beautiful hair

धूल और प्रदूषण के कारण अगर आपके बाल झरने लगे हैं, उलझने लगे हैं या फिर बहुत ज्यादा ड्राई हैं व रूखे हैं हो गए हैं तो आज हम आपको बताने जा रहे हैं शैंपू करने का एक ऐसा तरीका जो आपके बालों को इन सभी समस्याओं से छुटकारा दिलाएगा। क्योंकि यह नुस्खा आपके बालों के दो मुंहे पन को दूर करने के साथ साथ बालों को सिल्की स्मूथ और मुलायम बना देगा। इसके अलावा इस तरीके से शैंपू करने से आपके बालों को बहुत अच्छी तरह से कंडीशनिंग मिलेगी। तो आइए जानते हैं शैंपू इस्तेमाल करने का यह नया तरीका।

आप एक कटोरी में अपना शैंपू डालें, शैम्पू अपने बालों की लंबाई के अनुसार लें। इसमें एक चम्मच शहद मिला लीजिये और इन दोनों को अच्छी तरह से मिला लीजिये। अब इसको आप अपने बालों में लगा सकते हैं। जैसे आप अपना रेगुलर शैंपू इस्तेमाल करते हैं ठीक उसी तरीके से आप इस शैंपू को अपने बालों में लगाइए अच्छे से झाग बनाइए उसे 2 मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।

2 मिनट के बाद बालों को धो लें। इससे आपके बाल बेहद मुलायम और चमकदार होंगे। शहद में मॉइस्चराइजिंग के गुण होते हैं जो कि आपके बालों को डीपली नॉरिश करने के साथ साथ बालों को नमी भी देता है। ये आपके बालों को उलझने से भी बचाता है। दो तीन बार के प्रयोग से ही आप अपने बालों फर्क देख पाएंगी।

अगर आपके दो मुंहे बाल है तो उसके लिए भी यह नुस्खा बहुत ही असरदार है। आपके दो मुंहे बालों को ट्रिम करवाना भी बहुत जरूरी है। एक बार आप इस तरीके से शैंपू करके जरूर देखिए फिर आप देखेंगे कि आपके बाल इतने खूबसूरत हो जाएंगे। यह नुस्खा बहुत ही कमाल का है बालों की सभी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए आप ये तरीका ज़रूर अपनाये।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleसर्दी खांसी जुकाम का घरेलू उपचार
Next articleजानिए किस विटामिन की कमी का संकेत दे रहा है आपका शरीर
Loading...

Leave a Reply