हाथ पैर में दर्द का इलाज कैसे करे: चाहे दर्द जोड़ों का हो या हाथ पैर दर्द हो रहे हो, आजकल हमारे घरों में थोड़ा सा दर्द होने पर इलाज के लिए अंग्रेजी दवाओं का प्रयोग करने की परम्परा सी हो गई है। एलोपैथी मेडिसिन लेने से एक बार तो आराम मिल जाता है, पर ये दवायें हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक साबित हो सकती हैl इन दवाओं के लगातार सेवन से हमारी किडनी पर इसका बुरा असर पड़ता हैl इसलिए जितना हो सके हमे अंग्रेजी दवाओं के प्रयोग से बचना चाहिए और बीमारियों के इलाज के लिए घरेलू और देसी तरीके अपनाने चाहिए। आइये अब जाने की कैसे घरेलू उपाय और आयुर्वेदिक नुस्खे से हम हाथों और पैरों में दर्द, सूजन और जलन से छुटकारा पा सकते है, natural home remedies tips for legs and hands pain relief in hindi.

■   भूलकर भी दही में न डाले नमक वरना ज़िंदगी हो जाएगी बर्बाद हो जाये सावधान | 

हाथ और पैर दर्द किन कारणों से होता है

हाथ और पैरों में दर्द उंगलियों, टखनों, पिंडियों और तलवों में कहीं भी हो सकता है। इस दर्द के कई कारण हो सकते है। सर्वाइकल की परेशानी के कारण कंधो, हाथों, गर्दन में दर्द और सुन्न होने की दिक्कत आती है। कमर, पैरों और कूल्हों में दर्द डिस्क की परेशानी के कारण भी हो सकता है। यदि आप सर्वाइकल या डिस्क की परेशांनी से जूझ रहे है तो आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिये। इसके बाद ही कोई अन्य उपाय करे।

  • शुगर के कारण
  • मोटापे के कारण
  • अधिक देर त्तक चलना
  • उम्र का अधिक होना
  • ज्यादा समय तक खड़े रहना
  • किसी विशेष बीमारी का होना
  • शरीर में न्यूट्रिशन की कमी होना
  • खिलाड़ियों और प्रतिदिन जिम करने वालो में भी ये समस्या पायी जाती है।
   नाभि में लगाए ये एक चीज, होगा ऐसा असर की जिंदगी भर दवाइयों की जरूरत नहीं होगी

हाथ पैर में दर्द का इलाज के घरेलू उपाय और नुस्खे

Hand and Leg Pain Treatment Tips in Hindi

1. वाटर थैरेपी (पानी से इलाज)

दो बर्तन ले। एक में गर्म और दूसरे में ठंडा पानी भरे। दो से तीन मिनट के लिए पैरों को गर्म पानी में रखे फिर इसके बाद पन्द्रह से बीस सेकंड के लिए ठंडे पानी में रखे इस प्रयोग को तीन से चार बार करे। इस उपाय को हॉट एंड कोल्ड वाटर थैरिपी के नाम से जाना जाता है। ये घरेलु उपाय हाथ और पैर दर्द का उपचार में कारगर है।

2. लौंग का तेल

लौंग के तेल का प्रयोग शरीर में जोड़ों के दर्द और दांतों में दर्द के लिए अचूक उपाय है, इस तेल की मालिश करने से मांसपेशियों को आराम मिलता है और दर्द की समस्या कम हो जाती है।

3. सेंधा नमक

सेंधा नमक के प्रयोग से भी हम हाथ पैर के दर्द से छुटकारा पा सकते है। गर्म पानी की एक बाल्टी लेकर इसमें दो से तीन चम्मच सेंधा नमक मिलाकर दस मिनट तक इसमें अपने पैर रखे। इससे दर्द में जल्द ही आराम मिलता है।

■   सफेद दाढ़ी और बालों को जड़ से खत्म कर देगा यह इलाज

4. बर्फ से दर्द का इलाज

इस उपाय को आइस थैरपी कहते है। एक प्लास्टिक के बैग में बर्फ डालकर दर्द या सुजन वाली जगह पर मसाज करे। आइस बैग का इस्तेमाल दस मिनट से अधिक न करे ।

5. सरसों के बीज से दर्द का उपाय

सरसों के बीज ले उन्हें पीसकर गर्म पानी में मिला ले। गर्म पानी को किसी बड़े बर्तन में डाले फिर अपने पैरों को इस पानी का सेंक दे। ऐसा करने से नसों में खून का बहाव ठीक हो जाता है और दर्द से आराम मिलता है। इस उपाय से सूजन (swelling) से भी राहत मिलती है ।

   पुराने से पुराने सफ़ेद बालों को हमेशा के लिए काले, लंबे और घने कर देगा ये 10 रूपये का नुस्खा

हाथ और पैर में जलन के घरेलू उपाय

पैरों में जलन होने के कई कारण हो सकते है जैसे कि शुगर, ब्लड प्रेशर की बीमारी, खून के प्रवाह (ब्लड सर्कुलेशन) के कारण, मांसपेशियो में कमजोरी का होना, बुढ़ापा या अधिक उम्र के कारण, किसी दवा के साइड इफ़ेक्ट के कारण, विटामिन की कमी होना।

■  पैरों में जलन से छुटकारा पाने के लिए अधिक से अधिक विटामिन से भरपूर भोजन करना चाहिये।

■  लोकी के टुकड़े को पैरों पर रगड़ने/मसलने से पैरों को ठंडक मिलती है और जलन में आराम मिलता है।

■  नारियल या जैतून के तेल में थोड़ा सा अदरक का रस मिलाये, फिर इसे थोड़ा गर्म कर ले। इसके बाद पैरों के तलवों और

■  एड़ियों पर इसकी दस से पन्द्रह मिनट तक मालिश करे। ऐसा करने से आपको जलन की समस्या से निजात मिलेगी।

■  शरीर में खून के प्रवाह को ठीक करने या बढ़ाने के लिए आप अदरक को चबा सकते है। अदरक को चबाने से legs pain से तो relief मिलता ही है इसके साथ पुरे शरीर को भी रिलैक्स मिलता है।

■  हाथ और पैरो में जलन की समस्या कभी भी हो सकती है किसी भी उम्र में हो सकती है पर अगर आप जलन की समस्या से लंबे समय से परेशान है तो आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

■   थायरॉइड का पक्का इलाज जिसे बताया है महर्षि चरक ने चरक संहिता में, एक बार जरूर पढ़ें

बाबा रामदेव के योगा से हाथ और पैरों के दर्द का उपचार

■  योगा करना hands और legs pain से छुटकारा पाने का बेहतरीन उपाय है। “कन्धरासन” योग करने से हाथ पैर के साथ साथ कंधे, घुटनों और कमर के दर्द में भी लाभ मिलता है।

■  कन्धरासन करने के लिए सबसे पहले शवासन की मुद्रा में जमीन पर लेटे, फिर अपने दोनों घुटने मोड़े, पर ध्यान रहे की  आपके पैर के पंजे जमीं पर ही रहे।

■  इसके बाद आपको ऊपर की और उठने की कोशिश करनी है वो भी बिना गर्दन और कमर हिलाये बिना ।
इसमें आपको अपने हाथों से पैर के टखनों को पकड़ना है ।

■  ये योग करने से पहले आप किसी योगाचार्य से सलाह ले या baba ramdev के इन्टरनेट पर विडियो देखकर सीखे, इसके बाद ही आप ये योग करे।

■   भूनी हुई गोंद 80 साल के बुढ़ापे में भी जवानी भर दे

हाथ और पैर के सुन्न हो जाने पर घरेलू टिप्स

■  हाथ और पैर का सुन्न (numbness) हो जाना बहुत आजकल आम सी बात है हर इंसान को कभी न कभी इसका सामना करना पड़ता है। गलत पोजीशन में बैठने या लेटने से यह समस्या हो सकती है। बहुत देर तक एक ही अवस्था में बैठे रहने से भी ये परेशानी हो सकती है। इससे हाथ और पैरों में कमजोरी सी लगने लगती है और झुनझुनाहट सी होने लगती है।

■  एक गिलास गर्म दूध में थोड़ा शहद और आधा चमच्च हल्दी मिलाकर सेवन करने से ब्लड सर्कुलेशन सही होता है।
जो हाथ या पैर सुन्न हो गया हो उसे थोड़ा हिलाये या थोड़ी एक्ससरसाइज करे। ऐसा करने से हाथ पैरों में झनझनाहट की समस्या से आराम मिलता है।

■  मसाज करना हाथ और पैरों के सुन्न के ट्रीटमेंट के लिए सबसे बढ़िया उपाय है। इससे ब्लड सर्कुलेशन सही होता है और सुन्न होने की परेशानी से छुटकारा मिलता है।

नस पर नस चढ़ जाये तो क्या करे

  • ऐसा होने पर जिस पैर में ये नस पर नस चढ़ने की परेशानी हुई है उसी तरफ के हाथ के बीच की ऊँगली के नाख़ून के निचे वाले हिस्से को दबाये और छोड़े।
  • नस चढ़ने वाली जगह हाथ या पैर की ठंडे पानी से सिकाई करने से भी राहत मिलती है।

दोस्तों हाथ पैर में दर्द का इलाज के उपाय, Hands and legs pain relief tips in hindi का ये लेख आपको कैसा लगा हमें कमेंट कर के बताये और अगर आप के पास हाथों और पैरों के दर्द जलन सूजन और सुन्नपन से छुटकारा पाने के देसी और घरेलू नुस्खे है तो हमारे साथ शेयर करे।

■   जल्दी पतला होने और पेट अन्दर करने की आयुर्वेदिक दवा
इस वेबसाइट में जो भी जानकारिया दी जा रही हैं, वो हमारे घरों में सदियों से अपनाये जाने वाले घरेलू नुस्खे हैं जो हमारी दादी नानी या बड़े बुज़ुर्ग अक्सर ही इस्तेमाल किया करते थे, आज कल हम भाग दौड़ भरी ज़िंदगी में इन सब को भूल गए हैं और छोटी मोटी बीमारी के लिए बिना डॉक्टर की सलाह से तुरंत गोली खा कर अपने शरीर को खराब कर देते हैं। तो ये वेबसाइट बस उसी भूले बिसरे ज्ञान को आगे बढ़ाने के लक्षय से बनाई गयी है। आप कोई भी उपचार करने से पहले अपने डॉक्टर से या वैद से परामर्श ज़रूर कर ले। यहाँ पर हम दवाएं नहीं बता रहे, हम सिर्फ घरेलु नुस्खे बता रहे हैं। कई बार एक ही घरेलु नुस्खा दो व्यक्तियों के लिए अलग अलग परिणाम देता हैं। इसलिए अपनी प्रकृति को जानते हुए उसके बाद ही कोई प्रयोग करे। इसके लिए आप अपने वैद से या डॉक्टर से संपर्क ज़रूर करे।
Previous articleभूख बढ़ाने के 5 रामबाण घरेलू नुस्खे और आयुर्वेदिक दवा
Next articleनाक में देशी घी डालने के फायदे
Loading...

Leave a Reply