आपके किचन में उपलब्‍ध काला नमक सलाद, अचार, दही, चटनी और फ्रूट चाट का स्वाद बढ़ाता है। साथ ही गर्मी में अत्यधिक पसीना आने के कारण हुई नमक की कमी को पूरा करने के लिए इसे ड्रिंक के रूप में पिया जाता है। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि काला नमक स्‍वाद के साथ-साथ आपकी सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद है। इसमें पाए जाने वाले मिनरल्स स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ी कई समस्‍याओं में फायदा करते हैं। काला नमक मोटापा, गले की खराश से लेकर जोड़ों के दर्द और दिल से जुड़ी बीमारियों में फायदेमंद होता है।

वजन घटाने में मददगार और त्‍वचा को निखारें

काले नमक को सदियों से वजन घटाने के लिए इस्‍तेमाल किया जा रहा है। एक गिलास पानी में काला नमक मिलाकर पीने से शरीर का मेटाबॉलिक स्तर काफी हद तक बढ़ जाता है और इसके सेवन से भूख को दबाने में भी मदद मिलती है। जो व्यक्ति अपना वजन घटाना चाहते हैं, उन्‍हें अपने नियमित आहार और सलाद में काले नमक का प्रयोग करना चाहिए, क्‍योंकि सामान्य नमक शरीर में पानी के जमाव, लेकिन काला नमक हल्के ड्यूरेटिक की तरह काम करता है और शरीर से अतिरिक्त पानी को निकालने में आपकी मदद करता है। इससे आपको प्राकृतिक रूप से वजन घटाने में मदद मिलती है।
इसके अलावा नमक में मौजूद क्रोमियम मुंहासों से निजात है और सल्फर से त्वचा साफ और कोमल बनती है। इसके अलावा नमक वाला पानी पीने से एग्जिमा और रैशेज की समस्या दूर होती है।

जोड़ों का दर्द ठीक करें और हड्डियों में मजबूती लाएं

जोड़ों के दर्द को बुजुर्ग लोगों की बीमारी माना जाता है लेकिन आज यह लगभग हर उम्र के लोगों को परेशान करती है। काले नमक का प्रयोग आसानी से जोड़ों को आराम देने और दर्द को कम करने के लिए किया जा सकता है। जोड़ों के दर्द को ठीक करने के लिए एक सूती कपड़े में थोड़ा सा काला नमक लेकर गर्म करें, इस कपड़े से आप जोड़ों की सिंकाई करें। लम्बे समय तक अच्छे परिणाम पाने के लिए इस उपचार का प्रयोग रोजाना दिन में 3 से 4 बार करें। इसके अलावा यह हड्डियों को मजबूती भी प्रदान करता है। हमारा शरीर हमारी हड्डियों से कैल्शियम और अन्य मिनरल खींचता है। इससे हमारी हड्डियों में कमजोरी आ जाती है इसलिये नमक वाला पानी उस मिनरल क्षय की पूर्ति करता है।

एनीमिया से बचाए और दिल को दुरुस्‍त रखे

काले नमक में काफी अधिक मात्रा में आयरन पाया जाता है। जो शरीर में जाकर ब्‍लड की मात्रा को बढ़ाता है, जिससे यह एनीमिया जैसी बीमारी को दूर करता है। इसके अलावा काला नमक ब्‍लड से खराब कोलेस्ट्रॉल कम करने में काफी प्रभावी होता है और खराब कोलेस्ट्रॉल के कम होने से शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ती है और इससे रक्‍त की धमनियां मोटी होने से बचती हैं। कोलेस्ट्रॉल कम होने से सीधे आपके दिल का स्वास्थ्य काफी अच्छा हो जाता है। इसके अलावा इस नमक में सामान्य नमक से कम सोडियम होता है, जिससे यह दिल को स्‍वस्‍थ बनाए रखने में मदद करता है। इसलिए अगर आपको उच्च रक्तचाप या दिल की कोई अन्य समस्या है तो सामान्य नमक की जगह काले नमक का प्रयोग करना चाहिए।

पाचन को सुधारे

अगर आप हमेशा एसिडिटी और बदहजमी की समस्‍या से परेशान रहते हैं, तो आपके किचन में उपलब्‍ध आसान और किफायती उपाय यानी काला नमक से इस समस्‍या से निजात पा सकते हैं। काले नमक से आंतों से विभिन्‍न प्रकार के पाचन के रस निकलने में काफी आसानी होती है। साथ ही यह हल्‍के लैक्‍सेटिव प्रभाव के लिए भी जाना जाता है। इससे आपका हाजमा अच्‍छा होता है और गैस एवं बदहजमी जैसी समस्‍याओं से भी पूरी तरह छुटकारा मिलता है। बदहजमी होने पर पानी के साथ काले नमक का सेवन करें।

 
Loading...

NO COMMENTS

Leave a Reply