आज हम आपको कुछ ऐसे फल बताने जा रहे हैं, जिसका सेवन मधुमेह के रोगी आराम से कर सकते हैं। दरअसल, मधुमेह के रोगियों को रेशेदार फल, जैसे तरबूज, खरबूजा, पपीता, सेब और स्ट्राबेरी आदि खाने चाहिए। इन फलों से रक्त शर्करा स्तर नियंत्रित होता है इसलिये इन्हें खाने से कोई नुकसान नहीं होता। मधुमेह रोगियों को फलो का रस नहीं पीना चाहिये क्योंकि एक तो इसमें चीनी डाली जाती है और दूसारा कि इसमें गूदा हटा दिया जाता है, जिससे शरीर को फाइबर नहीं मिल पाता। तो आइये जानते हैं कि मधुमेह रोगियों को कौन-कौन से फलों का सेवन करना चाहिये।

■   शुगर की बीमारी में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं – Sugar Diet Chart In Hindi

आंवला

इस फल में विटामिन सी और फाइबर होता है जो कि मधुमेह रोगी के लिये अच्छा माना जाता है।

सेब और अनार

फलों में मधुमेह के मरीजों को सेब एवं अनार खाने की सलाह दी जाती है। सेब में पेक्टिन होता है जो आपके शरीर की इंसुलिन की जरुरत को कम करता है। यह शरीर के विषैले तत्व को भी बाहर निकालता है। अतः सेब को मधुमेह के मरीजों के लिए एक उपयुक्त फल माना जाता है।

अनार मध्य पूर्व के देशों में मधुमेह के मरीजों में बहुत लोकप्रिय हैं। इसका सबसे प्रमुख कारण यह है कि मीठा होते हुए भी यह मधुमेह के मरीजों के शरीर की रक्त शर्करा के स्तर को प्रभावित नहीं करता। शोधकर्ताओं ने पाया है कि अनार का रस पीने वाले मरीजों में अथेरोसेलोरोसिस होने का खतरा कम पाया जाता है।

■   चेहरे और नाक से ब्लैक हेड्स हटाने के 5 आसान उपाय और नुस्खे

खरबूज

इसमें ग्लाइसिमिक इंडेक्स ज्यादा होने के बावजूद भी फाइबर की मात्रा अच्छी होती है इसलिये यदि इसे सही मात्रा में खाया जाए तो अच्छा होगा।

कीवी

कीवी कई रिसर्च के अनुसार यह बात सामने आई है कि कीवी खाने से ब्लड शुगर लेवल कम होता है।

अंगूर

अंगूर का सेवन मधुमेह के एक अहम कारक मेटाबोलिक सिंड्रोम के जोखिम से बचाता है। अंगूर शरीर में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करता है ।

■   सिर्फ 7 दिन छुहारा खाने के बाद ऐसे परिणाम मिलेंगे कि आप हैरान रह जायेंगे

काली जामुन

काली जामुन मधुमेह रोगियो के लिये यह फल बहुत ही लाभकारी है। इसके बीजो़ को पीस कर खाने से मधुमेह कंट्रोल होता है।

संतरा

संतरा यह फल रोज खाने से विटामिन सी की मात्रा बढेगी और मधुमेह सही होगा ।

अमरख

अमरख यदि आप को मधुमेह है तो आप यह फल आराम से खा सकते हैं। पर यदि रोगी को डायबिटीज अपवृक्कता है तो उसे अमरख खाने से पहले डॉक्टर से पूछना चाहिये।

■   सिर्फ 1 महीने तक पैरो के इन 2 पॉइंट को दबाने से मधुमेह भी घुटने टेक देता है, बहुत ही अद्भुत उपाय है जरूर आजमाएँ

आड़ू

आड़ू इस फल में भी जीआई बहुत कम मात्रा में पाया जाता है और मधुमेह रोगियों के लिये अच्छा माना जाता है।

पपीता

पपीता इसमें विटामिन और अन्य तरह के मिनरल होते हैं।

अमरूद

अमरूद में विटामिन ए और विटामिन सी के अलावा फाइबर भी होता है।

अनानास

अनानास इसमें एंटी बैक्टीरियल तत्व होने के साथ ही शरीर की सूजन कम करने की क्षमता होती है। यह शरीर को पूरी तरह से फायदा पहुंचाता है।

■   हाथों और पैरों में दर्द सूजन जलन का इलाज के 5 घरेलू उपाय

चैरी

चैरी इसमें जीआई मूल्य 20 होता है जो कि बहुत कम माना जाता है। यह मधुमेह रोगियों के लिये बहुत ही स्वास्थ्य वर्धक मानी जाती है।

इनके इलावा जो आप खा सकते हैं।

ओटमील यानि जई का आटा

जई का आटा मधुमेह के लिए मरीजों के लिए बहुत हीं उपयुक्त आहार माना जाता है। आप इसका सेवन सुबह शाम नाश्ते के रूप में किया करें तो आपको बहुत लाभ पहुंचेगा।

अलसी

गर्मियों में 1 चम्मच अलसी दही या छाछ के साथ और सर्दियों में ३ चम्मच तक अलसी खाए क्यूंकि इसमें ओमेगा 3 होता हैं। ओमेगा 3 फैटी एसिड आपकी धमनियों को साफ एवं स्वस्थ रखने में अहम् भूमिका निभाता है। मधुमेह के रोगियों को अक्सर उच्च ट्राइग्लिसराइड्स और एचडीएल के कम स्तर की शिकायत रहती है। एचडीएल ‘अच्छा कोलेस्ट्रॉल होता है जो ख़राब कोलेस्ट्रॉल के कुप्रभाव को कम करता है। ओमेगा -3 फैटी एसिड शुगर लेवल कम करने में विभिन्न तरीकों से मददगार सिद्ध होता है। ओमेगा-3 फैटी एसिड्स दिल एवं दिमाग के लिए भी टोनिक का काम करता है।

■   जो करेगा अलसी का सेवन, नहीं सताएगा कोई भी रोग जियेगा स्वस्थ जीवन

लहसुन

लहसुन भी ब्लड शुगर को कम करने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अतः अगर आप मधुमेह के मरीज हैं तो रोज सुबह लहसुन की दो तीन कलियों को चबाया करें या कुतरकर निगला करें। इससे आपको हाई ब्लड प्रेशर एवं दिल की बीमारियों में भी बहुत लाभ मिलेगा। मधुमेह से कैंसर होने की संभावना बढ़ जाती है लेकिन लहसुन कैंसर को रोकने में बहुत हीं प्रभावशाली माना जाता है।

दालचीनी

दालचीनी घर घर में पाया जाने वाला एक मसाले के रूप में जाना जाता है। लेकिन यह न सिर्फ आपके खाने का जायका बढाता है बल्कि यह आपके शरीर में रक्त शर्करा को भी नियंत्रण में रखता है। जिन लोगों को मधुमेह नहीं है वे इसका सेवन करके मधुमेह से बच सकते हैं। और जो मधुमेह के मरीज हो चुके हैं वे इसके सेवन से ब्लड शुगर को कम कर सकते है। दालचीनी को पीसकर चाय में चुटकी भर मिलाकर दिन में दो तीन बार पीया करें। इसका ज्यादा सेवन करना उचित नहीं होता इसलिए रोजाना थोड़ा थोड़ा हीं सेवन करें।

■   आपकी सेहत बिगाड़ रहे हैं गर्मियों के ये पेय पदार्थ
Loading...

Leave a Reply