मखाना खाने के फायदे इन हिंदी

तालाब, झीलों और दलदली क्षेत्र के पानी में उगने वाला मखाना पोषक तत्वों से भरपूर जलीय उत्पाद है। मखाने का इस्तेमाल तरह तरह के व्यंजन बनाने में किया जाता है। खाने में स्वादिष्ट मखाना कई तरह के आवश्यक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें एक तरह का ऐसा एंजाइम पाया जाता है जो बुढ़ापे को कम करता है। मखाना प्रोटीन, विटामिन, फाइबर, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन और जिंक जैसे खनिज और पोषक तत्वों से भरपूर होता है। मखाना तालाब, झील, दलदली क्षेत्र के शांत पानी में उगये जाते। मखाना पोषक तत्वों से भरपुर एक जलीय उत्पाद है। मखाने में 9.7% आसानी से पचनेवाला प्रोटीन, 76% कार्बोहाईड्रेट, 12.8% नमी, 0.1% वसा, 0.5% खनिज लवण, 0.9% फॉस्फोरस एवं प्रति 100g 1.4 mg लौह पदार्थ मौजूद होता है। इसमें औषधीय गुण भी होता है।

आइये जानें makhana ke fayde, how to eat makhana in hindi, makhane ke fayde in pregnancy, makhana means in hindi, makhane ki taseer, makhana benefits during pregnancy in hindi, makhana kaise banta hai, benefits of makhana for weight loss।

मखाना के अद्भुत फायदे

Benefits Of Makhana In Hindi

कमजोरी दूर करे 

मखाना ऊर्जा का अच्छा स्रोत है। इसके सेवन से तुरंत ही ऊर्जा मिलती है। इसके नियमति सेवन शारीरिक दुर्बलता खत्म होती है।

👉 इसे भी पढ़ें : सोते वक़्त 5 मुनक्का खाने से ऐसे परिणाम मिलेंगे कि आप हैरान रह जाएंगे, होते है ये 50 अद्भुत फायदे

पेशाब करने में परेशानी

1 से 3 ग्राम मखाने को गर्म पानी के साथ दिन में 3 बार सेवन करने से मूत्रकृच्छ (पेशाब करने में परेशानी) दूर हो जाती है।

मजबूत हड्डियाँ 

कैल्शियम से लबरेज मखाना हड्डियों को मजबूत बनाता है। इसके नियमित सेवन से हड्डियों और जोड़ो के दर्द से मुक्ति मिलती है।

स्वस्थ त्वचा

मखाना में एंटीओक्सिडेंट और एंटी एजिंग तत्व पाए जाते हैं। इसे रोजाना खाने से चेहरे पर झुर्रियों नहीं आती तथा चेहरा लम्बे समय तक जवां और निखरा-निखरा रहता है।

शारीरिक शक्ति 

मखाना के 3 से 6 ग्राम बीज तथा चीनी को एक साथ पीसकर मिश्रण तैयार करें, फिर इस मिश्रण को दूध के साथ दिन में 3 बार देने से शारीरिक शक्ति बढ़ती है।

👉 इसे भी पढ़ें : पेट की चर्बी देखते ही देखते हवा में गायब कर देगा ये रामबाण उपाय

किडनी

मखाने के सेवन से शरीर से हानिकारक टॉक्सिक तत्व बाहर होते हैं जिस से किडनी में किसी भी तरह की समस्या उत्पन्न होने की संभावनाएं न के बराबर हो जाती हैं। मखाना के 3 से 6 ग्राम बीज तथा चीनी को एक साथ पीसकर मिश्रण तैयार करें, फिर इस मिश्रण को दूध के साथ दिन में 3 बार देने से पथरी के रोग में लाभ मिलता है।

नाभि के रोग और सूजन

ताल मखाना की जड़ का काढ़ा 40 ग्राम या बीज 2 से 4 ग्राम को दूध के साथ सुबह-शाम लेने से नाभि के रोग और सूजन दूर होती है।

मधुमेह

मधुमेह रोगियों के आहार में मखाना शामिल करना उनके लिए बहुत फायदेमंद होता है। मखाने के सेवन शरीर में इन्सुलिन का स्तर नियंत्रित रहता है।

👉 इसे भी पढ़ें : इंद्र जौ 3 दिन में पीलिया, 2 बार में मुँह के छालें,5 दिन में पथरी तो मधुमेह में तो सौ प्रतिशत परिणाम

दिल के लिए भी लाभदायक

मखाने के सेवन से शरीर का कोलेस्ट्रोल लेवल कम होता है। इसके नियमित सेवन से हृदय सम्बन्धी रोगों के होने का भी ख़तरा टलता है।

मजबूत मांसपेशियां 

मखाना प्रोटीन से भरपूर होता है। कसरत करने वालो या जिम जाने वालो को मखाना का सेवन तो अवश्य ही करना चाहिए। इसके सेवन से मसल्स का निर्माण होता है और मांसपेशियां मजबूत बनती है।

फीलपांव या गजचर्म 

घी, शहद, मक्खन, पीपल, अदरक, मिर्च और सेंधानमक को मिलाकर पीने से फीलपांव का रोग दूर हो जाता है।

👉 इसे भी पढ़ें : जानिये कैसे गंभीर रोगों से रक्षा करता है कलावा या मौली

दोस्तों makhana kya hai aur ise kaise khate hain, makhana ke fayde aur labh in hindi, makhana for weight loss in hindi  का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास makhana kin bimariyon mein faydemand hai in hindi के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Loading...

Leave a Reply