machchar bhagane ka gharelu desi nuskha upay

वैसे तो मार्किट में मच्छर मारने की टिकियाँ व दवाइयां आती हैं लेकिन इनके प्रयोग से हमारी बॉडी को काफी ज़्यादा नुक्सान पहुंचता है। मच्छर भगाने वाली क्वाइल 100 सिग्रेट के बराबर नुकसान पहुंचाती है अब ज़रा सोचिये ये हमे कितना नुकसान पहुंचाती होगी घर में छोटे-छोटे मासूम बच्चे भी इस धुवे से नहीं बच पाते और उनके लिए ये धुंआ किनता ज़्यादा हानिकारक होता है ये तो आप सोच भी नहीं सकते इसीलिए इनका प्रयोग करने की बजाए हमें प्राकृतिक तरीकों से मच्छरों को भगाना चाहिए।

मच्छर भगाने का घरेलू आयुर्वेदिक तरीका

नीम केरोसीन लैम्प Neem Oil Machar Bhagane Ke Liye

एक छोटे लैम्प में मिटटी के तेल में तीस बुँदे नीम के तेल की डालें और दो टिक्की कपूर की 20 ग्राम नारियल के तेल में पीस कर घोल लें।

इसे जलाने पर घर के सभी मच्छर भाग जाते है और जब तक ये लैम्प जलती रहती है मच्छर इसके आस पास भटकते भी नहीं और इसे जलाने से कोई नुकसान भी नहीं होता।

अजवाइन

अजवाइन लेकर इसे बारीक़ पीस लें। अब इसमें समान मात्रा में सरसों का तेल मिलाकर इसमें गत्ते के टुकड़ों को अच्छे से डुबो कर कमरे में चारों और उंचाई पर रख दें। ऐसा करने से घर के सभी मच्छर तुरंत भाग जाएंगे।

दिया

•  नारियल के तेल में बराबर मात्रा में नीम के तेल को डाल कर उसका दिया जलाए इससे घर के सारे मच्छर भाग जाएंगे।

•  दहकते हुए कोयलों पर नारंगी के छिलके डाल दें। इससे जो धुंआ निकलेगा उससे भी मच्छर भाग जाते।

•  सोयाबीन के तेल से स्किन की हल्की सी मसाज करें। इससे भी मच्छर आप से दूर ही रहेंगे। इसके अलावा यूकेलिप्टस का तेल भी काफी कारगर होता है।

•  तुलसी के पत्तों का रस बॉडी पर लगाने से भी मच्छर नहीं काटते।

•  शरीर पर सरसों का तेल लगाने से भी मच्छर नहीं काटते।

•  नीम के पत्तो को जलाने से जो धुंआ निकलता है इससे भी मच्छर एकदम भाग जाते हैं।

•  लौंग के तेल की खुशबु से मच्छर बहुत दूर भागते हैं। लौंग के तेल को नारियल तेल में मिलाकर स्किन पर लगाएं, इसका असर ओडोमॉस से कम नहीं होता है।

•  गेंदे के फूल की खुशबू न सिर्फ आपको ताज़गी से भर देती है बल्कि इससे मच्छर भी कोसो दूर भागते है। गेंदे का पौधा आप न सिर्फ अपने बगीचे में रखें बल्कि इन्हें बालकनी में भी लगाएं जिससे शाम के वक्त मच्छर आपके घर में न घुस सके।

•  मच्छरों से बचने के लिए मच्छरदानी भी बेस्ट ऑप्शन है।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleगर्म रोटी खाने के फायदे
Next articleनहाने का सही तरीका – The right way to bath in Hindi
Loading...

Leave a Reply