lahsun ke fayde garlic benefits in hindi

औषधिय गुणों से भरपूर लहसुन की एक कली में 4 कैलोरी और 1 ग्राम से कम लहसुन में भरपूर मात्रा में प्रोटीन, कार्बोहाइट्रेट और फैट पाया जाता है। इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन सी, ए और बी, के साथ मैग्नीशियम, कैल्शियम, जिंक, सेलेनियम पाया जाता है। इसके अलावा इसमें एंटी कैंसर यौगिक, इम्यूनिटी को तेज करने की क्षमता के साथ हार्ट को मजबूत करने के एंटी ऑक्सीडेंट पाया जाता है। जानिए सोने से पहले लहसुन खाने के फायदों के बारें में।

■  लहसुन खाने से हमारे शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्राल को कंट्रोल में रखता है। जिससे आपका हार्ट हमेशा हेल्दी रहता है।

■  अगर आप रात को सोने से पहले लहसुन खाएंगे तो आपके शरीर में मौजूद विषाक्त तत्व यूरिन के माध्यम से बाहर निकल जाएगे।

■  अगर आपको अपना वजन कम करना है तो सोने से पहले लहसुन खाएं। इससे आपका मेटाबॉलिज्म तेजी से काम करेगा। जो कि वजन कम करने में मदद करेगा। (पैंक्रियाज कैंसर की पहचान करना है मुश्किल, जानिए लक्षण, कारण और कैसे करें बचाव )

■  लहसुन खाने से आपकी हड्डियां मजबूत होगी। साथ ही ये एंटी एजिंग का काम करता है।

■  ‘अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रिसन’ में प्रकाशित एक शोध के अनुसार साउथ यूरोप के लोगों को कैंसर जैसी गंभीर होने का खतरा बहुत ही कम होता है। क्योंकि वह अधिक मात्रा में लहसुन का सेवन करते है। लहसुन में ऐसे अल्काइन पाएं जाते है। जो कि कोलेस्ट्राल को कम करने के साथ-साथ, लीवर और पैंक्रियाटिक कैंसर से बचाता है।

■  अगर आपके शरीर में अधिक कमजोरी है। तो इसका सेवन सोने से पहले करें फिर देखें कमाल।

■  अगर आपको सांस संबंधी समस्या है तो आप  लहसुन का सेवन करें। इससे आपको लाभ मिलेगा।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleपेट की सभी बीमारियों का इलाज – RAJIV DIXIT || एसिडिटी, पेट गैस, कब्ज का रामबाण घरेलू इलाज
Loading...

Leave a Reply