सांस फूलने का इलाज और उपाय इन हिंदी

फेफड़ों(Lungs से संबंधित प्रणाली को प्रभावित करने वाली स्थितियों के कारण भी सांस की समस्या होती है। वहीं फेफड़ों और ब्रोंकाइल ट्यूब्स में सूजन होना सांस फूलने के आम कारण होते हैं।

दौड़ते हुए साँस चड़ना एक आम बात है लेकिन थोडा दौड़ने पर ही सांस का फूल जाना यह आम बात नहीं | दौड़ने से पहले खुद को वार्मअप(Warm up) न करना सांस फूलने का एक मुख्य कर्ण होता है साथ ही साथ दौड़ते हुए सही तरीके से सांस न लेना भी सांस चड़ने का कारण हो सकता है । नए धावकों के अलावा कई अनुभवी धावक भी दौड़ते समय सही सांस लेने के महत्व को नहीं समझते।

यदि आप एक लंबी छलांग (स्ट्राइड) लगाने में एक से अधिक सांस लेते हैं तो मैराथन में दौड़ने की तो छोड़िए, आप एक किलोमीटर भी नहीं दौड़ नहीं पाएंगे। एक बार इसको अपना कर देखें।

अगर आप गहरी साँसे (Deep Breathing) नहीं लेते इसका मतलब है कि आप न सही से ऑक्सीजन ले रहे हैं और न कार्बन डाईऑक्साइड छोड़ रहे हैं। इस तरह आप केवल फेफड़ों के ऊपरी हिस्से का इस्तेमाल कर रहे हैं। फेफड़े के इस ऊपरी हिस्से में ऑक्सीजन और कार्बन डाई ऑक्साइड के आदान-प्रदान के लिए कम मात्र होती है। पर जब आप नियंत्रित और गहरी सांसें लेते है, ऐसे में सांस लेने और छोड़ने की प्रक्रिया सहज होती है।

■  सप्ताह में सिर्फ़ 3 बार इसका सेवन करने से भयंकर से भयंकर रोग भी घुटने टेक देता है आप भी जरूर आजमाएं

लम्बी और गहरी साँसे लेने के साथ साथ यह भी ध्यान रखें के सांस को छोड़ना भी उतना ही जरुरी होता है जितना सांस को लेना | सांस लेनी को प्रकिरिया के साथ साथ आपको सांस छोड़ने की प्रकिरिया का ज्ञान भी होना चाहिए | यदि आप सांसें छोड़ते समय फेफड़े खाली नहीं करेंगे तो उसमें हवा अंदर लेने के लिए जगह कैसे बनाएंगे? सांसें किस निश्चित आधार पर ली जाएं, इस संदर्भ में हम कोई सलाह नहीं देते, बशर्ते आप एक छलांग में एक से अधिक सांस न लेते हों। सहज होकर सांस लें तथा लम्बी और गहरी सांस लें |

दौड़ते हुए अपनी साँसों पर ध्यान लगाना उतना ही जरूरी होता है जितना के गति पर । गहरी लंबी सांसें लें और गहरे लंबे श्वास छोड़ें। इससे आपकी मांसपेशियों को आराम मिलेगा। जैसे-जैसे गति तेज होती है, अपकी सांस लेने की प्रक्रिया भी प्रभावी ढंग से तेज हो जाएगी। गहरे सांस लेने के अभ्यास से आप न सिर्फ सांस उखड़े बिना लंबा दौड़ पाएंगे, बल्कि तेज और प्रभावी ढंग से दौड़ सकेंगे।

दौड़ लगाने से पहले के पांच मिनट चलते हुए आप केवल अपनी सांसों पर ध्यान लगाएं। हमारी सलाह होगी कि आप गहरी लंबी सांस लें, उसे एक या दो सेकेंड के लिए रोक कर रखें और फिर सांस बाहर छोड़ें। यह अभ्यास करने से आप समझ जाएंगे कि कहां सही महसूस कर रहे हैं।सांस लेने की सही प्रक्रिया आपकी मांसपेशियों(Muscle) को आराम पहुंचाती है। लंबी दौड़ में यदि आपने अपने शरीर को अकड़ा रखा है तो आपको जल्दी ही अपने पीठ के ऊपरी और निचले हिस्से के अलावा कंधों में दर्द होना शुरू हो जाएगा। थकावट और दर्द अनुभव होगा। इन्हीं हिस्सों में अधिक तनाव होने से आप कम गहरी और तेज-तेज सांसें लेते हैं और तेज दौड़ नहीं पाते। तो अगली बार दौड़ने से पहले अपनी सांस को न्यंत्रण करना न भूलें |

■  चूहों को बिना मारे बिना दवा के घर से भगाने का एक चमत्कारी घरेलु उपाय
Loading...

Leave a Reply