जवान रहने और दिखने के लिए लोग तरह-तरह की कोशिशें करते हैं। घंटों जिम में पसीना बहाते है। तरह-तरह के योग का सहारा लिया जाता है, लेकिन फिर भी बुढ़ापे पर लगाम नहीं लग पाती। अगर आप अपनी खूबसूरती और शरीर को लेकर चिंतित हैं और बुढ़ापे पर लगाम लगाना चाहते हैं तो ये खबर आपके लिए एकदम फिट है।

रिसर्च में पता चला है कि गूलर एक ऐसा फल है जिसका सेवन बुढ़ापे पर ब्रेक लगाता है। गूलर में वो तत्व मौजूद हैं जो इंसान को लम्बे वक्त तक जवान रखने में मददगार साबित होते हैं। गूलर में इस तत्व को सबसे पहले 2010 में लखनऊ स्थित एनबीआरआई के वैज्ञानिकों ने एक शोध के ज़रिए खोज निकाला था।

gooler

फ्री रेटिकल जेनरेट

मेडिकल साइंस के अनुसार बढ़ती उम्र के साथ-साथ शरीर में फ्री रेटिकल जेनरेट होता है, और यही फ्री रेटिकल इंसान को बूढ़ा बनाता है। एनबीआरआई के साइंटिस्टों ने गूलर पर शोध के बाद इसकी काट ढूंढी। इस पर शोध करने वाले डॉक्टर एम विजयकुमार ने पाया कि गूलर में एंटीऑक्सन कॉम्पोनेन्ट  ज्यादा पाया जाता है। जो ऐजिंग डिसऑर्डर को रोकने का काम करता है, यानि उम्र से पहले बूढ़ा होने को रोक सकता है।

इसे फारसी में अंजीरे आदम, अरबी में जमीझ और संस्कृत में उदुम्बर कहा जाता है। वैसे तो जानकार पहले से ही गूलर की खासियतों से परिचित हैं। उनका कहना है कि शास्त्रों के साथ-साथ आयुर्वेद में इसके असीमित औषधीय गुणों का जिक्र है। इस शोध ने जानकारों को खासा उत्साहित किया। हकीमों का मानना है कि गूलर का ज्यादा से ज्यादा उपयोग कर बुढ़ापे को दूर रखा जा सकता है।

 
Loading...

NO COMMENTS

Leave a Reply