यूरिक एसिड uric acid ka ilaj in hindi

Uric Acid Diet | Uric Acid Medicine

Uric Meaning In Hindi

यूरिक एसिड यानि जोड़ों का दर्द आजकल आम सुनने को मिलता है। अक्सर 30 साल की उम्र से ज्यादा लोग इस परेशानी से जूझ रहे हैं। यह शरीर में Uric Acid के टूटने से होता है। जो ब्लड सर्कुलेशन से कीडनी तक पहुंचता है और यूरिन के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है। कई बार सेहत से जुड़ी कुछ परेशानियों के कारण Uric Acid शरीर से बाहर नहीं निकल पाता, जिससे बॉडी में इसकी मात्रा ज्यादा हो जाती है। यूरिक एसिड 

yorik acid

यूरिक एसिड नार्मल रेंज – Uric Acid Kitna Hona Chahiye

एक स्वस्थ्य महिला के शरीर में Uric Acid का नॉर्मल लेवल 2.4-6.0 mg/dl और पुरुषों में 3.4 – 7.0 mg/dl होना जरूरी है। शरीर में इसकी मात्रा बढ़ जाने पर यह गठिया का कारण बनती है। इसके लक्षणों को पहचान कर सही समय पर इलाज करवाना बहुत जरूरी है।

■  पेट की गर्मी का इलाज के 10 रामबाण घरेलू उपाय और नुस्खे

यूरिक एसिड के लक्षण

Symptoms Of Uric Acid In Hindi

uric acid ke lakshan in hindi

•  हाथों-पैरों में एठन

•  जोड़ों में दर्द

•  अंगों में सूजन

•  उठने-बैठने में परेशानी होना

•  जोड़ो में हल्की-हल्की चुभन

यूरिक एसिड बढ़ने का कारण

Uric Acid Badhne Ka Karan In Hindi

•  खान-पान में पोषक तत्वों की कमी होने पर Uric Acid बढऩा शुरू हो जाता है।

•  दवाइयों के ज्यादा सेवन से भी यह परेशानी हो सकती है।

•  जरूरत से ज्यादा प्रोटीन खाने से रक्त में Uric Acid की मात्रा बढने लगती है।

•  एक्सरसाइज या शारीरिक श्रम की कमी होने से भी शरीर में Uric Acid बनने लगता है।

■  पेट खराब होने पर उपाय 10 आसान घरेलू नुस्खे 

यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के घरेलू उपाय

How To Control Uric Acid Without Medicine

uric acid ka ilaj in hindi

1. अखरोट (Walnut For Uric Acid)

अखरोट में बहुत से जरूरी पोषक तत्व जैसे ओमेगा-3 फैटी एसिड्स, विटामिन्स, मिनरल्स, कैल्शियम, प्रोटीन, आयरन आदि मौजूद होते हैं, जो सेहत को बेहतर बनाएं रखते है। रोज सुबह खाली पेट 2-3 अखरोट खाने से Uric Acid कंट्रोल हो जाता है।

2. शहद और अश्वगंधा (Honey & Ashwagandha For Uric Acid)

एक चम्मच शहद में अश्वगंधा पाउडर मिलाएं। फिर इसे हल्के गर्म दूध के साथ खाएं। इससे भी काफी फायदा मिलेगा लेकिन ध्यान रखें कि गर्मी में इसका कम से कम सेवन करें।

3. बेकिंग सोडा (Baking Soda For Uric Acid)

Uric Acid बढऩे पर शरीर में गांठ की तरह जमा होने लगता है और तेजी से शरीर के बाकी अंगों में फैलने लगता है। ऐसे में 1 चम्मच बेकिंग सोडा को 1 गिलास पानी के साथ मिलाकर पीने से शरीर में बनी गांठ खुलने लगती है और यूरिक एसिड की कम होने लगता है।

4. बथुए के पत्तों का जूस (Bathua For Uric Acid)

यूरिक एसिड के मरीजों को ज्यादातर गठिए की समस्या रहती है। इसका बचाव करने के लिए सुबह खाली पेट बथुए के पत्तों का जूस निकाल कर पीएं। ध्यान रखें जूस पीने के 2 घंटे तक किसी और चीज का सेवन न करें।

treatment for uric acid in ayurveda

5. अजवायन (Carom Seeds For Uric Acid)

अजवायन सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है, रोजाना खाने में अजवाइन का इस्तेमाल करने से यूरिक एसिड कम होता है। खाने में इस्तेमाल के अलावा, इसका पानी के साथ सेवन करें।

6. चंकुदर और सेब (Beetroot Apple For Uric Acid)

रोज चंकुदर और सेब का जूस पीएं। इससे शरीर का पीएच स्तर बढ़ता है और यूरिक एसिड कंट्रोल में रहता है। इनके अलावा गाजर का जूस भी फायदेमंद है।

■  टूटी हड्डी जल्दी जोड़ने के लिए रामबाण दवा और 5 आसान घरेलू उपाय

7. पानी (Water For Uric Acid)

अधिक से अधिक पानी का सेवन करें क्योंकि इससे शरीर में बढ़ा हुआ यूरिक एसिड पेशाब के द्वारा बाहर निकल जाता है। इसके अलावा पानी का सही मात्रा में सेवन करने से शरीर में ऊर्जा बनी रहती है।

8. यूरिक एसिड में नींबू (Lemon For Uric Acid)

विटामिन सी यूरिक एसिड में बहुत लाभकारी है। नींबू को डाइट में शामिल जरूर करें। इसके अलावा विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन जरूर करें।

9. वजन को कंट्रोल रखें (Weight Control For Uric Acid)

शरीर में मोटापे के कारण चर्बी अधिक जमा होती है। जिससे यूरिक एसिड बढ़ की संभावना ज्यादा रहती है। इसलिए अपने वजन को कंट्रोल रखें लेकिन ध्यान रखें कि वजन कम करने के लिए एक दम डाइनिंग पर न रहें बल्कि धीरे-धीरे कोशिश करें।

■  गुस्सा कम करने और मन शांत करने के 10 आसान उपाय

यूरिक एसिड में आहार विहार | यूरिक एसिड में क्या खाएं

यूरिक एसिड में परहेज

Uric Acid Me Kya Na Khaye In Hindi

•  प्रोटीन वाले आहार से करें परहेज

•  बेकरी प्रोडक्टस का सेवन न करें

•  एल्कोहल से दूर रहें

•  डिब्बा बंद भोजन न खाएं

•  मछली व मीट से दूरी बनाएं

*नोट : ऊपर दिए गए लक्षण सामान्य बीमारी के भी हो सकते हैं इसलिए घबराएं नहीं, धैर्य से काम लें और अपने नजदीकी चिकित्सक से अवश्य परामर्श कर लें।

  जल्दी पतला होने और पेट अंदर करने की पतंजलि आयुर्वेदिक दवा

Leave a Reply