भले ही आज के ज़माने में लोग अपने घरो में डाइनिंग टेबल पर खाना खाने लगे हैं लेकिन अभी भी ऐसे बहुत से परिवार हैं जहां ज़मीन पर बैठकर खाना खाने की ही रवायत है। वैसे ये सिर्फ एक रवायत नहीं है, बल्कि इससे हमारी सेहत अच्छी रहती है, शायद इसीलिए हमारे पूर्वजों ने ये तरीका अपनाया।

■   आँखों में दर्द और जलन का इलाज 10 आसान उपाय और नुस्खे

ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होने से दिल स्वस्थ

जब आप नीचे बैठकर खाते हैं तो खून को दिल आसान से पंप करके शरीर के सभीं अंगों में भेज देता है। इससे पाचन क्रिया में शामिल अंग भी तेज़ काम करने लगते हैं। डाइनिंग टेबल पर बैठकर खाने से शरीर में ठीक से ब्लड सर्कुलेशन नहीं हो पाता।

पाचन क्रिया बेहतर करे

जब आप नीचे बैठते हैं तो आलती-पालथी मारकर बैठते हैं, इसे सुखासन कहते हैं या फिर पदमासन में भी बैठ जाते हैं। ये मुद्रा पाचन क्रिया को बेहतर बनाती है। इसके अलावा, जब आप प्लेट से खाते हो तो आपको ज़मीन पर रखी प्लेट से खाने के लिए झुकना पड़ता है। आगे पीछे के मूवमेंट से पेट की मसल्स्स एक्टिव हो जाती हैं, जिससे खाना आसानी से पचता है।

दिमाग को रिलैक्स करे

सुखासन और पदमासन या फिर पैर आलती-पालथी मारकर बैठने से आपका दिमाग बिल्कुल शांत हो जाता है। इससे आपकी नर्व्स को आराम मिलता है। इसलिए आपका दिनभर का तनाव रात को नीचे बैठकर खाने से दूर हो जाता है।

■   दिमाग तेज करने और याददाश्त बढ़ाने के 7 उपाय और आयुर्वेदिक दवा

वज़न घटाए

नीचे बैठकर खाने से वज़न घटाने में भी मदद मिलती है। जब आप ऐसे बैठकर खाते हैं तो आपका दिमाग अपने आप शांत हो जाता है और आप खाने पर ध्यान दे पाते हैं। आपको इस बात की समझ होती है कि आप कितना खा रहे हैं। इस स्थिति में बैठने से आपके मस्तिष्क में ये संदेश आसानी से पहुंच जाता है कि आप अब संतुष्ट हो गए हैं, इसके बाद आपको पेट भरा-भरा लगता है।

घुटनों और कूल्हों के जोड़ स्वस्थ

पदमासन और सुखासन ऐसी मुद्राएं हैं जिनका फायदा पूरे शरीर को मिलता है। इससे जोड़ स्वस्थ होते हैं, उनमें चोट और बीमारियों जैसे कि अर्थराइटिस और ऑस्टियोपिरॉसिस का जोखिम कम हो जाता है।

शरीर बनाए लचीला

जब आप नीचे पदमासन में बैठते हैं तो आपकी लोअर बैक, पेल्विक, पेट के आसपास की मसल्स स्ट्रेच होती हैं, जिससे कि आपका दर्द कम होता है। साथ ही, इन मसल्स के नियमित रूप से स्ट्रेच होने से आप अधिक लचीले और स्वस्थ बनते हैं।

■   दांत दर्द, पायरिया और मुंह की बदबू को जड़ से खत्म कर देगा यह आसान घरेलू उपाय

उम्र करे लंबी

हैरान हो रहे हैं? ये सच है। नीचे बैठकर खाने से आपकी उम्र वाकई लंबी हो सकती है। यूरोपियन जर्नल ऑफ प्रिवेंटिंग कार्डिओलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन में ये पाया गया कि जो लोग ज़मीन पर पदमासन में बैठते हैं, उनकी उम्र लंबी होती है। ऐसा इसलिए क्योंकि इस स्थिति से उठने के लिए लचीलापन और लोर बॉडी स्ट्रेंथ का इस्तेमाल होता है।

सचेत होकर खाना

जब हम नीचे बैठकर सबके साथ खाना खाते हैं तो हमारा ध्यान सिर्फ खाने पर होता है और हम काफी सचेत होते हैं। इससे आप खाना खाते वक्त बेहतर चुनाव करते हैं। जब आपका मन शांत बोता है तो आपका शरीर खाने से मिलने वाले पोषण को आसानी से अवशोषित कर लेता है।

■   माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के 10 रामबाण घरेलू नुस्खे और उपाय

पॉश्चर सुधरता है

जब स्वस्थ रहने की बात हो तो पॉश्चर की भूमिका बहुत खास हो जाती है। अगर आपका पॉश्चर सही है तो आपकी मसल्स और जॉइन्ट्स पर दबाव नहीं पड़ेगा। जब आप ज़मीन पर बैठकर खाते हैं तो आप अपने आप ही सही पॉश्चर में बैठ जाते हैं। आपकी कमर व पीठ सीधी होती है, जिससे की आप बैकपेन से बच जाते हैं।

परिवार के साथ रिश्ता गहरा

आमतौर पर नीचे बैठकर पूरे परिवार के साथ खाया जाता है। ये वक्त आपस का रिश्ता गहरा करने के लिए सबसे अच्छा होता है। नीचे बैठकर आप जल्दबाज़ी में नहीं, फुर्सत में खाते हैं, इससे आपका मन भी शांत रहता है।

■   चाहे कैसा भी जोड़ों का दर्द हो या फिर हड्डियों का दर्द हो,रात को ये उपाय कर लिया तो कभी नही होगा दर्द
Loading...

Leave a Reply