immunity badhane ke upay increase immunity

आपके शरीर के विभिन्न हिस्सों को स्वस्थ्य रखने और इम्यूनिटी सिस्टम यानि रोग-प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करने का काम भी ब्लड ही करता है। इसलिए ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाना यानी पूरी सेहत को बेहतर बनाना ही है।

ब्लड सर्कुलेशन बढ़ने से बेहतर होती है इम्यूनिटी

ब्लड यानी रक्त मानव शरीर का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। आपके पूरे शरीर में न्यूट्रिएंट्स, इलेक्ट्रोलाइट्स, हार्मोन्स, हीट और ऑक्सीजन पहुंचाने का काम रक्त ही करता है। आपके शरीर के विभिन्न हिस्सों को स्वस्थ्य रखने और इम्यूनिटी सिस्टम यानि रोग-प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करने का काम भी ब्लड ही करता है। लेकिन आपको पता है ब्लड के सही सर्कुलेशन के लिए आपके ब्लड प्रेशर, हार्ट रेट, ब्लड शुगर, ब्लड टाइप और कोलेस्ट्रॉल का नियंत्रण में होना अत्यधिक जरूरी है। आइये जानते हैं वो कौन से 8 तरीके हैं जिनसे आपका ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर होता है।

वॉक

सुबह, शाम या रात को खाना खाने के बाद अपने पेट डॉग को साथ लें और वॉक पर निकल जाएं। वॉक पर जाने से न सिर्फ आपका ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होगा बल्कि आपको ताजगी भी महसूस होगी।

स्वीमिंग

अगर स्वीमिंग का शौक है, ये भी एक्सरसाइज का एक बेस्ट फॉर्म है। एक फिजिकल एक्टिविटी होने के नाते इसके कई बेनिफिट्स हैं। ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होने के साथ ही यह आपको फ्रेश कर देता है। वहीं, यह फन से भरपूर हैं। आप स्वीमिंग में बटरफ्लाई स्ट्रोक, बैक स्ट्रोक, ब्रेस्ट स्ट्रोक वगैरह कर सकते हैं। इसके अलावा अपनी पसंदीदा स्ट्रोक भी कर सकते हैं।

साइक्लिंग

साइक्लिंग ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाता है। रोजाना साइक्लिंग करने से आपके पैरों के मसल्स शेप में आ जाएंगे। जो लोग बहुत ही कम एक्सरसाइज करते हैं उनके लिए साइक्लिंग बेहतर है। जब आपका ब्लड सर्कुलेशन बेहतर हो जाएगा तो आपकी इम्यूनिटी पावर अपने आप ही बढ़ जाएगी।

मसाज करें

मसाज करने से शरीर के अंगों में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है। ब्लड शरीर के सॉफ्ट टिशु में जाता है। मसाज के बाद पूरे शरीर में ताजगी और स्फूर्ति महसूस होने लगती है। थकान उतर जाती है और साथ ही शरीर का सारा तनाव दूर हो जाता है।

पैर को ऊपर करें

अपने पैर को शरीर के स्तर से कुछ ऊपर उठाकर लेटने से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है और साथ ही साथ शरीर को आराम भी पहुंचता है। इससे पैरों में ऐंठन और दर्द जैसी समस्या में भी काफी आराम पहुंचता है।

पानी

यह प्राकृतिक औषधि है। प्रचुर मात्रा में शुद्ध जल के सेवन से शरीर में जमा कई तरह के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। पानी या तो सामान्य तापमान पर हो या फिर थोड़ा गुनगुना। फ्रिज के पानी के सेवन से बचें।

हंसना

हंसने से रक्त संचार सुचारु होता है व हमारा शरीर अधिक मात्रा में ऑक्सीजन ग्रहण करता है। तनावमुक्त होकर हंसने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने में मदद मिलती है।

योग

योग व प्राणायाम शरीर को स्वस्थ और रोगमुक्त रखने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। किसी जानकार से इन्हें सीखकर प्रतिदिन घर पर इनका अभ्यास किया जाना चाहिए। योग से ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होने के साथ साथ इम्यूनिटी सिस्टम बेहतर होता है।

source

Loading...

Leave a Reply