uric acid in body

आज के समय में यूरिक एसिड बनने के मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। यह आधुनिक जीवन शैली का एक गंभीर रोग है। शरीर में प्‍यूरिन के टूटने से यूरिक एसिड बनता है। प्‍यूरिन एक एेसा पदार्थ है तो खाने वाली चीजों में पाया जाता है। खाने वाली चीजों से यह शरीर में पहुंचता है और फिर ब्‍लड के माध्‍यम से बहता हुआ किडनी तक पहुंचता है। वैसे तो यूरिक एसिड यूरीन के माध्‍यम से शरीर के बाहर निकल जाता है। मगर कई बार यह शरीर में ही रह जाता है। इसके कारण इसकी मात्रा बढ़ने लगती है। अगर समय रहते इसका इलाज न किया जाए तो व्यक्ति के लिए हानिकारक हो सकता है। आज हम आपको शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण और इसके घरेलू उपाय बताएंगे। समय रहते इसका इलाज करने से जिंदगी भर स्वस्थ रहा जा सकता है।

यूरिक एसिड की मात्रा कितनी होनी चाहिए

शरीर में पाचन के दौरान आहार में जो प्रोटीन होता है उससे प्यूरिन बनता है और इससे यूरिक एसिड बनता है जो कि पेशाब के रास्ते शरीर से बाहर निकलता है पर जब ये शरीर में जमा होने लगता है तब कई समस्याएं आने लगती है।

पुरुषों में इसका लेवल 3.4 से 7.0 mg/dl और महिलाओं में 2.4 से 6.0 mg/dl होना चाहिए।

यूरिक एसिड क्यों बढ़ता है, हाई प्रोटीन और शुगर वाले फूड अधिक खाने से शरीर में यूरिक एसिड लेवल बढ़ने लगता है।

जेनेटिक कारणों से भी कुछ लोगों का यूरिक एसिड हाई होता है।

किडनी में खराबी के कारण भी यूरिक एसिड शरीर से बाहर नहीं निकल पाता और शरीर में ही जमा होने लगता है।

यूरिक एसिड बढ़ने के लक्षण

High Uric Acid Symptoms

जोड़ों और पैरों में दर्द महसूस होना

पैर की एड़ियों और अंगूठे में दर्द करना

जोड़ों में सूजन आने लगना

जोड़ों में गाँठ पड़ना

उठने बैठने में घुटनों व जोड़ों में दर्द होना

हेल्थ से जुड़ी सारी जानकारियां जानने के लिए तुरंत हमारी एप्प इंस्टॉल करें और अपडेट करें अपना हेल्थ है। हमारी एप को इंस्टॉल करने के लिए नीले रंग के लिंक पर क्लिक करें –

http://bit.ly/ayurvedamapp

यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए

Uric Acid Me Kya Na Khaye in Hindi

अंडे (egg) में फैट और प्रोटीन अधिक होता है और इस रोग में प्रोटीन के सेवन से परेशानी बढ़ सकती है।

बेकरी में बनी हुई चीजों का सेवन नहीं करना चाहिए।

चावल व दाल के सेवन से भी यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने लगती है।

सोने से पहले रात को दाल और दूध का सेवन ना करे।

ड्राई फ्रूट्स, चावल, दही, पालक, आचार का सेवन करने से परहेज करना चाहिए।

डिब्बा बंद आहार से भी यूरिक एसिड बढ़ता है, फास्ट फूड, चिप्स, कोल्ड ड्रिंक से परहेज करे।

यूरिक एसिड के बढ़ने पर non veg खाने से परहेज करे। नॉन वेज खाने से शरीर में यूरिक एसिड लेवल बढ़ता है।

खाना खाते वक़्त पानी ना पिए। खाना खाने के 1 घंटा पहले और बाद में ही पानी पिए।

धूम्रपान और शराब से भी यूरिक एसिड बढ़ता है और इससे शरीर को नुकसान भी होता है।

यूरिक एसिड में क्या खाएं इन हिंदी

Uric Acid Me Kya Khana Chahiye in Hindi

1. विटामिन सी शरीर में यूरिक एसिड बढ़ने से रोकता है और इसे कम करने में भी मदद करता है। अपने आहार में विटामिन C से भरपूर फूड और फल शामिल करे जैसे नींबू व संतरा। नींबू पानी पिने से शरीर भी साफ होता है।

2. पानी जादा पिए इससे शरीर में जमा यूरिक एसिड पेशाब के रास्ते बाहर निकल जाता है। प्रतिदिन 3 से 4 लीटर पानी पीने की आदत बनाये।

3. अपनी diet में एंटी ओक्सिडेंट से भरपूर फूड खाए। ये शरीर में फ्री रेडिकल्स के असर को कम करते है। अंगूर, लाल शिमला मिर्च, ब्रॉकली, टमाटर और ब्लूबेरी में विटामिन और एंटी ओक्सिडेंट अधिक होते है।

4. लौकी का जूस हाई यूरिक एसिड को कम करने का अच्छा घरेलू उपाय है। सुबह खाली पेट एक गिलास लौकी का जूस पिए। जूस को बनाते समय पुदीने और तुलसी के 5-5 पत्ते भी डाल ले।

5. ऐसे आहार जिनमें फाइबर अधिक मात्रा में होते है यूरिक एसिड को कंट्रोल करने में उपयोगी है।

6. सोने से पहले रात को 1 गिलास पानी में अर्जुन की छाल का 1 चम्मच चूरन और आधा चम्मच दालचीनी का पाउडर मिला कर इसे चाय की तरह उबाले फिर इसे छान कर पिए। इस नुस्खे को 90 दिन तक नियमित रूप से करने पर uric acid control में आने लगेगा।

7. एक गिलास पानी में सेब के सिरके के 2 से 3 चम्मच मिला कर पीने से भी काफी फायदा मिलता है।

8. गाजर, चकुंदर और सेब का जूस रोजाना पीने से बॉडी में ph लेवल बढ़ता है और यूरिक एसिड कम होता है।

9. भोजन पकाने के लिए जैतून का तेल इस्तेमाल करे, ये बॉडी में यूरिक एसिड को बढ़ने से रोकता है।

10. नारियल पानी भी यूरिक एसिड कंट्रोल में रखने में अचूक काम करता है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleभोजन के बाद इन खतरनाक 6 आदतों को छोड़दे | How to Cure Acidity Or Gas Problem With Easy Way
Loading...

Leave a Reply