Stomach-Problems pet ki samasyaein

हमारा शरीर काफी सेंसिटिव माना जाता है क्योंकि शरीर के किसी भी भाग में छोटी सी समस्या भी हमें परेशान करती है और सोचने पर मजबूर करती है कि ऐसा क्यों हो रहा है? चाहे सिर दर्द हो या पैर का दर्द हो या चाहे पेट से जुड़ी समस्याएं, लगभग हर व्यक्ति को किसी न किसी वजह से यह छोटी मोटी समस्याएं होती रहती हैं। पेट की समस्या का आमतौर पर यही कारण होता है, या तो आपने खाना ढंग से नहीं खाया या आप ने कुछ गलत खा लिया है। कुछ लोगों को जब भी कोई पेट से जुड़ी समस्या होती है जैसे पेट से आवाज आना, तो वह उसे गंभीरता से लेकर अल्ट्रासाउंड और एक्स-रे की भी मदद लेने लगते हैं। पर वास्तव में उसका कोई पॉजिटिव रिजल्ट नहीं आता क्योंकि पेट से जुड़ी आवाज किसी खास वजह से नहीं बल्कि उल्टा सीधा खाने से या गलत तरीके से खाने से उत्पन्न होती है।

आमतौर पर आपके द्वारा सेवन किया गया भोजन ही पेट की दीवारों से टकराकर इन आवाजों की उत्पत्ति करता है। कई बार ऐसा भी होता कि आपने बहुत देर से कुछ खाया नहीं है और इसलिए भी आपका पेट गुड गुड की आवाजें करता हैं। यह कोई गंभीर समस्या नहीं है जिसके लिए आपको डॉक्टर के पास भागने की जरूरत पड़े। ज्यादातर लोग इस चीज से वाकिफ हैं कि पेट में आवाज आना कोई घबराने का विषय नहीं है, पर ऐसा क्यों होता है जिन लोगों को इन कारणों का पता नहीं है उनके लिए आज हम इस विषय में कुछ बिंदुओं पर रोशनी डाल रहे है-

लंबे समय तक भूखा रहना

आजकल की व्यस्त लाइफ स्टाइल को लेकर बहुत सारे लोग खाना छोड़ देते हैं और अपने काम में व्यस्त हो जाते हैं। यह आपकी पाचन तंत्र को सीधे रूप से प्रभावित करता है और साथ ही यह पेट में गुड़गुड़ जैसी आवाज उत्पन्न करने का मूल कारण माना जाता है। अगर आप समय ना होने की वजह से या अपने काम में व्यस्त होने की वजह से बहुत देर से भूखे हैं तो जल्दी कुछ खा लें, इससे आपको पेट में आवाज महसूस नहीं होंगी और यह आपके स्वास्थ्य के लिए भी बेहतर है।

गैस बनने की वजह से

आजकल के खान-पान के ढंग से और जिंदगी जीने की आदतों से पेट में गैस होना एक आम बात हो गया है। यह कोई बीमारी नहीं है जिसका आप इलाज कराएँ और आप ठीक हो जाएंगे। जब भी आपके पेट में गैस बनती है तो यह आपके पेट की दीवारों से टकराकर गुड़-गुड़ की आवाज बनाती है इसलिए अगर आप पेट में आ रही आवाजों से परेशान है तो इस बात का ध्यान रखें कि यह आपके पेट में गैस होने से हो रहा होगा। ऐसे में भोजन सही ढंग से करें और उल्टा-सीधा खाने से बचे, जिससे आपको गैस में और पेट से आ रही आवाज में आराम मिलेगा।

नित्य क्रिया गलत वक्त पर करना

अगर आप सही समय पर मल त्याग नहीं कर रहे हैं तो भी यह पेट से गुड़गुड़ जैसी आवाज आने का कारण हो सकता है। सही समय पर वॉशरूम न जाने के कारण हमारे पेट में हवा ऊपर नीचे हो सकती है जिससे हमारी आतों में दबाव बनता है और कई बार इससे ही पेट में आवाज आने लगती है।

पाचन प्रक्रिया दुरुस्त न होना

हमारा शरीर हमारी आदतों के अनुसार एक समय पर किसी भी काम को करने का आदी हो जाता है इसलिए अगर आप अपना भोजन समय पर ना करके किसी अन्य समय पर खाने लगते हैं तो भी आपके पेट का संतुलन बिगड़ना तय है। इसकी वजह से आप को भोजन पचाने में भी परेशानी होती है और पेट से आवाज आने लगती है। कई बार बहुत देर रात तक जागने से भी आपको खाना पचाने में मुश्किल का सामना करना पड़ता है इस वजह से भी आपको पेट में गुड़गुड़ जैसी आवाज़ आती है।

दस्त लगने की वजह से

जब भी आपका पेट खराब होता है या आप दस्त से जूझ रहे होते हैं तो आपके पेट से आवाज आने लगती हैं। ऐसा मुख्य रूप से इसलिए होता है क्योंकि आपका भोजन सही तरह से पच नहीं पाता और यह आपके पेट में गुड़गुड़ जैसी आवाज पैदा करता है। ऐसे में आपको भोजन से पोषण अवशोषित करने में मुश्किल का सामना करना पड़ता है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleचेहरे के लक्षण देख कर जानिए शरीर में क्या चल रहा है
Next articleअगर आप पीते है सिगरेट, तो हो जायेगा यह हाल |
Loading...

Leave a Reply