नीम प्रकृति का दिया हुआ अद्भुत उपहार है। इसकी पत्‍तियां, बीज, जड़ें यहां तक की तेल भी प्रयोग में लाया जाता है। नीम के बीज से निकाला हुआ तेल हमारे कई काम आ सकता है। वैदिक काल से ही नीम के तेल का प्रयोग किया जाता रहा है। नीम का तेल कई प्रकार के इलाजों और दवाई के रूप में प्रयोग किया जाता रहा है। नीम के तेल में इतने उपयोगी गुण हैं जो आपकी सेहत और सौंदर्य दोनों को ही फायदा पहुंचा सकते हैं।

नीम के तेल में बहुत सारे औषधीय गुण छुपे हुए हैं इसलिये यह तेल स्‍वास्‍थ्‍य लाभों से भरा हुआ है। आयुर्वेद में नीम को सर्व रोग निवारिनी कहा गया है, यानी जो सभी रोगो को हर ले।

नीम का तेल हल्‍का भूरे रंग का होता है, जो स्‍वाद में तीखा होता है। नीम का तेल किस प्रकार से इस्‍तमाल किया जा सकता है इसके लिये पढ़ें हमारा यह लेख।

पालतू जानवरों को दे कीड़ों से राहत

घर में पालतू जानवरों जैसे कुत्ता, गाय, और बिल्ली आदि को कीड़े लग जाते हैं और धीरे-धीरे ये कीड़े सारे शरीर में फैलने लगते हैं । नीम के तेल में माइल्ड साबुन को मिलाकर पेस्ट बनाएं और इस मिश्रण को पालतू जानवरों के उपर छिडकें। उन्हें राहत मिलेगी।

एक्‍जिमा

नीम का तेल एंटीसेप्‍टिक गुणों से भरा है जो एक्‍जिमा में होने वाली सूजन और खुजली को कम करता है। यह सूखी और क्षतिग्रस्त त्वचा को ठीक करता है।

itching-home-remedy

त्वचा संक्रमण के लिए

एथलीट फूट, नाख़ून कवक जैसे त्वचा रोग फंगल संक्रमण के कारण होते है। नीम में पाए जाने वाले दो योगिक गेदुनिन और निबिडोल त्वचा में पाए जाने वाले फफूंद को समाप्त करते है और संक्रमण को कम करते है।

मलेरिया

नीम का तेल रोग के प्रभावित क्षेत्रो में लार्वा के जन्म की गिनती को कम करने में असरदार काम करता है। नीम के तेल का प्रयोग मलेरिया को नियंत्रित करने के लिए एक अनुकूल तरीका है।

दांतों के लिये

नीम का तेल मसूड़े की सूजन और दांत की सड़न को दूर करने का काम करता है।

how-to-get-white-teeth-at-home-fast

जीवाणु रहित गुण

नीम का तेल दवाओं में भी किया जाता है। घाव और खरोच को ठीक करने के लिये इसका तेल उपयोग करें क्योंकि यह विषाक्त रहित है, जो संक्रमण का इलाज़ करता है।

बालों की देखभाल के लिए नीम का तेल

जुओं का उपचार

जुएँ काफी छोटे कीड़े जैसे जीव होते हैं, जो आपके सिर की त्वचा पर पैदा होकर आपका खून पीते हैं। इनके सिर की त्वचा पर अतिरिक्त रूप से काटने पर घाव हो जाता है, जिससे एक व्यक्ति को काफी दर्द होता है। अतः अपने बालों और सिर को जुओं के प्रभाव से मुक्त रखना ही बेहतर विकल्प होता है। आप नीम के तेल का अपने बालों की जड़ों में प्रयोग करके जुओं को दूर रख सकते हैं। क्योंकि इस तेल की कोई एलर्जिक प्रतिक्रिया नहीं होती, अतः आपकी सिर की त्वचा का प्रकार चाहे जो भी हो, आप इसे अपने सिर में लगा सकते हैं।

दोमुंहे बाल हटाएं

सीरम, फ्लैट आयरन या कर्लिंग आयरन जैसे स्टाइलिंग उत्पादों के ज़्यादा प्रयोग से भी बाल रूखे और दोमुंहे हो सकते हैं। आप अब नीम के बीज के अंश निकालकर इन्हें अपने बालों की जड़ में लगा सकते हैं। आप अब नीम के तेल की मदद से बालों में गहरी मोइस्चराइज़िंग भी प्राप्त कर सकते हैं। यह रूखे और क्षतिग्रस्त बालों की भी मरम्मत करता है तथा आपके बालों को मुलायम और संभालने लायक बनाता है।

hair-split-end-reduction

फ्रिज़ी बालों का उपचार

बालों में निरंतर हानिकारक रसायनों और सौन्दर्य उत्पादों का प्रयोग करने पर आपके सिर पर फ्रिज़ी और रूखे बाल पैदा हो जाते हैं। आप अब इस स्थिति का नीम के तेल से आसानी से उपचार कर सकते हैं। आप इस तेल को या तो सीधे अपने सिर पर लगा सकते हैं, या फिर इसकी कुछ बूंदों का मिश्रण अपने शैम्पू में भी कर सकते हैं। अगर आप नीम के तेल को शैम्पू के साथ मिश्रित कर रहे हैं तो ऐसा निरंतर अपने रोजाना प्रयोग में लाये जा रहे शैम्पू की मात्रा को निकालकर करें। इस तरह इस शैम्पू से बालों को धोने पर आप पाएँगे कि एक बालों के सूख जाने पर वे किस तरह चमकदार बन जाते हैं।

घुंघराले बालों को सीधा करें

नीम के तेल से बालों पर मालिश करने से घुंघराले बाल ठीक होते हैं। नीम के तेल से बालों पर शैंपू करने से कुछ समय बाद बाल सीधे होने लगते हैं।

नीम के तेल के त्वचा पर फायदे

जब बात आपकी त्वचा की हो तो नीम का तेल काफी फायदेमंद साबित होता है। कई तरह के साबुन और अन्य सौन्दर्य उत्पादों में नीम के अंशों का काफी मात्रा में प्रयोग किया जाता है। आप नीम के तेल की मदद से रूखी और खुजलीदार त्वचा से भी छुटकारा पा सकते हैं।

उम्र के निशानों से लड़े

उम्र बढ़ना एक ऐसी प्रक्रिया है, ज्सिके शिकार हम सभी होते हैं ,परन्तु कोई भी समय से पहले बूढ़ा नहीं होना चाहता। नीम के तेल के प्रयोग से आपके उम्र के निशानों के लक्षण कम और देरी से आते हैं। कि बार जीवनशैली में परिवर्तन की वजह से भी लोग समय से पहले ही उम्रदराज दिखने लगते हैं। आप त्वचा पर नहाने से पहले 10 मिनट तक नीम के तेल की मालिश कर लें और बाद में इसे गर्म पानी से धो लें। आप इसका प्रयोग रात को सोने से पहले भी कर सकते हैं, जिससे इसका प्रभाव रातभर बना रहे। नीम के तेल के प्रयोग से आप जवान और खूबसूरत दिख सकते हैं।

Wrinkles

एक्ने से राहत

बैक्टीरिया की वजह से त्वचा पर काफी मात्रा में मुहांसे और एक्ने हो जाते हैं। नीम का तेल बैक्टीरिया को प्रभावी रूप से त्वचा की परतों से निकालता है, जिससे ये मुहांसे निकलना काफी कम हो जाते हैं। मुहान्सं का पहला चरण चेहरे के ऊपर आया लालपन है। क्योंकि नीम के तेल में उच्च मात्रा में फैटी एसिड भी होते हैं, अतः इसके निरंतर प्रयोग से चेहरे से दाग और घाव के निशान दूर हो जाते हैं।

फंगल संक्रमण का उपचार

हममें से ज़्यादातर लोग फंगल संक्रमण का शिकार होते हैं, जो उनकी त्वचा के ऊपर धब्बों के रूप में दिखता रहता है। नीम एक शक्तिशाली एंटी फंगल तत्व है जो बाज़ार में मिलने वाले अन्य सौन्दर्य उत्पादों के मुकाबले आपकी त्वचा के लिए कहीं अच्छा है। आप अब अपनी त्वचा के उस भाग पर नीम का तेल लगा सकते हैं, जहां आपको फंगल संक्रमण की शिकायत है। यह बात भी साबित हो चुकी है कि नीम का तेल 14 अलग अलग तरह के फंगस का उपचार कर सकता है।

Loading...

Leave a Reply