कफ निकालने के उपाय balgam ka ilaj in hindi

गले में बलगम का इलाज और उपाय दवा इन हिंदी | छाती में जमा कफ कैसे निकाले

खांसी चाहे जैसी भी हो, सूखी हो तर हो बलगम वाली हो या फिर तेज़ दवाओ के सेवन के कारण छाती पर कफ जम गया हो तो अपनाने चाहिए ये घरेलु नुस्खे। जो बिलकुल सुरक्षित हैं। और इन परिस्थितियों से आराम मिलता हैं। लम्बे समय से चली आ रही खांसी आपको पूरी तरह से दुखी कर सकती है और जितने जल्दी हो सके आप इससे छुटकारा पाने की सोचते हैं। कफ निकालने के उपाय

आइये जानें छाती से कफ निकालने के उपाय,कफ के कारण, छाती में कफ के लक्षण, कफ बनने के कारण, बलगम के प्रकार ।
■  शरीर में गाँठ किसी भी तरह की हो या फोड़े-फुंसी हो, इन सब के रामबाण घरेलु उपाय!!!

खांसी सामान्यतः जुकाम और फ्लू का साइड इफ़ेक्ट होती है, लेकिन यह एलर्जी, अस्थमा, एसिड रिफ्लक्स, शुष्क हवा और कुछ दवाओं के कारण भी हो सकती है। खांसी अत्यधिक पीड़ादायक और परेशान करने वाली हो सकती है इसलिए नीचे दी गयी युक्तियों को अपनाकर खांसी से जल्दी छुटकारा पायें।

बदलते मौसम में खांसी, जुकाम, बुखार जैसी बीमारियां होना बहुत ही आम बात है। जब खांसी, जुकाम और बुखार जैसी बीमारियां होती हैं, तो इसके साथ एक बीमारी और होती है, जो छाती और गले में बलगम जमने की बीमारी। गले में बलगम जमने से हमें श्वास लेने में तकलीफ महसूस होती है, तथा यह अन्य कई बीमारियां उत्पन्न करता है।

क्या आप बलगम कफ निकालने के उपाय नुस्खे तरीके

इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए हमें दवाइयों का सेवन करना पड़ता है। जो कि बहुत जल्दी असर नहीं दिखाती है। दोस्तों आज हम आपको बताएंगे, छाती और गले में जमे कफ से 1 दिन में राहत दिलाने वाले ये 3 चमत्कारी घरेलू उपाय ।

  खाली पेट लहसुन खाने से होते हैं ये जबरदस्त फायदे, 7 दिन तक खाएं और देखें कमाल

कफ निकालने के उपाय

Balgam Cough Dur Ka Gharelu Upay Tarika Nuskha

1. शहद और नींबू (Balgam Hatane Ke Liye Shahad Aur Nimbu)

नींबू के रस और शहद मिलाकर सेवन करने से छाती और गले में जमे कफ से बहुत जल्दी छुटकारा पाया जा सकता है। क्योंकि नींबू में सिट्रिक अम्ल होता है, जो कफ को नष्ट करने में उपयोगी होता है।

2. शहद और अदरक (Balgam Hatane Ke Liye Shahad Aur Adarak)

इस घरेलू नुस्खे का उपयोग करने के लिए एक चम्मच शहद में एक चम्मच अदरक का रस मिलाकर इसे थोड़ा गर्म कर लें, और इसका सेवन करें।

3. काली मिर्च (Balgam Hatane Ke Liye Kali Mirch)

5-6 काली मिर्च लेकर उन्हें बारीक पीस लें। अब एक गिलास पानी लेकर उस पानी में यह काली मिर्च का मिश्रण डाल दें और इसे अच्छी तरह गर्म करें। जब यह गुनगुना ठंडा हो जाए, तो इसका सेवन करें। इससे छाती और गले में जमे कब की समस्या से 1 दिन में छुटकारा मिल जाता है।

■  डॉक्टरों की भी बोलती बंद हो गयी इस उपाय को देखकर –10 दिन में बालों का झड़ना बंद और 30 दिन में नए बाल

हर तरह के खांसी का है इलाज ये अद्भुत तरीका

बनाने की विधि और सेवन का तरिका

250 मिलीलीटर दूध, 125 मिलीलीटर पानी, एक गांठ हल्दी का चूर्ण और जरूरत के अनुसार गुड़ लेकर सभी को एक बर्तन में डालकर उबालने के लिए रख दें और जब उबलते-उबलते केवल दूध ही बाकी रह जाये, तो इसे उतार लेते हैं फिर इसे छानकर खांसी के रोगी को गुनगुना सा पिला देते हैं। इससे खांसी पूरी तरह से ठीक हो जाती है।

खांसी दूर करने के अन्य घरेलु उपाय

Khasi Door Karne Ke Tarike Gharelu Nuskhe Aur Desi Upay In Hindi

◘  100 ग्राम जलेबी को 400 मिलीलीटर दूध में मिलाकर खाने से सूखी खांसी में लाभ मिलता है।

◘  दूध में 5 पीपल डालकर गर्म करके इसमे चीनी मिलाकर रोजाना सुबह-शाम पीने से खांसी ठीक हो जाती है।

◘  शहद का उपयोग करना, खांसी को दबाने का और गले की खराश में राहत पाने का एक प्रभावशाली तरीका है |कई अध्ययनों में यह पाया गया है कि शहद न सिर्फ सामान्य तौर पर मिलने वाली खांसी की दवाओं के समान खांसी को कम करने में असरदार है बल्कि कभी-कभी उनसे भी ज्यादा प्रभावशाली होती है |शहद म्यूकस मेम्ब्रेन को आवरित करने और राहत पहुँचाने में मदद करती है | अगर खांसी के कारण सोने में परेशानी होती हो तो सोने के पहले शहद का सेवन करना बहुत लाभकारी हो सकता है |

■  करंट लगने पर 5 मिनट के अंदर करें ये इलाज, बच सकती है जान

◘  सूखी खांसी में पान के सादे पत्ते में एक ग्राम अजवायन रखकर चबा चबाकर रस निगलने से सूखी खांसी मिटती हैं। केवल अजवायन एक दो ग्राम खाकर ऊपर से गर्म पानी पीकर सो जाने से सूखी खांसी तथा दमा और श्वांस रोग में शीघ्र लाभ होता हैं। फेफड़ो के रोगो में अजवायन का प्रयोग करने से कफ की उत्पत्ति कम होती हैं। अजवायन का सेवन कफ नष्ट करके फेफड़े मज़बूत करता हैं व् छाती के दर्द में लाभ पहुंचाता हैं।

छाती में जमा कफ कैसे निकाले

◘  25 ग्राम अलसी (तीसी) को कुचलकर 375 ग्राम पानी में औटाये। जब पानी एक तिहाई 125 ग्राम रह जाए, तो उसे मल छानकर १२ ग्राम मिश्री मिलाकर रख ले। उसमे से एक चम्मच भर काढ़ा एक एक घंटे के अंतर से दिन में कई बार पिलाये। इससे बलगम छूट जाता हैं। जब तक छाती साफ़ न हो, इसे पिलाते रहे।

source

  कानों में कपड़ों की पिन टांगने से दूर होंगे बड़े से बड़े रोग, रिसर्च में हुआ है साबित
Loading...

7 COMMENTS

  1. […] प्रकार इसे प्रतिदिन तीन बार पीने से खांसी, फेफड़ों के रोग और टी.बी. में लाभ होता […]

Leave a Reply