शायद आपके रसोईघर में सिरके की बोतल होगी लेकिन आप अभी तक उसका उपयोग शायद केवल ज़ायके के लिये करती होंगी। हजारो साल से पहले के वरदान के रूप में इस तरल की खोज अचानक ही हो गई थी जब वाइन, बियर, सेब का रस अपने आप ही खट्टे होने लगे। लेकिन क्या आप जानती हैं कि सिरेके के – खासतौर से आसवित सफेद और सेब के सिरके – सैकड़ों घरेलू, सौन्दर्य, औषधीय और बागवानी सम्बन्धित उपयोग हैं। यहाँ पर सिरके के 16 असमान्य और पर्यावरण के अनुकूल उपयोग दिये गये हैं जिनके बारे में शायद आपने नहीं सोचा होगा। तो आइये इन असामान्य उपयोगों को जाने। सिरके के प्रयोग –

■  केवल 1 चम्मच लेने से पेट होगा सुबह पूरी तरह साफ, कब्ज और गैस जड़ से खत्म

जंग को घोलने के लिये

सिरके का ऐसिटिक अम्ल आयरन ऑक्साइड से क्रिया करके कब्जे, नट और बोल्ट जैसे छोटे धातु के सामानों से जंग को हटाता है। इन सामानों को सिरके से भरे एक सॉसपैन में गर्म करें और फिर पानी से अच्छी तरह धुले जिससे कि सिरके का धातु पर आगे कोई दुष्प्रभाव न हो।

भोजन में मसालों को निष्क्रिय करने के लिये

कभी कभी जब आपका रात्रि के समय का भोजन मिर्च के अधिक तीखे होने के कारण सत्यानाश हो जाये और आपके अतिथि भोजन का इन्तजार कर रहे हों तो अपने पदक विजेता मिर्ची के इस दुष्प्रभाव को समाप्त कर सिरका ही आपको बचायेगा। मसाले को निष्क्रिय करने के लिये एक-एक चम्मच सफेद या सेब के सिरके को भोजन में डालें।

 

फर्श और फ्रिज को साफ करने में

पानी और सफेद सिरके का घोल फर्श, फ्रिज और रसोई की आलमारियों को साफ करने में मददगार होता है लेकिन ध्यान रहे कि फर्श संगमरमर या ग्रेनाइट की न हो। यह फ्रिज से भोजन की दुर्गन्ध को हटाता है।

■  पेट फूलने की समस्या हो या फिर कोलेस्ट्रॉल बढ़ने की, पेट को साफ़ करना हो या फिर एसिडिटी मिटाने की, सुबह उठकर पिए सिर्फ़ 1 गिलास

फफूँदी संक्रमण का उपचार

ऐथलीट फीट, पैर के नाखूनों पर फफूँदी तथा डैन्ड्रफ कोई मजाक नहीं है। सफेद सिरके या सेब के सिरके को प्रभावित अंग में लगाने से फफूँदी को समाप्त किया जा सकता है।

बालों का कंडिशनर

क्याआप जानती हैं कि एक कप पानी में आधा चम्मच सिरका डालने से बाल अच्छी तरह से धुले जा सकते हैं। जी हाँ, थोड़ी देर के लिये आपके बालों से गन्ध आ सकती है लेकिन फिर भी यह अच्छा है।

 

दाग हटाने में

पसीने के खराब दागों को हटाने के लिये स्प्रे करने वाली बोतल से कपड़े को धुलने से पहले सिरका स्प्रे करें। दाग गायब हो जायेंगे।

एयर फ्रेशनर

सिरके का ऐसेटिक अम्ल बदबू अवशोषित करता है इसलिये कमरे में छिड़कने से बदबू दूर हो जायेगी। आप इससे बदबू दार कमरों की सतहों को पोंछ भी सकती हैं।

■  सोने से पहले बस एक चम्मच, खुल जाएगी आपकी हर नस

दुखती माँसपेशियों में राहत के लिये

परिश्रम के बाद माँसपेशियों में एकत्रित लैक्टिक अम्ल के कारण होने वाले दर्द को सेब का सिरका लैक्टिक अम्ल को सोख कर समाप्त करता है। एक कप पानी में कुछ चम्मच सिरके को मिलाकर एक कपड़े द्वारा दर्द वाले स्थान पर 20 मिनट तक लगायें।

 

कपड़ो को मुलायम करने में

कपड़ों को मुलायम करने के लिये मशीने में आखिरी धुलाई से पूर्व मशीन में सफेद सिरका डालें। इससे साबुन के अंश भी हट जायेंगे।

चीटिंयाँ कम करने के लिये

क्या आपके घर में इधर-उधर चीटियाँ दिखाई देती हैं। चीटियों को सिरका अच्छा नहीं लगता, इसलिये सफेद सिरके और पानी को बाराबर भाग में मिलाकर छिड़कने से चीटियाँ बाग जाती हैं।

गले में खराश के लिये

कई लोग गले की खराश को दूर करने के लिये एक कप गरम पानी में एक चम्मच सेब के सिरके को पीने या गरारा करने की सलाह देते हैं। इसमें कुछ चम्मच शहद (एक और बहुआयामी उत्पाद) डालने से और भी प्रभावशाली होने के साथ-साथ पीने लायक हो जायेगी।

 

फूलों को तरो-ताजा रखने के लिये

कटे फूलों को मुरझाने से बचाने के लिये फूलदान के पानी में एक चम्मच सफेद सिरका डालें। इससे फूलों को लम्बे समय तक तरो – ताजा बने रहने में मदद मिलती है।

■  जानिए हर रोज दो चम्मच गुलकंद का सेवन करने से हम कितनी बीमारियो से मुक्त हो सकते है

अण्डे को साबूत रखने में

अण्डों को उबालते समय गरम पानी में थोड़ा सिरका मिलायें। इससे अण्डे का सफेद भाग फैलता नहीं है और ठोस बना रहता है।

हिचकी का इलाज

हलाँकि डॉक्टर इस बात से सहमत नहीं होगें लेकिन सिरके को हिचकी के लिये उपचार माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि हिचकी को रोकने के लिये एक चम्मच सिरका निगल लेना चाहिये।

 

खरपतवार समाप्त करने के लिये

जहरीले रसायनों वाले खरपतवार नाशक को भूल जाइये – घरेलू सिरका अवाँछित पौधों को समाप्त कर देता है। बागवानी के लिये प्रयोग किया जाने वाला खरपतवार नाशक 25 प्रतिशत सिरके के साथ और भी शक्तिशाली होता है

दुर्गन्ध मिटाने के लिये

अगर आप से कोई भोज्य पदार्थ पकाने के दौरान जल गया हो तो कमरे में एक कटोरे में तीन-चौथाई भाग सफेद सिरका पानी के साथ मिलाकर रखें। दुर्गन्ध समाप्त हो जायेगी।

■  सिर्फ 21 दिन लगातार रात में 1 चम्मच आंवला चूर्ण खाने के बाद शरीर में जो हुआ वो आप खुद ही देख लीजिये
Loading...

Leave a Reply