कई बार मरीज जब टैबलेट या कैप्सूल लेने में दिक्कत महसूस करते हैं तो उसे पीस लेते हैं या कैप्सूल खोलकर उसके दाने या पाउडर किसी अन्य चीज में मिलाकर ले लेते हैं। ऎसा करना गलत है क्योंकि कई दवाएं धीरे-धीरे घुलकर शरीर के उस हिस्से पर असर छोड़ती हैं, जहां उनकी सबसे ज्यादा जरूरत होती है।

■   इन वजहों से होता है कमर दर्द, इसको जड़ से ख़त्म करने का सबसे आसान घरेलु उपाय

जो दवाएं तुरंत असर के लिए होती हैं, वे पेट में जाकर फौरन घुल जाती हैं और रक्त में मिलकर काम शुरू कर देती हैं। जबकि एस्प्रिन और ओमेप्राजोल जैसी दवाओं में विशेष एसिड रेजिस्टेंस कोटिंग होती है। ये पेट से होकर गुजरती जरूर हैं लेकिन घुलती छोटी आंत में हैं। इन दवाओं को तोड़ने पर इनकी कोटिंग नष्ट होने से ये बेअसर हो जाती हैं।

ध्यान रहें ये बातें मेनोपॉज के बाद ओस्टियोपोरोसिस के इलाज के लिए दी जाने वाली दवाओं को अगर चबाया या चूसा जाए तो ये भोजन नली को नुकसान पहुंचा सकती हैं। इन दुष्प्रभावों से बचने के लिए जरूरी है कि दवाओं को जिस रूप में और जिस समय पर डॉक्टर ने आपको लेने के लिए कहा है, उन्हें उसी निर्देशानुसार लें। बेस्वाद या कड़वी लगने की सोच के चक्कर में दवाओं का प्रभाव नष्ट न करें।

■   शाकाहारी लोगों के लिए वो 10 चीजें, जिनसे मिलेगा मीट से ज्यादा आयरन
Loading...

Leave a Reply