jeera ke fayde cumin seeds benefits

लोग मोटापे से निजात पाने के लिए जिम में घंटों पसीना बहाते हैं। तमाम तरह के डाइट फॉलो करते हैं। ऐसे लोगों के लिए जीरा बड़े काम की चीज होती है।

वजन कम करना एक बड़ी चुनौती की तरह होती है। लोग मोटापे से निजात पाने के लिए जिम में घंटों पसीना बहाते हैं। तमाम तरह के डाइट फॉलो करते हैं। ऐसे लोगों के लिए जीरा बड़े काम की चीज होती है। वजन कम करने के लिए एक चम्मच जीरे का नियमित सेवन चमत्कारिक लाभ देने वाला होता है। रोजाना एक चम्मच जीरा खाने से तीन गुना तेजी से फैट कम होता है। जीरे के सेवन से न सिर्फ कैलोरी बर्न होती है बल्कि पाचन तंत्र भी दुरुस्त रहता है। अगर लगातार बीस दिनों तक रोज जीरे का सेवन किया जाए तो 15 किलो तक पेट की चर्बी को कम किया जा सकता है। इसके अलावा जीरे के सेवन के कई और नुस्खे हैं, जिन्हें अगर आप अपनाते हैं तो जल्द ही मोटापे की समस्या से निजात पा लेंगे।

1. वजन कम करने की इच्छा है तो रात में दो चम्मच जीरे को पानी में भिगो दीजिए। सुबह इसे उबाल कर जीरे के बीज को पानी से अलग कर दीजिए। पानी में आधा नींबू निचोड़िए और सुबह इसे खाली पेट पी लीजिए। लगातार दो सप्ताह तक ऐसा करिए और फिर असर देखिए।

2. जीरे के साथ अगर अदरक और नींबू का भी सेवन करते हैं तो इससे जल्दी वजन कम होता है। इस नुस्खे के लिए सबसे पहले अदरक को काट लीजिए। इसके बाद गाजर के साथ अन्य सब्जियों को उबाल लीजिए। इसमें जीरा पाउडर, नींबू और कटी हुई अदरक डालकर सूप बना लीजिए। रोज रात में इस सूप को पीने से वजन आसानी से कम हो जाएगा।

3. एक गिलास पानी में एक बड़ा चम्मच जीरा रात भर भिगोकर रख दें और सुबह इसे उबालकर चाय की तरह पिएं। इसके रोजाना सेवन से शरीर से फालतू चर्बी निकल जाती है। ध्यान रखें कि इस पानी को पीने के बाद एक घंटें तक कुछ न खाएं।

4. भुनी हुई हींग, काला नमक और जीरे की समान मात्रा लेकर चूर्ण बना लें। इसे 1-3 ग्राम की मात्रा में दिन में 2 बार दही के साथ लेने से भी मोटापा कम होता है।

जीरा और मोटापा – जीरे का पानी वजन कम करने में कैसे मदद करता है?

जीरा उन फायदेमंद मसालो में से एक है जो अन्य कई फ़ायदों के साथ मोटापा कम करने में भी मदद करता है.

1. अलगाव (डिटॉक्सिफिकैशन) 

जीरा एंटीऑक्सिडेंट्स/ऑक्सीकरणरोधी से भरपूर होता हैं, जो शरीर से जहरीले तत्वों (toxic) को निकालने में मदद करता हैं. यह आंतरिक अंगो कि सफाई कर उन्हें मजबूत भी बनाता है. जीरे के पानी पीने से आपके लिवर /जिगर में पित्त के उत्पादन में मदद मिलती है, जो गैस/वायु एवं बदहज्मी को कम करने में भी फायदेमंद है.

2. पाचन शक्ति बढ़ाता है 

जीरे का पानी पाचनक्रिया को बेहतर बनाने में मदद कर, पाचनतंत्र को स्वस्थ रखता है. यह मर्म किण्वको (enzymes) को स्रावित कर उन्हें सक्रिय करने में मदद कर, वसा/चरबी, कार्बोहाइड्रेट और शर्करा (glucose) को विभाजित करता है, और सुबह की बीमारीयां, मितली (nausea) और दस्त को भी रोकता हैं.

3. चयापचय(metabolism) बढ़ाता है और वसा / चर्बी को जलाता है 

जीरा चर्बी को कम करने वाला असरकारक पदार्थ है, जो चयापचय कि दर को बढ़ाने में मदद करता है. यह मूलभूत रूप से यह पेट की चर्बी(फैट) को कम करता है, जो वजन कम करने और मोटापे को कम करने में भी फायदेमंद है.

4. भूख कम करता है 

जीरे का इस्तेमाल करने से आपको भूख को कम करने में मदद मिलेगी, क्योंकि यह आपके पेट को लंबे समय तक भरा रखता है, और इस तरह मोटापा कम करने में मदद करता है.

5. खून को शुद्ध करता है

यह विषेले द्रव्यों को नष्ट करने (detoxification) में मदद करता है, इससे पाचन में सुधार होता है और इस प्रकार यह खून को शुद्ध करता है.

तो आप देख सकते हैं कि मोटाप कम करने में जीरा कई तरीकों से फायदेमंद है, यही कारण है कि यह हर वजन घटाने वाले आहार में अनिवार्यक (बहुत जरूरी) बनता जा रहा है.

जीरे के पोषणतत्वो का तथ्य / पोषणतत्वो कि सूचि (Nutrition facts)

प्रति 100ग्राम जीरा के पोषणतत्व

कैलोरी/ उष्मांक/ : 375
फैट/चरबी /वसा : 22 ग्राम
सोडियम: 168 मिलीग्राम
पोटेशियम: 1788 मिलीग्राम
कार्बोहाइड्रेट : 44 ग्राम
प्रोटीन: 18 ग्राम
फाइबर: 11 ग्राम
कैल्शियम: 931 मिलीग्राम
लौह :(iron) 66.36 मिलीग्राम
मैग्नीशियम: 931 मिलीग्राम
फास्फोरस: 499 मिलीग्राम
जस्ता(zink): 4.8 मिलीग्राम

यह पोषणतत्व चर्बी(फैट) को कम करने में कैसे मदद करते हैं?

•   मैग्नीशियम लचीलेपन को सुधारने में मदद करता है और अच्छी नींद देता है। यह मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने में भी मदद करता है.

•   कैल्शियम हड्डियों को मजबूत करने और वजन को नियंत्रित करने में मदद करता है.

•   विटामिन ए और विटामिन सी विषेले द्रव्यों को नष्ट करने (detoxification) में मदद करते है, और रोगप्रतिकारक शक्ति (immunity) में सुधार करते है.

•   पोटेशियम शारीरिक शक्ति को सुधारने में मदद करता है और मानसिक तंदुरुस्ती को बढ़ावा देता है.

•   फास्फोरस पाचन के सुधार के साथ – साथ दांतों और हड्डियों को मजबूत करने में सहायता करता है.

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleपानी से रातों रात वजन कम करने का तरीका || Drink Water And Lose Weight Fast 10 Kgs in 1 Month
Loading...

Leave a Reply