piles-treatment-in-ayurveda

बवासीर का इलाज इन हिंदी | अनार से करें बवासीर का इलाज | अनार से बवासीर का इलाज कैसे करे?

दोस्तों आज हम आपके लिए जो जानकारी लाये है वो खूनी बवासीर के बारे में है | बवसीर एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है | बवसीर होने का सबसे बड़ा कारण है कब्ज |अगर किसी को लम्बे समय तक कब्ज रहे तो इससे बवासीर का जन्म होता है | बवसीर में होने वाला दर्द असहनीय होता है | बवासीर दो तरह की होती है |बाहरी व भीतरी | भीतरी बवासीर में मस्से अंदर होते है जो दिखाई नहीं देते है | और इसमें पीड़ा अधिक होती है | इसमें गुदा के अंदर काफी खुजली होती है | जबकि बाहरी मस्सो धिकाई देते है और इसमें सूजन होती है |और कई बार मल के साथ खून भी आता है | इसे ही खूनी बवासीर कहते है|

आइये जानें खूनी बवासीर के लक्षण, हल्दी से बवासीर का इलाज, खूनी बवासीर की अचूक दवा, बवासीर का होम्योपैथिक इलाज, बवासीर की अचूक दवा पतंजलि, बवासीर ko जड़ से इलाज, बवासीर के मस्से की दवा, बवासीर को जड़ से खत्म करना|
■  एनर्जी और स्टैमिना कैसे बढ़ाये 10 उपाय 

तो आज हम आपको बताएँगे की आपने अनार का किस तरह से प्रयोग करना है की आपको खूनी बवासीर से छुटकारा मिल जाये |अनार के सेवन से हमारे शरीर में खून की कमी दूर होती है | पेट नरम रहता है | मूत्र लाता है और अनार का फल ह्रदय रोगियों को बहुत ही फायदा पहुंचाता है |

अनार हमारे शरीर के प्रत्येक अंग को पोषण देता है | अनार को सबसेस्वास्थ्यवर्धक फल माना जाता है | और जो पोषक तत्वों से भरा हुवा खजाना होता है | इस फल में भरपूर मात्रा में फाइबर व विटामिन c पाया जाता है | इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट व एंटी एजिंग गुण पाए जाते है | जो हमारी सुंदरता को बढ़ाता है और हमारी झुर्रियों को ख़तम कर देता है | इसमें विटामिन a ,c ,इ व फोलिक एसिड पाया जाता है |

तो आइये जानते है की हमें अनार का किस तरह से प्रयोग करना है जो हमारी ख़ूनी बवासीर को जड़ से ख़तम करने में मदद करेगा :

खुनी बवासीर का देसी इलाज

Khooni Bawaseer Ka Desi Ilaj In Hindi

•  आपने अनार के छिलको को सूखा कर चूर्ण बना लेना है | और इसका एक चम्मच लेना है और एक चम्मच ही चीनी लेनी है दोनों को मिलाकर पानी के साथ दिन में दो बार सेवन करना है इससे आपको खूनी बवासीर में बहुत ही लाभ मिलता है |

•  आप अनार के छिलको के चूर्ण का आधा चम्मच ले और इसे ताजे पानी के साथ सुबह शाम सेवन करे इससे भी खूनी बवासीर में बहुत ही आराम मिलेगा |

■  मुंह जीभ और होठों के छालों का इलाज के 10 आसान घरेलू नुस्खे

•  आपने अनार के रस का आधा कप लेना है | इस रस के साथ आपने मिश्री का सेवन कारण यही | आप चाहे तो अनार के रस में भी मिश्री को मिलाकर पि सकते है | इससे भी आपको खूनी बवासीर में बहुत ही आराम मिलता है |

•  आप अनार के छिलको का चूर्ण का एक चम्मच ले और इसमें एक चममच बुरा मिलाकर दिन में दो बार सेवन करे इससे भी आपको खुनी बवासीर में बहुत ही जयादा आराम मिलेगा |

•  आपने अनार के पेड़ की जड़ लेनी है और इसे एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लेना है जब तक ये आधा न रह जाये |और इस काढ़े में चुटकी भर सोंठ का चूर्ण मिला ले |और इस काढ़े को दिन में दो से तीन बार सेवन करे |आपको खुनी बवासीर में बहुत ही आराम मिलेगा |

•  आप एक मीठा अनार ले क्योकि इसका छिलका शीतल होता है |और एक खट्टा अनार ले क्योकि इसका छिलका रुक्ष होता है |और इन दोनों छिलको का अर्श ले ये बवासीर में बहुत ही आराम पहुंचाता है |

•  अनार के पत्तो को उबाल कर काढ़ा बना ले और इसका एक से दो चममच सुबह शाम पिए इससे भी खुनी बवासीर में बहुत ही आराम मिलता है |

दोस्तों देखा कैसे अनार का इस तरह से प्रयोग करने पर हम खुनी बवासीर को जड़ से ख़तम कर पाएंगे |

■  सफेद दाढ़ी और बालों को जड़ से खत्म कर देगा यह इलाज

दोस्तों आयुर्वेदिक तरीके से बवासीर का इलाज, Bawasir Ka Ilaj और उपचार, बवासीर का इलाज हिंदी में का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास  बवासीर का प्राकृतिक रामबाण इलाज, खुनी बादी बवासीर का अचूक इलाज रामबाण आयुर्वेदिक घरेलु दवाई, खूनी बवासीर का उपचार ,बवासीर का रोग और इलाज के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Leave a Reply