soojan ka ilaj swelling treatment remedies in hindi

सूजन शरीर के जिस हिस्से में होती है, वह जगह पिलपिली-सी हो जाती है और हाथ से दबाने पर गड्डा-सा बनने लगता है। सूजन के मुख्य लक्षण में रोगी की त्वचा शुष्क हो जाती है। कमजोरी, प्यास अधिक लगना, बुखार आदि का होना है। सूजन कोई अपने आप में बीमारी नहीं है। किसी दूसरी बीमारी की वजह से भी शरीर में सूजन हो सकती है। दिल की बीमारी में सूजन जांघों और हाथों पर होती है। लीवर की समस्या में सूजन पेट पर होती है। गुर्दे की बीमारी में सूजन चेहरे पर होती है। इसके अलावा महिलाओं के मासिक धर्म की समस्या में मुंह, हाथ और पैरों पर सूजन होती है।

धनिया

धनिए के बीजों से सूजन जल्दी गायब होती है। कप पानी में 2 से 3 चम्मच धनिए के बीज डालें। तब तक उबालें, जब तक कप का पानी आधा न हो जाएं। फिर इस काढ़े को धीरे-धीरे पीएं। इस काढ़े को दिन में 2 बार जरूर पीएं।

अदरक

सोडियम के कारण पैरों में सूजन आ जाती है। अदरक सोडियम को पतला करने में मदद करता है। इसलिए दिन में 3-4 बार अदरक के तेल से पैरों की मालिश करें। इसके अलावा अपनी डाइट में भी अदरक का इस्तेमाल करें।

सिरका

बराबर मात्रा में पानी और सिरका मिलाएं। फिर इसे कुछ समय तक गर्म करें। फिर इस सिरके में सूती कपड़ा डालकर सूजन और दर्द वाली जगह पर रखें। इस नुस्खे को दिन में 2-3 बार इस्तेमाल करें। उपयोग करने के बाद मॉइस्चराइजिंग क्रीम लगाएं।

आटा

आटा गर्माहट देता है, इसकी गर्माहट से दर्द और सूजन वाली जगह की सिंकाई अच्छे से होती है। आटा और वाइन का पेस्ट बनाएं। फिर इसे दिन मिनट तक सूजन वाली जगह पर रखें। फिर बाद में गुनगुने पानी से इसे धोकर हल्की मसाज करें।

लहसुन

रोज लहसुन या इसका तेल और कैप्सूल खाने से टखनों और पैरों की सूजन कम होने लगती है। इसके अलावा अपने खाने में लहसुन का अधिक सेवन करें। इससे सूजन कम होगी।

सूजन के घरेलू उपचार

1. एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी का चूर्ण और पिसी हुई मिश्री को घोलकर रोज पीने से सूजन दो-तीन दिनों में खत्म हो जाती है। लेकिन सूजन बंद होने या कम होने की स्थिति में इस उपाय को बंद नहीं करें। कम से कम छह माह इस उपाया को जरूर करें, ताकि आपको फिर सूजन की शिकायत न हो।

2. एक लीटर पानी में एक कप जौं को उबाल लें और फिर इसे ठंडा करके पीते रहने से सूजन घटने लगती है। इस उपाय को भी नियमित रूप से करें।

3. 350 ग्राम सरसों के तेल में 120 ग्राम लाल मिर्च के चूर्ण को मिलाकर इसे आंच पर गर्म करें। और उबलने के बाद इसे छान लें और सूजन वाली जगह पर इसका लेप लगाएं। ऐसा करने से सूजन ठीक हो जाती है।

4. पुराने गुड़ के साथ दस ग्राम सौंठ को मिलाकर खाते रहने से कुछ ही दिनों में सूजन की समस्या ठीक हो जाती है।

5. नमक को गर्म पानी में डालकर सूजन वाली जगह पर कपड़े से सिकाई करने से सूजन ठीक हो जाती है।

6. अनानास का सेवन करने के बाद दूध पीते रहने से सूजन खत्म होने के साथ उतर भी जाती है। लेकिन यह उपाय आपको लंबे समय तक करना होगा।

7. अंजीर के रस के साथ जौ को बारीक पिसें आटे को मिलाकर पीते रहने से सूजन आसानी से दूर हो जाती है

8. खजूर और केला भी सूजन को खत्म करते हैं। इसलिए खजूर और केला नियमित खाते रहने से थोड़े ही दिनों में सूजन उतर जाती है।

9. गोबर के उपले को जलकार बने चूर्ण का लेप तेल के साथ मिलाकर सूजन वाली जगह पर लगाने से सूजन ठीक हो जाती है।

10. पानी में गेहूं के दानों को उबाल लें और इस पानी से सूजन वाली जगह को धोने से कुछ ही दिनों में सूजन उतर जाती है ।

11. पानी के साथ 1/4 चम्मच पिसी हुई हल्दी की फांक लेने से सूजन की समस्या कुछ ही दिनों में खत्म हो जाएगी।

12. जीरा और चीनी को बराबर मात्रा में पीसकर दिन में तीन बार एक चम्मच फंकी को लेते रहने से थोड़े ही दिनों में सूजन खत्म हो जाएगी।

13. तरबूज के बीजों को छाया में सुखा लें और इन्हें पीस लें। इसके बाद एक कप पानी में तीन चम्मच तरबूज के घिसे बीजों को मिलाकर एक घंटे के लिए भिगो लें और फिर इसे छानकर पीते रहने से सूजन कम होकर उतर जाती है। इसका सेवन दिन में चार बार करें। आपको जल्दी फायदा मिलेगा।

14. 400 ग्राम पानी में 200 ग्राम कच्चे आलू को काटकर आंच में उबालें और इससे सूजन पर सेंक करें। आलू के टुकड़ों का लेप करने से सूजन जल्दी उतर जाती है।

15. एक गिलास पानी में दो चम्मच गाजर के बीजों को आंच में उबालें। और फिर इसे ठंडा करके पीएं। इस उपाय को रोज करने से सूजन बहुत ही तेजी से खत्म हो जाती है।

16. मक्खन में काली मिर्च के चूर्ण को डालकर अच्छे से मिलाकर खाते रहने से थोड़े ही दिनों में बच्चों की सूजन खत्म हो जाती है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous article3 दिन लगातार शकरकंद खालो जड़ से ख़त्म होंगे 10 भयानक रोग | Shakarkand ke fayde aur nuksan
Loading...

Leave a Reply