खाँसी एक परेशान, बाधित करने वाली दर्दनाक बीमारी है। यह हमारी नींद को बर्बाद कर सकती हैं, भले ही हमारी नौकरी मांग करे हम जोर से बात नहीं कर सकते। ऐसी स्थिति में, हममें से ज्यादातर दवा की दुकान की और भागते हैं और कुछ दवाइयाँ उपयोग करते हैं। हम ऐसा क्यों करते हैं जब हमारे घर पर इस रोग के कुछ समाधान हैं|

क्या आपको गले और छाती में कुछ जमा हुआ सा महसूस हो रहा है? सांस लेने में तकलीफ और लगातार ठींके आ रही हैं? ये सारे लक्षण बलगम जमा होने के होते हैं। साथी ही, नाक बहना और बुखार आना भी इस समस्या के प्रमुख लक्षण हैं। बलगम हालांकि खतरनाक नहीं होता लेकिन अगर ये लंबे वक्त तक जना रहे तो इससे आपको श्वास संबंधी अन्य समस्याएं हो सकती हैं। बलगम जमने के बहुत सारे कारण हो सकते हैं, जैसे कि सर्दी-जुकाम, फ्लू, वायरल इन्फेक्शन, साइनस, अत्यधिक स्मोकिंग

आज हम आपको एक ऐसा घरेलू उपाए बताएंगे जिससे आपके छाती की बलगम तथा खांसी का नामों निशाना मिट जाएगा| तो chemicals से भरपूर दवाईयों पर पैसे क्यों खराब करने जब आपके पास इस समस्या का आयुर्वेदिक उपाए मौजूद है|

सामग्री

½ किलो गाजर

3-4 चम्मच शहद

विधि

  • पहले गाजरों को टुकड़ों में काट लें |
  • अब गाजरों को पानी में डाल कर उबाल लें तांकि यह मुलायम हो जाएँ | (गाजरों को जिस पानी में उबाला है उस पानी को सम्भाल कर रखें )
  • अब गाजरों को ब्लेंडर में डाल कर ब्लेंड करें |
  • गाजरो के पानी में शहद मिक्स करें और फिर इस मिश्रण में ब्लेंड की हुई गाजरे डाल कर मिक्स करें |
  • अब इस मिश्रण को ठंडी जगेह तथा (8-10 C degrees/ 46-50 Fahrenheit) तापमान में स्टोर करके रखें |
  • रोजाना दिन में 3-4 चार चम्मच इस मिश्रण का सेवन करें | 1-2 दिनों में ही आपको फर्क नजर आने लगेंगे | और कुछ ही दिनों में छाती की बलगम और खांसी का सफाया हो जाएगा |

9 COMMENTS

Leave a Reply