केसर के फायदे | केसर के उपयोग | केसर खाने का तरीका

केसर एक सुगंध देने वाला पौधा। पतली बाली सरीखा केसर 15-25 सेंटीमीटर ऊंचा होता है। इसके पुष्प को हिन्दी में केसर, उर्दू में जाफरान और अंग्रेजी में सैफरॉन कहते हैं। आयुर्वेद शास्त्र के अनुसार नियमित रूप से, अल्प मात्रा में ग्रहण करने पर यह त्रि-दोषों (वात, पित्त व कफ) से निजात दिलाता है। इसका स्वभाव गर्म होता है। अत: औषधि के रूप में 250 मिलिग्राम व खाद्य के रूप में 100 मिलिग्राम से अधिक मात्रा में इसके सेवन की सलाह नहीं दी जाती।

केसर स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। केसर की खुशबू बहुत तेज होती है। केसर को विभिन्न प्रकार के व्यंजनों में डालकर खाया जाता है। भारत में केसर कश्मीर में पैदा होता है। गर्म पानी में डालने पर केसर से गहरा पीला रंग बनाया जाता है। पेट संबंधित परेशानियों के इलाज के लिए केसर बहुत फायदेमंद है। चोट लगने या झुलसने पर भी केसर का लेप लगाने से फायदा होता है। ये त्वचा का रंग उज्ज्वल करने वाली, रक्तशोधक, शारीरिक पौष्टिक, प्रदर और निम्न रक्तचाप को ठीक करने वाली, कफ नाशक, मन को प्रसन्न करने वाली रंगीन और सुगन्धित करने वाली होती है। आइए हम आपको केसर के गुणों की जानकारी देते हैं।

आइये जानें केसर के नुकसान, केसर की तासीर, केसर दूध हर रोज पीने, केसर खाने के तरीके, केसर खाने का तरीका, केसर के उपाय, केसर पतंजलि, केसर चे उपयोग, केसर के उपयोग (uses of kesar), केसर के फायदे गर्भावस्था के दौरान, Health Benefits Of Saffron or Kesar।
■  हाथों और पैरों में दर्द सूजन जलन का इलाज के 5 घरेलू उपाय

                          केसर के चमत्कारी फायदे

       Kesar Ke Fayde, Labh Aur Aushadhiya Gun In Hindi

1. अच्छी नींद के लिए (Saffron For Good Sleep In Hindi)

अगर नींद ना आए या फिर सर्दी लग गई हो तो रात्रि में एक गिलास दूध में एक चुटकी केसर और एक चम्मच शहद डालकर यदि मरीज को पिलाया जाए तो उसे अच्छी नींद आती है।

2. पेट के रोग (Saffron For Stomach Problems In Hindi)

पेट संबंधित बीमारियों के इलाज में केसर बहुत फायदेमंद है। बदहजमी, पेट-दर्द व पेट में मरोड़ आदि हाजमे से संबंधित शिकायतों में केसर का सेवन करने से फायदा होता है।

3. ताक़त 

केसर को दूध के साथ पीने से शारीरिक शक्ति बढती है। केसर दूध पौरूष व कांतिवर्धक होता है। ज़ाडे में गर्म व गर्मी में ठंडे दूध के साथ केसर का उपयोग स्वास्थ्यवर्धक होता है। गर्भावस्था के दौरान केसर का सेवन करने से होने वाला बच्चा तंदुरूस्त होता है और कई तरह की बीमारियों से बचा रहता है।

4. त्वचा (Saffron For Skin In Hindi)

त्वचा के झुलसने या चोट लगने पर केसर के लेप लगाना चाहिए। इससे तुरंत फायदा होता है और नई त्वचा का निर्माण जल्द होता है।

5. माइग्रेन (Saffron For Migraine In Hindi)

केसर और चीनी को घी में भूनकर सूंघने से आधे सिर का दर्द ठीक होता है।

■  मुंह की बदबू दूर करने का इलाज 10 आसान उपाय और घरेलू नुस्खे

6. हिस्टीरिया

केसर, वच और पीपलामूल 10-10 ग्राम की मात्रा में लेकर कूट-पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को 5 ग्राम की मात्रा में पानी के साथ लेने से हिस्टीरिया रोग ठीक होता है। हिस्टीरिया जैसी बीमारियों को नियंत्रित करने में केसर का सेवन फायदेमंद होता है।

7. सिर दर्द (Saffron For Headache In Hindi)

सिर दर्द को दूर करने के लिए केसर का उपयोग किया जा सकता है। सिर दर्द होने पर चंदन और केसर को मिलाकर सिर पर इसका लेप लगाने से सिर दर्द में राहत मिलती है।

8. शारीरिक शक्ति 

यह एक शारीरिक शक्ति बढ़ाने वाला रसायन है। अत: इसका उपयोग बाजीकरण के लिए भी किया जाता है।

9. मा*सिक धर्म

महिलाओं के मा*सिक धर्म के दौरान होने वाले दर्द को दूर करने के लिए 2-2 रत्ती केसर दूध में घोलकर दिन में तीन बार देना फायदेमंद होता है।

10. गंजापन, बाल झड़ना, रूसी (Saffron For Hair In Hindi)

गंजे लोगों के लिये तो यह संजीवनी बूटी की तरह कारगर है। जिनके बाल बीच से उड़ जाते हैं, उन्हें थोड़ी सी मुलहठी को दूध में पीस लेना चाहिए। तत्पश्चात् उसमें चुटकी भर केसर डाल कर उसका पेस्ट बनाकर सोते समय सिर में लगाने से गंजेपन की समस्या दूर होती है। रूसी की समस्या हो या फिर बाल झड़ रहे हो तो भी ये उपाय बेहद कारगर है।

11. आंख और मस्तिष्क (Saffron For Eyes & Brain In Hindi)

चंदन को केसर के साथ घिसकर इसका लेप माथे पर लगाने से सिर, आंख और मस्तिष्क को शीतलता, शांति और ऊर्जा मिलती है।

■  हर तरह के घाव जल्दी भरने के 5 आसान उपाय और देसी नुस्खे

12. अतिसार

अतिसार में भी केसर बहुत फायदेमंद है। अतिसार होने पर केसर को जायफल, आम की गुठली, सोंठ को पत्थर पर पानी के साथ घिसकर इसका लेप लगाने से फायदा होता है।

13. नकसीर (Saffron For Nosebleeding In Hindi)

नाक से खून बहने की समस्या के उपचार के लिए भी केसर बहुत फायदेमंद है। नकसीर होने पर चंदन के साथ केसर को मिलाकर लेप लगाइए, नाक से खून बहना बंद हो जाएगा और सिर दर्द जल्द दूर होता है।

14. सर्दी-ज़ुकाम (Saffron For Cold & Flu In Hindi)

बच्चे को सर्दी-ज़ुकाम हो तो केसर की 1-2 पंखु़डी 2-4 बूंद दूध के साथ अच्छी तरह घोंटें ताकि केसर दूध में घुल जाए। इसे एक चम्मच दूध में मिलाकर बच्चे को सुबह-शाम पिलाएं। इससे उसे काफी लाभ होगा। माथे, नाक, छाती व पीठ पर लगाने के लिए केसर, जायफल व लौंग का लेप पानी में बनाएं और रात को सोते समय इसका लेप करें।

15. क़ब्ज़ (Saffron For Constipation In Hindi)

आधा ग्राम केसर को घी में पीसकर खाने से 1 साल पुरानी कब्ज़ दूर होती है।

16. हृदय की कमजोरी (Saffron For Heart In Hindi)

120 मिलीग्राम केसर को 50 मिलीलीटर पानी में मिलाकर मिट्टी के बर्तन में रात को भिगो दें। सुबह 20-25 किशमिश खाकर इस पानी को पीएं। इसका सेवन 15 दिनों तक करने से हृदय की कमजोरी दूर होती है।

■  ख़राब पाचन शक्ति ठीक करने के 5 आसान घरेलू उपाय और देसी नुस्खे

दोस्तों केसर वाले दूध को पीने और केसर के फायदे, सैफ्रॉन या जाफरान, केसर का सेवन का ये लेख कैसा लगा हमें जरूर बताएं और अगर आपके पास केसर के फायदे और लाभ, Benefits of saffron in Hindi, Benefits of kesar in Hindi, त्‍वचा के लिए केसर, Health and Beauty Benefits of Saffron in Hindi के सुझाव है तो हमारे साथ शेयर करें।

Loading...

Leave a Reply