dengue

प्लेटलेट्स | Platelets

कितनी भी खून की कमी हो, अगर इन फूड्स को अपने भोजन में स्थान देंगे तो कुछ ही दिनों में खून की कमी दूर हो जाएगी। खून की कमी अक्सर औरतो में अधिक पायी जाती हैं। अगर आपके नाखून सफ़ेद हैं तो आप एनीमिक हो सकते हैं। भोजन के असंतुलन और हीमोग्लोबिन की कमी के कारण शरीर श्रम से प्रभावित होता हैं तथा यह रोग बढ़ जाता हैं। अर्थात मेहनत ज़्यादा और भोजन में पोषक तत्वों की कमी।

जैसा कि आप जानते हैं, आजकल बहुत से लोगों में रक्त की कमी होती है। खून की कमी से मनुष्य के शरीर में अनेक बीमारियां होने लगती हैं। कई बार एक्सीडेंट या अन्य कोई बीमारी होने के कारण हमारे शरीर में रक्त की कमी हो जाती है। ऐसे में हमें खून की पूर्ति के लिए अनेक चीजों का सेवन करना होता है। दोस्तों आज हम आपको बताएंगे, खून की कमी को मात्र 10 दिन में पूरा कर देंगे, ये 3 जबरदस्त घरेलु उपाय।

शरीर में खून की कमी तीन प्रमुख कारणों से होती हैं

भोजन में लोह तत्वों की कमी।

फॉलिक एसिड की कमी

विटामिन बी 12 की कमी।

ख़ून बढ़ाने के 3 सबसे कारगर उपाय

अनार का सेवन 

खून की कमी को दूर करने के लिए आना बहुत ही उपयोगी होता है। अनार में कैल्शियम, विटामिंस, मैग्नीशियम इत्यादि भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जो बहुत जल्दी रक्त की कमी को पूरा कर देते हैं। अनार खाने से ज्यादा उपयोगी अनार का जूस होता है।

चुकंदर का जूस

चुकंदर में भी कैल्शियम और विटामिन्स की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। रोज एक गिलास चुकंदर का जूस रोज पीने से शरीर में रक्त की कमी बहुत जल्दी पूर्ति हो जाती है। इससे रक्त साफ भी होता है।

खजूर का सेवन

खजूर में भी रक्त की कमी दूर करने का गुण विद्यमान होता है। इसके लिए रोज सुबह दूध के साथ 3-4 खजूर का सेवन किया जा सकता है।

ख़ून बढ़ाने के अन्य उपाय

हरी सब्जिया 

भोजन में नियमित हरी शाक सब्जियों का मिश्रण पर्याप्त मात्रा में होना चाहिए। मौसम के अनुकूल आने वाली सब्जियों का सेवन ज़्यादा करना चाहिए।

केला 

प्रात : तीन केले खाकर दूध में मिश्री, इलायची मिलाकर नित्य पीते रहने से रक्त की कमी दूर हो जाती हैं। यह पौष्टिक नाश्ता हैं।

अंगूर

10 ओंस अंगूर का रस पीते रहने से रक्तालप्ता में लाभ होता हैं। अर्थात खून की कमी पूरी होती हैं।

नीम्बू 

जिनके शरीर में रक्त की कमो हो, शरीर दिन पर दिन गिरता जाए, उन्हें निम्बू और टमाटर के रस का सेवन लाभ पहुंचता हैं।

आंवला 

आधा कप आंवले के रस में दो चम्मच शहद, थोड़ा सा पानी मिलाकर पीने से लाभ होता हैं।

फालसा 

फालसा खाने से शरीर में रक्त बढ़ता हैं।

गाजर 

250 ग्राम गाजर के रस में पालक का रस मिलाकर पियें।

चुकंदर 

चुकंदर रक्त बढ़ाने में बहुत सहयोगी हैं। सीजन में इसका नित्य सेवन करना चाहिए। इसको डॉक्टर प्योर खून भी बोलते हैं।

प्याज 

प्याज में लोहा बहुत होता हैं, अत : इसको कच्चा या इस का रस शरीर में खून बढ़ाता हैं। प्याज का रस और गाजर का रस आधा आधा कप मिलाकर पीने से रक्तक्षीणता दूर होती हैं। प्याज का रस चौथाई कप और आंवले का रस या आंवले का चूर्ण एक चम्मच मिलाकर लेने से रक्तक्षीणता दूर हो जाती हैं। प्याज का रस आधा कप तथा पालक और टमाटर का रस आधा आधा गिलास, सबको मिलाकर पीने से लाभ होता हैं। प्याज का रस दो चम्मच तथा शहद दो चम्मच मिलाकर पीने से खून की कमी दूर होती हैं।

अनार

अनार नित्य खाने से कुछ ही दिनों में खून की कमी दूर होती हैं, और चेहरा लाल टमाटर जैसा बन जाता हैं।

शहद 

रक्त की कमी हो तो दिन में तीन बार एक एक चम्मच शहद पानी में या दूध में डालकर पिए।

पालक 

पालक की सब्जी और पालक का रस दोनों ही बहुत बढ़िया हैं खून बढ़ने में। इसके रस में स्वादनुसार शहद मिलाकर पी सकते हैं। इस से चेहरे पर लालिमा, शरीर में स्फूर्ति, उत्साह, शक्ति – संचार व् रक्त भृमण तेजी से होता हैं। चेहरे के रंग में निखार आता हैं। नेत्र ज्योति बढ़ती हैं।

रक्तवर्धक मुनक्का

60 ग्राम मुनक्के धो कर भिगो दे। बारह घंटो बाद इनको खाए। भीगे हुए मुनक्के पेट के रोगो को दूर कर रक्त बढ़ाते हैं। मुनक्के धीरे धीरे बढ़ा कर 200 ग्राम तक कर सकते हैं। वर्ष में इस प्रकार तीन चार किलो मुनक्के खाना बहुत लाभदायक हैं।

बेल 

बेल का सूखा गूदा पीस ले। गर्म दूध में इसके दो चम्मच और स्वादनुसार पीसी मिश्री मिला कर पियें। यह अच्छा रक्तवर्धक टॉनिक हैं।

डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों में

डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों में खून में प्लेटलेट्स की संख्या बड़ी तेजी से घटती है, जिसके चलते रोगी काफी कमजोर होने लगता है, इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे है ऐसे खास आहारों के बारे में जिनकी मदद से आप प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने में मदद कर सकते हैं, साथ ही यह प्राकृतिक रूप से प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने में मददगार होते हैं। इन उपाय को करने से मात्र 3 घंटो में ये अपना काम करने लगते है, प्लेट्लेट्स धीरे धीरे बढ़ने लगते है।

प्लेटलेट्स की मात्रा बढ़ा देंगे ये उपाय

पालक के पत्ते 

पालक का सेवन भी काफी फायदेमंद होता है, इसके लिए आप दो कप पानी में 4 से 5 ताजा पालक के पत्तों को डालकर कुछ मिनट के लिए उबाल लें फिर इसे ठंडा होने के लिए रख दें। फिर इसमें आधा गिलास टमाटर मिला दे और मिश्रण को दिन में तीन बार पिएं, इसके अलावा आप पालक का सेवन सूप, सलाद, स्‍मूदी या सब्‍जी के रूप में भी कर सकते हैं।

चुकंदर का रस 

प्‍लेटलेट्स को बढ़ाने के लिए चुकंदर का रस पिए साथ ही दो से तीन चम्मच चुकंदर के रस को एक गिलास गाजर के रस में मिलाकर पिया जाये तो ब्लड प्लेटलेट्स तेजी से बढ़ते हैं। इसमें मौजूद एंटी-ऑक्‍सीडेंट्स शरीर की प्रतिरोधी क्षमता भी बढ़ाते हैं।

पपीते का फल और पत्तियां

आप पपीते का रस भी पी सकते है, पपीते के फल और पत्तियां दोनों ही प्‍लेटलेट्स बढ़ाने में मददगार हैं आप चाहें तो पपीते की पत्तियों को चाय की तरह भी पानी में उबालकर पी सकते हैं। इसकी पत्तियों के रस से आपको अद्भुत परिणाम मिलेंगे।

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleवजन कम करने का उपाय
Loading...

Leave a Reply