sardi khasi jukaam ka ilaj

भीषण गर्मी की लंबी महीनों के बाद, अंत में मानसून यहाँ है और यह कुछ पानी का आनंद और छिड़काव करने के लिए समय है। यद्यपि हम में से अधिकांश कैसे मानसून के दौरान हमारे बालों और त्वचा को बनाए रखने के बारे में चिंतित हैं, बारिश है कि इन्फ्लूएंजा, फ्लू, जुकाम और बुखार की घटनाओं बढ़ जाती है और काउंटर की गोलियाँ और एंटीबायोटिक दवाओं के पदभार संभालने के वायरस और बैक्टीरिया के विभिन्न प्रकार के लिए प्रजनन भूमि के रूप में काम हमेशा सबसे अच्छा विकल्प एंटीबायोटिक दवाओं अक्सर अच्छे से अधिक नुकसान कर के रूप में नहीं है। इसलिए, यह  दादी के पुराने घरेलू उपचार है कि वास्तव में शरीर पर एक भारी टोल लेने के बिना रोगों का इलाज करने में मदद उम्र के लिए छड़ी करने के लिए सबसे अच्छा है

■   तनाव दूर करने के 10 आसान तरीके 

जुकाम, फ्लू और मौसमी बुखार सभी वायरस के कारण होता है। ज्यादातर मामलों में, आम सर्दी और फ्लू rhinoviruses के कारण होता है। यह अत्यधिक संक्रामक है और प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से संपर्क के माध्यम से लोगों को संक्रमित कर सकते हैं और लक्षणों नाक बह रही है, गले में खराश, शरीर में दर्द, बुखार कम, पानी आँखें और छींकने शामिल हैं। शिशुओं और बच्चों को उनके अपरिपक्व प्रतिरक्षा प्रणाली है कि वायरस से लड़ने में सक्षम नहीं है की वजह से इन वायरस के लिए अतिसंवेदनशील होते हैं|

sardi khasi aur jukaam ka ilaj

सर्दी और खांसी के लिए अच्छे घरेलू उपचार

दूध और हल्दी

दूध और हल्दी सर्दी और खांसी के सबसे असरदार इलाजों में से एक है। इसके लिए दूध को गर्म करें और इसमें हल्दी का पाउडर मिश्रित करें। यह खांसी का भी रामबाण इलाज साबित होता है। यह मिश्रण ना सिर्फ वयस्कों, बल्कि बच्चों के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है। सर्दी खांसी के अलावा सामान्य स्वास्थ्य बरक़रार रखने के लिए भी यह मिश्रण काफी असरदार साबित होता है। अतः जब भी आप अस्वस्थ महसूस करें तो इस मिश्रण का रोजाना सेवन करके अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करें।

turmeric milk

■   पेशाब में रुकावट का इलाज और रुक रुक कर आने के 10 उपाय इन हिंदी

शहद, दालचीनी और नींबू का मिश्रण

यह भी सर्दी खांसी दूर करने की एक प्रभावी औषधि है। आप इन तीनों तत्वों को मिश्रित करके एक सिरप (syrup) बना सकते हैं। इससे आपको सामान्य सर्दी और खांसी से लड़ने में काफी आसानी हो जाएगी। इस सिरप को बनाने के लिए एक सबसे पहले एक कढ़ाही लें और इसमें थोड़ा सा शहद डालें। शहद को तब तक डालते रहें जब तक कि आधी कढ़ाही भर ना जाए। इसके बाद एक डबल बायलर (double boiler) का प्रयोग करें और शहद को पतला बनाने का प्रयास करें। इसमें थोड़ा सा नींबू और एक चुटकी दालचीनी मिलाएं। इस सिरप का सेवन अपने बच्चे को करवाएं तथा उसे सर्दी खांसी और ज़ुकाम से बचाकर रखें।

honey cinnamon and lemon

ब्रांडी और शहद

सामान्य सर्दी और खांसी से लड़ने के लिए आप शहद और ब्रांडी का भी प्रयोग कर सकते हैं। ब्रांडी से आपकी छाती गर्म रहती है और इससे शरीर के ताप को बढाने में भी काफी मदद मिलती है। इसी के साथ साथ, शहद में कफ से लड़ने के प्राकृतिक गुण मौजूद होते हैं। अतः जब यह ब्रांडी के साथ मिश्रित हो जाती है तो इसका प्रभाव काफी अच्छा होता है। इस मिश्रण की मदद से आप आसानी से सर्दी और ज़ुकाम से प्रभावी रूप से निपट सकते हैं।

तुलसी, अदरक और काली मिर्च की चाय

सर्दी ज़ुकाम का शिकार होने पर आप अपने लिए मसालेदार चाय भी बना सकते हैं। इस चाय को बनाने के लिए इसमें तुलसी, अदरक और काली मिर्च डालें। ये तत्व इतने प्रभावी हैं कि इनके सेवन मात्र से आपको अंदर से काफी आराम मिलने लगेगा। इन तत्वों को चाय के साथ मिश्रित करने पर सर्दी और खांसी की समस्या से निजात मिलती है और इस तरह आपको आराम प्राप्त होता है।

tulsi adarak kali mirch

   गर्मी और लू से बचने के लिए 10 आसान घरेलू उपाय हिंदी में

सरसों से पैर धोना

सर्दी और खांसी से निजात पाने के लिए अपने पैरों को आप सरसों के स्नान का अनुभव भी करवा सकते हैं। इसके लिए एक पात्र में पानी लें और इसमें एक चम्मच सरसों का पाउडर मिलाएं। इसे एक लीटर गर्म पानी में मिश्रित किया जाना काफी आवश्यक है। सरसों पैर में रक्त के संचार में सहायक होता है और इससे नाक बंद होने की समस्या से भी छुटकारा मिलता है।

mustard seeds

सर्दी खांसी के लिए शहद, गर्म पानी और नींबू के रस का मिश्रण

शहद, नींबू के रस तथा गर्म पानी का मिश्रण सामान्य सर्दी और खांसी की समस्या को दूर करने का काफी अच्छा उपाय है। आप नींबू पानी का सेवन करके अपना हाजमा भी दुरुस्त कर सकते हैं। यह शरीर के रक्त संचार के लिए भी काफी प्रभावी साबित होता है। जब आप शहद और नींबू पानी को आपस में मिलाते हैं, तो इस समय पानी गर्म होना चाहिए। इससे सर्दी और खांसी के समय काफी आराम प्राप्त होता है। ये वैसे पदार्थ हैं, जो आपकी समस्या का निदान करने में सक्षम हैं।

honey-and-lemon-water

■   दस्त रोकने और पेट की मरोड़ का इलाज के 10 आसान उपाय

सर्दी जुकाम का देसी इलाज

  • हल्दी, अदरक की पाउडर और 1 बड़ा चम्मच शहद मिलाकर खाएं। यह खांसी के इलाज के साथ साथ शरीर दर्द और सिर दर्द से राहत दिलाता है।
  • गरम पानी की भाप सूंघना भी जुकाम का इलाज करने में मदद करता है।
  • गरम पानी में १ चुटकी नमक मिलाकर गरारा करने से गले का दर्द कम होता है।
  • दिनभर गरम चाय, कॉफ़ी या गुनगुना पानी पीते रहें।
  • चाय बनाते समय उसमे तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च डालें। यह चाय जुकाम और खांसी से राहत दिलाती है|

khasi ka ilaj cough treatment remedy in hindi

घरेलू लॉज़न्ज

आप घर पर ही औषधीय लॉज़न्ज बना सकते हैं। ये काफी प्रभावी होते हैं और सर्दी एवं खांसी की समस्या से आपको बचाए रखते हैं। इनसे चिड़चिड़ापन कम होता है और गले को भी काफी आराम मिलता है। इसे बनाने के लिए काली मिर्च, अदरक, इलायची, शहद आदि तत्व इकठ्ठा करें। इन सबका अच्छे से मिश्रण करें और एक गाढ़ा पेस्ट तैयार करें। अब इसे ठंडा और कड़ा होने दें, इसे एक आकार दें और फिर इसका लॉज़न्ज की शक्ल में प्रयोग करें। अब इन्हें मुंह में डालें और तब तक रखें, जब तक कि इसका रस गले में नहीं चला जाता और आपको राहत प्राप्त नहीं हो जाती।

■   बदहजमी और फूड पाइज़निंग का इलाज 10 आसान घरेलू उपाय और नुस्खे

सर्दी खांसी के उपाय – हर्बल चाय

गर आप सर्दी और खांसी से दूर रहना चाहते हैं तो हर्बल चाय का सेवन करें। ये ख़ास हर्बल पेड़ की पत्तियां होती हैं और इनमें सर्दी और खांसी से लड़ने के सारे गुण मौजूद होते हैं। इन पत्तियों में कई औषधीय गुण होते हैं  और ये सर्दी और खांसी से आपको मुक्ति दिलाते हैं। यही कारण है कि एक बार जब आपको पता चले कि आप गंभीर सर्दी खांसी के शिकार हैं तो इस चाय का सेवन अवश्य करें।

herbal-chai-tea

इस चाय को आप कई तरीकों  से बनाकर अपनी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। सबसे पहले इस चाय में तुलसी की पत्तियां डालें। एक बार तुलसी की पत्तियों के साथ चाय को उबाल लेने के बाद इसमें नीम्बू के रस की कुछ बूँदें मिश्रित करें और इसे स्वास्थ्य बरकरार रखने के लिए पिएं। आप इस चाय में दालचीनी, लहसुन के फाहे, काली मिर्च और ताज़ी कटी अदरक भी मिश्रित करके इसका सेवन कर सकते हैं। इस मिश्रण को कम आंच में उबालें और साथ ही साथ इसे ढककर भी रखें। इससे इन पदार्थों की पौष्टिकता बनी रहेगी। चाय पीते समय आप इसमें शहद या दूध का मिश्रण भी कर सकते हैं।

■   माइग्रेन के दर्द से छुटकारा पाने के 10 रामबाण घरेलू नुस्खे और उपाय
Loading...

Leave a Reply