beutiful hair tips

बाल केराटिन नामक प्रोटीन से ही बनते हैं और खाने में उचित प्रोटीन लेकर आप आपने बालों को चमकदार, मजबूत और खूबसूरत बनाए रख सकते हैं।

बालों के लिए प्रोटीन

सुंदर बाल आपके व्‍यक्तित्‍व में चार चांद लगा देते हैं। और बालों की खूबसूरती में प्रोटीन की महत्‍वपूर्ण भूमिका होती है। प्रोटीन युक्त आहार आपके बालों की खूबसूरती बढ़ाने का काम करता है। बाल केराटिन नामक प्रोटीन से ही बनते हैं और खाने में उचित प्रोटीन लेकर आप आपने बालों को चमकदार, मजबूत और खूबसूरत बनाए रख सकते हैं।

आहार में प्रोटीन

बालों को टूटने से बचाने के लिए हम सबसे पहले अपना शैंपू बदलते हैं। दरअसल, बालों के टूटने की सबसे बड़ी वजह शैंपू नही, बल्कि शरीर में पोषक तत्वों की कमी होता है। इसके लिए शरीर में प्रोटीन की मात्रा सही रखना बहुत आवश्यक होता है। इसलिए अपने आहार में प्रोटीन तत्व को शामिल करें।

प्रोटीन युक्त शैंपू

स्वस्थ व सुंदर बालों की सफाई के लिए शैंपू व कंडीशनर बेहद जरूरी है क्योंकि ये बालों पर एक अस्थायी सुरक्षात्मक परत देते हैं। बालों में प्रोटीन की कमी होने पर बाल टूटने लगते हैं और उनमें चमक कम हो जाती है। इसलिए बालों को मजबूती और खास चमक प्रदान करने के लिए केराटिन व सिल्क प्रोटीन वाले शैम्‍पू का इस्‍तेमाल करें।

प्रोटीन की मात्रा

क्या आप जानती हैं कि प्रोटीन की कितनी मात्रा एक स्वस्थ व्यक्ति के लिए जरूरी होती है। प्रोटीन की आवश्यकता आपके वजन और आपकी कैलोरी पर निर्भर करता है। आपकी कुल कैलोरी का लगभग 20 से 35 प्रतिशत भाग प्रोटीन से आना चाहिए। अगर आप प्रतिदिन 2,000 कैलोरी का सेवन करते हैं तो उसमें से 600 कैलोरी प्रोटीन से आनी चाहिए।

बालों के विकास पर प्रोटीन और अमिनो एसिड के प्रभाव

मानव शरीर में काफी हद तक प्रोटीन की मात्रा होती हैं, जो अमीनो एसिड से बनी होती हैं और ऐसे बीस कुल अमीनो एसिड है, जो आवश्‍यक प्रोटीन संश्लेषण का ख्याल रखते है। इन में से ग्‍यारह अमीनो एसिड स्‍वाभाविक रूप से हमारी प्रणाली द्वारा उत्‍पादित होता है, जबकि दूसरे नौ हमें आहार अमीनो एसिड के रूप में लेना पड़ता है। खासतौर से तब जब हम अपने बालों के विकास को बढ़ाना चाहते हैं।

आवश्‍यक अमीनो एसिड और बाल

इन अमीनो एसिड को आवश्यक अमीनो एसिड कहा जाता है, जिन्‍हें फेनिलएलनिन, वालीने, ट्रीप्टोफन, मेथओनीन, हिस्टडीन और लाइसिन के नाम से जाना जाता है। आवश्‍यक अमीनो एसिड बालों के विकास को बनाए रखने के लिए बालों के रोम के लिए बहुत आवश्‍यक होते हैं। इसका मतलब अगर शरीर में इन अमीनो एसिड की कमी हो जाती है तो रोम बाल फाइबर का उत्पादन करने में सक्षम नहीं होते, जिससे बाल पतले और झड़ने लगते है, गंभीर मामलों में तो यह गंजापन भी ला सकता है।

प्रोटीन के स्रोत

प्रोटीन हमारे भोजन का एक बहुत ही महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा होता है। मांसाहार पसंद करने वाले लोग बहुत ही आसानी से प्रोटीन की पूर्ति मटन, मछली और अंडे से कर सकते हैं। लेकिन शाकाहारी लोगों के लिए भी इसके स्रोतों की कमी नहीं हैं। वह चना, मटर, मूंग, मसूर, उड़द, सोयाबीन, राजमा, लोभिया, गेहूं, मक्का आदि से प्रोटीन की पूर्ति कर सकते हैं। मांस, मछली, अंडा, दूध एवं यकृत प्रोटीन के अच्छे मांसाहारी स्रोत हैं।

कृत्रिम विकल्प

इसके अलावा, स्वस्थ बालों के विकास को प्रोत्साहित करने के लिए आप बाजार में उपलब्‍ध कई प्रकार के प्रोटीन समृद्ध बाल उत्पाद और प्रोटीन और अमीनो एसिड खुराक भी आप ले सकते हैं। बालों के विकास के लिए इस प्रोटीन युक्त भोजन से आप अपने समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं।

त्वचा विशेषज्ञ से सलाह

अपने आहार में बदलाव या अपनी दिनचर्या में आहार में प्रोटीन की खुराक शामिल करने से पहले त्वचा विशेषज्ञ या मेडिकल प्रोफेशनल से सलाह लेने बहुत जरूरी होता हैं।

ज्यादा प्रोटीन है हानिकारक

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के अनुसार, अधिक मात्रा में प्रोटीन का सेवन नुकसानदेह है। आपकी कुल कैलोरी का 30 प्रतिशत से अधिक प्रोटीन आपके शरीर को नुकसान पहुंचाता है। इससे शरीर में विषैला पदार्थ कीटोन की मात्रा बढ़ जाती है। इस कीटोन को शरीर से बाहर निकालने के लिए शरीर को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है।

प्रोटीन के अलावा वर्कआउट और भरपूर नींद

प्रोटीन की मात्रा बढ़ाने के अलावा, कम से कम 6-8 घंटे की नींद, नियमित वर्कआउट और शारीरिक और मानसिक तनाव में कटौती करना भी स्वस्थ बालों के विकास के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है।

source

इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleडार्क सर्कल, डेड स्किन और झाईयों से छुटकारा दिलाते हैं पुदीने के पत्ते, ऐसे करें प्रयोग
Next articleबबूल की फली के 14 फ़ायदे
Loading...

Leave a Reply