joint pain jodon ke dard ka ilaj

उम्र बढ़ने के साथ-साथ घुटनों की ग्रीस कम होने लगती है, जो बेहद ही आम समस्‍या है। लेकिन आजकल कम उम्र की महिलाओं को भी इस समस्‍या से जूझना पड़ रहा है। अगर किसी के घुटनों की ग्रीस खत्म हो चुकी हो और उनका चलना, उठना और सीढ़ी चढ़ना मुश्किल हो गया हो तो परेशान होने की जरूरत नहीं है क्‍योंकि आज हम इस आर्टिकल में कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्‍हें रेगुलर खाने से आप अपने घुटनों की ग्रीस को आसानी से बढ़ा सकती हैं। तो चलिए देर किस बात की आइए ऐसी ही 3 चीजों के बारे में जानें। लेकिन सबसे पहले ये जान लें कि आखिर घुटनों में ग्रीस कम होने का असली कारण क्‍या है?

घुटनों के दर्द के कई कारण हो सकते है

Cause of Knee Pain

  • अधिक वजन होना,
  • कब्ज होना,
  • खाना जल्दी-जल्दी खाने की आदत,
  • फास्ट-फ़ूड का अधिक सेवन,
  • तली हुई चीजें खाना,
  • कम मात्रा में पानी पीना,
  • शरीर में कैल्सियम की कमी होना।

अखरोट का सेवन

अखरोट घुटनों का सबसे अच्छा दोस्त है. हर रोज कम से कम दो अखरोट खाने से घुटनों का ग्रीस बढ़ने लगता है. अखरोट में पाया जाने वाला प्रोटीन, फैट, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन ई समेत अनेक पोषक तत्व आपके घुटनों को मजबूती प्रदान करते हैं.

मेथी

गठिया की बीमारी में भी मेथी से लाभ होता है। दरअसल गठिया (अर्थराइटिस) वात दोष के कारण होता है। मेथी में वात को संतुलित करने के गुण पाए जाते हैं। यह गठिया (अर्थराइटिस) के दर्द को कम करने में मदद करता है। आप किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से गठिया में मेथी के इस्तेमाल की जानकारी लें।

हरसिंगार के पत्ते

हरसिंगार यानि पारिजात के फूल, पत्ते और छाल घुटनों के लिए औषधि का काम करते हैं. इस पौधे के लिए विशेष मेहनत की जरूरत नहीं पडेगी. आमतौर पर इसके पौधे हमारे घरों के आस-पास भी आराम से देखने को मिल जाते हैं. इसके सेवन से जहां जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है, वहीं घुटनों की ग्रीस प्रभावी रूप से बढ़ती है. घुटनों की ग्रीस बढ़ाने के लिए इसके पत्तों को पीस लें. फिर इसके पेस्ट को धीमी आंच पर पकाएं. पानी आधा रहने के बाद छानकर ठंडा करके पियें. ऐसा करने से घुटनों में ग्रीस की बढ़त होगी.

नारियल पानी

नारियल पानी आपकी सेहत के साथ-साथ घुटनों की सेहत के लिए रामबाण इलाज है. खाली पेट नारियल पानी पीने से घुटनों के दर्द से आराम मिलता है. नारियल पानी आपके घुटनों पर प्राकृतिक तेल की तरह काम करते हुए हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करता है.

घुटनो में दर्द के बचाव के कुछ आसान तरीके

Home treatment for knee pain

■  खाने के एक ग्रास को कम से कम 32 बार चबाकर खाएं। इस साधरण से प्रतीत होने वाले प्रयोग से कुछ ही दिनों में घुटनों में साइनोबियल फ्रलूड बनने लग जाती है।

■  पूरे दिन भर में कम से कम 12 गिलास तक पानी अवश्य पिए। ध्यान दीजिए, कम मात्रा में पानी पीने से भी घुटनों में दर्द बढ़ जाता है।

■  भोजन के साथ अंकुरित मेथी का सेवन करें।

■  बीस ग्राम ग्वारपाठे अर्थात् एलोवेरा के ताजा गूदे को खूब चबा-चबाकर खाएं साथ में 1-2 काली मिर्च एवं थोड़ा सा काला नमक तथा ऊपर से पानी पी लें। यह प्रयेाग खाली पेट करें। इस प्रयोग के द्वारा घुटनों में यदि साइनोबियल फ्रलूड भी कम हो गई हो तो बनने लग जाती है।

■  चार कच्ची-भिंडी सवेरे पानी के साथ खाएं। दिन भर में तीन अखरोट अवश्य खाएं। इससे भी साइनोबियल फ्रलूड बनने लगती है। अनुभूत प्रयोग है।

■  एक्यूप्रेशर-रिंग को दिन में तीन बार, तीन मिनट तक अनामिका एवं मध्यमा अंगुलि में एक्यूप्रेशर करें।

■  प्रतिदिन कम से कम 2-3 किलोमीटर तक पैदल चलें।

■  दिन में दस मिनट आंखें बंद कर, लेटकर घुटने के दर्द का ध्यान करें। नियमित रूप से अनुलोम-विलोम एवं कपालभाति प्राणायाम का अभ्यास करें। अनुलोम-विलोम धीरे-धीरे एवं कम से कम सौ बार अवश्य करें। इससे लाभ जल्दी होने लगता है।

हल्दी चुने का लेप (Lime and turmeric paste)

हल्दी और चुना दर्द को दूर करने में अधिक लाभदायक साबित होते है ।
हल्दी और चुना को मिलकर सरसो के तेल में थोड़ी देर तक गरम करे फिर उस लेप को घुटने में लगाकर रखे ।
कुछ समय बाद दर्द मेा आराम मिलेगा
इस प्रक्रिया को दिन मेा दो बार करे ।

हल्दी वाला दूध (Turmeric Milk) 

एक ग्लास दूध में एक चम्मच हल्दी के पावडर को मिलाकर सुबह शाम काम से काम दो बार पीए
यह एक प्राकृतिक दर्द निवारक का काम करता है

नेचुरल ट्रीटमेंट ( Natural treatment)

विटामिन डी (vitamin D )का सबसे अच्छा स्रोत सूरज से उत्पन धुप ( sun light) है , जिससे आपको नेचुरल विटामिन डी (vitamin D ) मिलती है जो हड्डी (bones)के लिए अधिक लाभदायक है

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleमोटी से मोटी कमर पेट गर्दन की चर्बी इसके एक चुटकी से पसीना बन जायेगा | Weight loss Home remedy 100%
Next article20 ग्राम रोजाना सुखा नारियल Joint Pain | आँखों की कमजोरी जैसे 10 रोग जड़ से ख़त्म Dry Coconut

Leave a Reply