवा भी आपके घर में दे राखी है. डाइबिटिज अगर ठीक करना है तो घर में मौजूद मैथीदाना लीजिए उसको पीसकर पाउडर बनाइए. मैथीदाने के साथ थोडा करेला लीजिए. करेले को धुप में सुखाकर उसका पाउडर बना लीजिए. अगर आपके घर में जामुन की गुठली मिले तो उसे सुखाकर उसकी गुठली का पाउडर बना लीजिए. अगर जामुन घर में है तो ठीक है नही तो बाजार से जामुन खरीद सकते है. फिर आपके आसपास नीम के पेड़ होंगे तो उसकी निम्बोली को सुखाकर उसका पाउडर बना लीजिए. और बेलपत्थर के पत्ते सुखाकर उसका भी पाउडर बना लीजिए.

अब हमारे पास मैथी दाने का पाउडर, जामुन की गुठली का पाउडर, नीम की निम्बोली का पाउडर, बेलपथर के पट्ठे का पाउडर और करेले का पाउडर ये पांच चीज का पाउडर मिलाकर इसे गुद्मार्क के साथ मिला लें, गुद्मार्क एक घास होती है जो किसी भी किराने की दुकान पर मिल जायेगी. इन सभी दवाओं को बराबर मात्रा में भरकर एक शीशी में रख लीजिए. ये डाइबिटिज की बहुत अच्छी दवा है.

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

कैसे लें 

इसे एक चम्मच गर्म पानी के साथ सुबह और एक चम्मच शाम को लें. वो भी खाने से लगभग एक घंटे पहले, अगर आपने नियमित रूप से इसे लेना शुरू किया तो इस दवा से आपकी शुगर आपकी डाइबिटिज हमेशा के लिए ठीक हो जाएगी. और फिर अगर आप सामान्य रूप से आधे-आधे घंटे अनुलोम विलोम और कपालभाती करते रहे सुबह और शाम दोनों वक्त तो आपकी शुगर और जल्दी ठीक हो जाएगी. और जब आपकी शुगर ठीक हो जाए या सामान्य हो जाए तब आप ये दवा बंद कर दे. और प्रणायाम चालू रखिएगा तो प्राणायाम की मदद से जिंदगी भर दोबारा कभी भी डाइबिटिज नही होगी.

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleये खराटे, नाक से खून बहना, नींद ना आना जैसी बिमारियों को भी ठीक करती है
Next articleआपको हिलाकर रख देंगे … !!! फिटकरी के 10 गजब के बेहेतरीन फायदे : Amazing uses of Alum

Leave a Reply